मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

तरुण तेजपाल के खिलाफ पटना में विरोध मार्च

November 26, 2013

पटना । महिला पत्रकार के साथ तहलका के चीफ एडिटर तरुण तेजपाल द्वारा किए गए यौन शोषण ने पूरे पत्रकारिता जगत को शर्मशार किया है। इस घटना के खिलाफ, साउथ एशिया वीमेन इन मीडिया, श्रमजीवी प्रत्रकार यूनियन, महिला संगठनों व नागरिकों की ओर से आज पटना के रेडियो स्टेशन के पास से विरोध मार्च का आयोजन किया गया।

साउथ एशियन वीमेन इन मीडिया बिहार चैप्टर की अध्यक्ष निवेदिता ने बताया कि ऐसी घटनाएं साबित करती हैं कि मीडिया में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। हम यह मांग करते हैं कि तरुण तेजपाल की गिरफ्तारी जल्द से जल्द हो और धारा 376 के तहत उनपर कानूनी कार्रवायी की जाय।

हम मांग करते हैं कि सभी मीडिया संस्थानों, सरकारी संस्थानों व गैर सरकारी संस्थानों में विशाखा गाइड लाइन के अनुरुप वीमेन सेल का गठन हो। महिला पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में संस्थान पहल करें। विरोध मार्च में  यूएनआई पटना की प्रभारी रजनी, श्रमजीवी प्रत्रकार यूनियन के अरुण कुमार, लेखक-पत्रकार पुष्पराज सहित पत्रकारों, नागरिकों, कलाकारों और महिला संगठनों की भागीदारी रही ।

 

 

Go Back

I will like to express my thanks and gratitude to Indian Journalists Union National Secretary, Amarmohan Prasad, IJU National Executive Committee member, Shivendra Narayan Singh (Editor, Bihari Khabar), SUCI (COMMUNIST) party Staff Member, Suryakar Jitendra (AIDSO), SADHNA (AIMS) for their special contribution as majority of the protestors were from these organisations and whose names I didnt find mention in the press release issued on behalf of the organisers. I TOO APOLOGISE FOR IT AS I SHOULD HAVE ACTED BEFORE AT THE STAGE WHEN THE PRESS RELEASE WAS BEING PREPARED. I AM EXTREMELY SORRY FOR THIS MISTAKE ON MY PART.



Comment