मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

फोटो जर्नलिस्टों पर बरसा पुलिसया कहर

उन्होंने थप्पड़ मारते पुलिस वालों की खीची थी तस्वीर

नई दिल्ली/कुमोद कुमार/ दिल्ली के लाजपत-नगर में पुलिस द्वारा दो फोटो जर्नलिस्ट के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। ये फोटो जर्नलिस्ट दिल्ली ‘दैनिक जागरण’ के विपिन शर्मा और ‘नवभारत टाइम्स’ के सुनील कटारिया हैं।

बताया जा रहा है कि इन फोटो जर्नलिस्ट्स ने लाजपत नगर-4 में सीलिंग के दौरान एडिशनल डीसीपी (साउथ ईस्ट) अमित शर्मा द्वारा एक दुकानदार को थप्पड़ मारने की घटना को अपने कैमरे में कैद कर लिया था, जिसके बाद पुलिस ने न केवल उनका कैमरा छीनकर सारी तस्वीरें डिलीट कर दीं, बल्कि दोनों के साथ आरोपी की तरह व्यवहार किया और फोटोग्राफर विपिन शर्मा की शर्ट फाड़ दी। इसके बाद वे उन्हें पकड़कर अमर कॉलोनी थाने ले गए और करीब एक घंटे तक थाने में बैठाए रखा। आरोप है कि इस दौरान मौके पर मौजूद एडिशनल डीसीपी एचवी स्वामी भी मूकदर्शक बने रहे।  

दुकानदारों का कहना है कि पुलिस की पिटाई में कई दुकानदारों के सिर फूटे, कई घायल हुए। यहाँ तक कि पुलिस ने दुकानों के महिला स्टाफ तक को भी नहीं बख्शा।

जनता तक सही खबर पहुंचाने के लिए पत्रकारों को विभिन्न तरह की मुसीबतों से गुजरना पड़ता है। कभी वह जनता के गुस्से का शिकार होता है, तो कभी उसे नेताओं का प्रकोप झेलना पड़ता है और कई बार तो पुलिस की प्रताड़नाओं का गवाह बनता है। ऐसा ही कुछ हुआ दिल्ली के ‘दैनिक जागरण’ के फोटो जर्नलिस्ट विपिन शर्मा और ‘नवभारत टाइम्स’के फोटो जर्नलिस्ट सुनील कटारिया के साथ हुआ।

Go Back

Comment