मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

काॅलेज आॅफ काॅमर्स आर्टस एंड साइंस में शुरू होगा कैम्पस रेडियो

मीडिया के विद्यार्थियों के लिए आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला संपन्न

पटना/ पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग काॅलेज आॅफ काॅमर्स आर्टस एंड साइंस और कम्युनिटी राइट्स एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में मीडिया के विद्यार्थियों के लिए तीन दिवसीय कार्यशाला के समापन समारोह को संबोधित करते हुए काॅलेज के प्राचार्य प्रो डाॅ बबन सिंह ने कहा कि महाविद्यलय में जल्द ही कैम्पस रेडियो की शुरूआत की जाएगी। उन्होंने कहा कि यहां मीडिया रिसर्च सेंटर स्थापित करने के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके लिए विश्व विद्यालय अनुदान आयोग को प्रस्ताव भेजा जा चुका है।

समापन समारोह में वरिष्ठ पत्रकार डाॅ ध्रुव कुमार ने कहा कि इस प्रकार के वर्कशाॅप का आयोजन मीडिया के छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है। इससे प्रतिभागियों को न केवल व्यवहारिक ज्ञान हासिल हुआ है, बल्कि उन्हें अपने भविष्य को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने महाविद्यालय के पत्रकारिता एंव जनसंचार विभाग में सभी प्रकार की आधुनिक संसाधन की उपलब्धता पर हर्ष व्यक्त किया और कहा कि मीडिया के छात्रों के लिए यह एक अच्छा अवसर है। पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के समनवयक डाॅ तारिक फातमी ने कार्यशाला के आयोजन में पूर्ण सहयोग के लिए प्राधानाचार्य डाॅ बबन सिंह का आभार व्यक्त किया और प्रतिभागियों को शुुभकामनाएं दी। कम्युनिटी राइट्स एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन के सदस्य सचिव सैयद जावेद हसन ने कहा कि छा़त्रहित में फाउंडेशन की ओर से समय समय पर इस तरह का आयोजन किया जाता रहेगा। इस अवसर पर सभी छात्रों को प्रमाण पत्र दिया गया। साथ ही तीन दिवसीय कार्यशाला के दौरान बेहतर प्रतिभा दिखाने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। समारोह में महाविद्यालय के शिक्षक प्रो रामायण प्रसाद, डाॅ उमेश प्रसाद, प्रवीण कुमार, फाउंडेशन के अध्यक्ष नवाज शरीफ, उपाध्यक्ष डाॅ लीना, सदस्य इमरान सगीर, साकिब जिया, सानिया वसी शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन डाॅ अफरोज अशरफी ने किया। इससे पूर्व कार्यशाला में बुधवार को तीसरे व अंतिम दिन ग्राफिक डिजाइनिंग, वेब जर्नलिज्म, रेडियो समाचार लेखन व वाचन, पेज मेकिंग, 360 न्यूज, थीम फोटोग्राफी और माॅडलिंग के व्यावहारिक पक्ष के बारे में सिखाया गया। तीन दिवसीय कार्यशाल में विभिन्न विश्वविद्यालयों के सौ से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया।

Go Back

Comment