मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

एक और पत्रकार को जिंदा जलाया

मध्यप्रदेश में पत्रकार का अपहरण कर  जिंदा जला कर नागपुर में फेंकी लाश

बालाघाट। जिले की कटंगी तहसील मुख्यालय से दो दिन पहले अपहृत चालीस वर्षीय पत्रकार संदीप का जला हुआ शव शनिवार की रात महाराष्ट्र में नागपुर के निकट बूटीबोरी स्थित एक खेत से मिला है। कटंगी के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) जे एस मरकाम ने बताया कि इस सिलसिले में पुलिस ने कटंगी निवासी तीन लोगों राकेश नसवानी, विशाल दांडी एवं बृजेश डहरवाल को गिरफ्तार किया है, जिन पर आरोप है कि उन्होने पत्रकार संदीप कोठारी का अपहरण कर उसे जिंदा जला दिया था। उन्होंने कहा कि पुलिस को पता चला है कि तीनों गिरफ्तार आरोपी अवैध खनन और चिटफंड के कारोबार से जुड़े हुए हैं और पत्रकार पर उनके खिलाफ अवैध खनन का एक स्थानीय अदालत में दर्ज प्रकरण वापस लेने का दबाव बना रहे थे। पुलिस को आशंका है कि संदीप इसके लिए राजी नहीं था और संभवत: उसे इसकी ही कीमत चुकानी पड़ी है। मकराम ने कहा, हम सभी दृष्टिकोणों को ध्यान में रखकर प्रकरण की विवेचना कर रहे हैं और कटंगी पुलिस की एक टीम इस समय नागपुर में है।

हालाकि पत्रकार संदीप के अपहरण और हत्या पर किसी निर्णय पर अभी पहुंचना जल्दबाजी होगी। उन्होंने बताया कि संदीप कोठारी 19 जून की रात 9 बजे अपनी मोटरसाइकिल से मित्र ललित राहंगडाले के साथ उमरी गांव की ओर जा रहा था, तभी किसी चार पहिया वाहन ने मोटरसाइकिल को टक्कर मारी तथा उसमें सवार लोगों ने ललित को मारपीट कर भगा दिया और संदीप को अपहरण कर ले गए। एसडीओपी ने कहा कि पुलिस ने उस कार को बरामद कर लिया है, जिससे संदीप का अपहरण किया गया था।

गौरतलब है कि संदीप, जबलपुर स्थित कुछ अखबारों के लिए कटंगी तहसील में संवाददाता का काम कर चुका है और पिछले कुछ समय से स्वतंत्र पत्रकारिता कर रहा था।

Go Back

Comment