मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

अंततः विश्वसनीयताएं मीडिया का मूल्य है: पी एम

August 24, 2013

प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया राष्ट्रीय मीडिया केंद्र का उद्घाटन

नई दिल्ली। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस मीडिया केंद्र का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने उम्मीद जताई कि एक ‘संचार केंद्र’ और ‘एकल खिड़की’ सुविधा के रूप में यह केंद्र मीडियाकर्मियों की जरूरतों को भलीभांति पूरा करेगा।

प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 7-ई, रायसीना रोड, नई दिल्ली पर स्थित, अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस मीडिया केंद्र का आज उद्घाटन किया। इस केंद्र में पीआईबी के कार्यालय होंगे और मीडिया के लिए विशेष सुविधाएं प्रदान की जाएंगी ताकि मीडिया और सरकार के बीच घनिष्ठ संबंध कायम किया जा सके।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि मीडिया क्षेत्र में सुधार और उदारीकरण स्वाभाविक रूप से सफल रहे हैं। लेकिन मीडिया सिर्फ व्यापारिक गतिविधियों का दर्पण नहीं है; वह समूचे बृह्त्त समाज को व्यक्त करता है। पिछले दो दशकों और उससे भी अधिक समय से आर्थिक सुधार और उदारीकरण हमारे देश में व्यापक सामाजिक परिवर्तन लाने में सफल रहे हैं। हमारे मीडिया ने इस प्रक्रिया को व्यक्त किया है और सम्बद्ध परिवर्तनों का उस पर भी असर पड़ा है।

उन्होने कहा कि अंततः विश्वसनीयताएं मीडिया का मूल्य है जो उसके पाठकों या दर्शकों के साथ अभिन्न रूप से जुड़ा हुआ है। सामाजिक सद्भाव और सार्वजनिक व्यवस्था के दायित्व का सवाल इससे जुड़ा हुआ है। मैं सोशल मीडिया क्रांति के संदर्भ में इस बात पर विशेष रूप से बल देना चाहता हूं क्योंकि इस मीडिया ने सम्बद्ध नागरिक और व्यावसायिक पत्रकार के बीच अंतर समाप्त कर दिया है। यदि हम पिछले वर्ष हुई उस त्रासदी से बचना चाहते हैं, जिसमें ऑनलाइन दुष्प्रचार के चलते अनेक निर्दोष लोगों को अपने जीवन के प्रति आशंकित होकर गृह प्रांतों में लौटना पड़ा था, तो यह जरूरी है कि हम इस धारणा से परिपक्वता और बुद्धिमतापूर्वक ढंग से निपटें।

यह वास्तविकता है कि पत्रकारिता को उसके काम से अलग नहीं किया जा सकता। किसी भी मीडिया संगठन का दायित्व सिर्फ उसके पाठकों और दर्शकों तक सीमित नहीं है। कंपनियों का दायित्व अपने निवेशकों और शेयरधारकों के प्रति भी होता है। बॉटम लाइन और हेड लाइन के बीच खींचतान उनके लिए जीवन की सच्चाई है। किंतु, इसकी परिणति ऐसी स्थिति में नहीं होनी चाहिए कि मीडिया संगठन अपने प्राथमिक लक्ष्य को भूल जाएं, जो समाज को दर्पण दिखाने का है तथा सुधार लाने में मदद करने का है।

मीडिया और सिविल सोसायटी लोकतंत्र और राष्ट्र निर्माण का अनिवार्य हिस्सा हैं। आज जब हम राष्ट्रों के समुदाय में अपना न्यायोचित स्थान हासिल करने के निर्णायक स्तर पर हैं, तो मुझे विश्वास है कि मीडिया एक बहु-समुदायवादी, समावेशी और प्रगतिशील समाज के रूप में भारत को एकजुट करने के संयुक्त प्रयासों में कोई कमी नहीं आने देगा।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कहा है कि सूचना के प्रसार की नवीनतम प्रौद्योगिकी से संपन्न इस मीडिया केंद्र की योजना वाशिंगटन और तोक्यो जैसी प्रमुख राजधानियों के मीडिया केंद्रों की तर्ज पर बनाई गई है। ७-ई, रायसीना रोड पर स्थित यह राष्ट्रीय मीडिया केंद्र राष्ट्रपति भवन, सरकारी कार्यालयों, विज्ञान भवन और संसद भवन के करीब है। इस मीडिया केंद्र में पत्र सूचना कार्यालय का दफ्तर तथा मीडिया के लिए विशेष आधुनिक सुविधाएं होंगी। मीडिया केंद्र में ऑप्टिक फाइबर इंटरनेट बैकबोन, एप्लिकेशन विकसित करने और वैबकास्टिंग के लिए मिनी डाटा सेंटर, लाइव वैबकास्ट, टीवी चैनलों के लिए वीडियो फीड, मीडियाकर्मियों के लिए आईटी सुविधाएं, इंटरनेट टेलीफोन और ए वी वीडियो वॉल जैसी सुविधाएं शामिल है।

राष्ट्रीय मीडिया केंद्र में 283 मीडियाकर्मियों के लिए एक प्रेस सम्मेलन कक्ष है, करीब 60 व्यक्तियों को जानकारी देने के लिए एक कक्ष, मीडिया के लिए 24 वर्क स्टेशन, एक पुस्तकालय, मीडिया लॉंन्ज और एक कैफे हैं। प्रेस सम्मेलन कक्ष और मीडिया लॉन्ज में वाई-फाई की सुविधा है।

इस परियोजना का उद्देश्य सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों के बारे में जानकारी के सम्प्रेषण में और सुधार लाना है। इससे अंतर्राष्ट्रीय और भारतीय मीडिया की व्यावसायिक और संचार संबंधी जरूरतें भारत सरकार के सूचना सम्प्रेषण फ्रेमवर्क के भीतर पूरी की जा सकेंगी। इसमें उपलब्ध सुविधाओं में दृश्य एवं प्रिंट मीडिया संबंधी परंपरागत और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी शामिल है।

 प्रमुख विशेषताएं

 विश्वस्तरीय मीडिया सेंटर

भूतल के अलावा 4 तल और 2 बेसमेंट     283 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता वाला प्रेस कांफ्रेंस हाल

मीडिया लॉंन्ज - मीडिया कार्मिकों के लिए कार्य क्षेत्र सुविधाएं

वीडियो कांफ्रेंसिंग सुविधाओं के साथ मीडिया लॉंन्च

 पुस्तकालय

कैफेटेरिया

नए मीडिया केंद्र में आईटी और एवी ढांचा

उपलब्ध सुविधाएं

बहुतायत में ऑप्टिक फाइबर इंटरनेट सुविधाएं

अनुप्रयोग विकास और होस्टिंग के लिए मिनी डाटा सेंटर

लाइव वेबकास्ट सहित वेबकास्ट

भवन के बाहर टीवी चैनलों को वीडियो फीड

बहुतायत में और 500 नोड्स तक विस्तार क्षमता वाला नेटवर्क

वर्क एरिया/लॉन्ज में मीडियाकर्मियों के लिए आईटी सुविधाएं

इंटरनेट टेलीफोनी

एवी वीडियो वॉल

नए मीडिया केंद्र का निर्माण करने में नेशनल बिल्डिंग कन्स्ट्रक्शन कार्पोरेशन (एनबीसीसी) को तीन वर्ष लगे हैं। इसका आच्छादित क्षेत्रफल 13867 वर्ग मीटर है। प्लॉट का आकार 7787.46 वर्गमीटर (1.95 एकड़) है।

 

 

Go Back

Comment