मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

देश भर में मना राष्ट्रीय प्रेस दिवस

पटना में ‘जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका’ विषय पर संगोष्ठी को बिहार के सचूना मंत्री श्री वृशिण पटेल ने संबोधित किया 

आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस मनाया जा रहा है। यह दिन भारत में एक स्वतंत्र और जिम्मेदार प्रेस की मौजूदगी का प्रतीक है। इस अवसर पर सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने कहा कि यह दिन पत्रकारों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से स्वयं को फिर से समर्पित करने का अवसर प्रदान करता है। उपराष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी ने कहा कि मीडिया देश के लोकतंत्र में प्रमुख और महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है। 

पटना में ‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’ के अवसर पर स्थानीय मौर्या होटल के सभागार में ‘जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका’ विषय पर संगोष्ठी व की गई। कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन  में सचूना मंत्री श्री वृशिण पटेल ने कहा कि राष्ट्रहित सर्वोपरि है, इसके लिए सबको मिलजुल कर समेकित पयास करना होगा। इस निमित्त स्वार्थ का परित्याग कर प्रतिबद्धता दिखानी होगी तभी जनहित का मसला सुलझेगा। श्री पटेल ने वर्तमान हालात में प्रत्येक व्यक्ति को रेगिस्तान में अपने बच्चे को गोद उठाए चल रहे बंदर की तरह बताया जहाँ तपती धरती के ताप से कुछ क्षण निजात पाने के लिए बंदर अपने बच्चे को जमीन पर रखकर उसकी पीठ पर खड़े होकर अपने पाँवों को शीतलता प्रदान करने से भी गुरजे नहीं करता। उन्हानें स्वार्थ की इस क्रूरतम अभिव्यक्ति के उदाहरण से सभा की संवेदना को झकझोरते हुए जीवन को कुछ अलग आयाम तथा ऊँचाई देने हेतु उत्पे्ररित किया। श्री पटेल ने कार्यक्रम के विषय ‘जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका’ के तहत मीडिया की व्यापक भूमिका की चर्चा करते हुए मीडिया को हरसंभव सहूलियतें सरकार द्वारा दिए जाने हेतु अपने मातहतों को निदेशित किए जाने की भी जानकारी दी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए सूचना सचिव श्री ब्रजेश मेहरोत्रा ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में मीडिया रूपी चौथी खंभों की बदौलत लोकतंत्र की गरिमामय व्यवस्था में संतुलन की बात कही।

इस मौके पर राष्ट्रीय सहारा के स्थानीय संपादक श्री दयाशकंर राय ने लोकतंत्र के बदलते स्वरूप के परिपेक्ष्य में मीडिया की नई परिभाषा गढ़ने का आह्वान किया, यूएनआई की ब्यूरो चीफ रजनी शकंर ने मीडिया द्वारा जनहित की अपेक्षा राज्यहित तथा व्यक्ति हित को तरजीह दिए जाने की प्रवृत्ति को सोदाहरण पेश करते हुए इस पर अंकुश लगाने की बात कही, कौमी तंजीम के संपादक श्री एसएम अजमल फरीद ने इंसानियत को व्यक्ति तथा जाति से ऊपर रखने हेतु आवाज बुलदं की, ‘आज’ के वरीय पत्रकार श्री ब्रजनंदन ने मीडिया की कठिनाइयों से रू-ब-रू कराया। वरिष्ठ पत्रकार श्री मणिकातं ठाकुर ने कहा कि मीडिया द्वारा व्यावसायिक पहलू पर अधिक केन्द्रित होने की वजह से जनहित की उपेक्षा के द्रष्टान्त मिलते हैं। ‘प्यारी उर्दू’ के संपादक तथा विधायक डा इजहार अहमद ने छोटी -छोटी बातों से परिष्करण की विधा तथा अनुशासन के महत्त्व को बताया तथा श्री एसएन श्याम ने मीडिया से लोगों की एवं सरकार से मीडिया की अपेक्षाओं पर फोकस किया।

समारोह के आरंभ में सभी मंचासीन अतिथियों का शाल एवं बुके से स्वागत किया गया, फिर दीप प्रज्ज्वलन कर समाराहे का विधिवत् उद्घाटन किया गया। समारोह की औपचारिक शुरूआत करते हुए उप निदेशक श्री कमला कान्त उपाध्याय ने स्वागत भाषण किया तथा समारोह के अंत में उप निदेशक श्रीमती नीलम पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापन किया। समारोह में सभा संचालन का कार्य सहायक निदेशक डा नीना झा ने किया। समारोह के दौरान विभाग के अन्य पदाधिकारी/कर्मचारी सहित तमाम मीडिया कर्मी भी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर सूचना और जनसंपर्क विभाग की ओर से राजधानी पटना सहित जिला मुख्यालयों से जनहित सेवा में मीडिया की भूमिका पर संगोष्ठि और विशेष चर्चा का आयोजन किया गया।

Go Back

Comment