मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मुद्रण की नई तकनीक से तैयार होंगे कुशल प्रोफेशनल: प्रो. कुठियाला

August 13, 2014

प्रिन्टिंग एवं पैकेजिंग क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं : चंद्रशेखर मिश्र

भोपाल/ आधुनिक संचार क्रान्ति के युग में मुद्रण की नई तकनीक एवं विधाओं को विकसित करने में दक्ष प्रोफेशनल की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस क्षेत्र में तेजी से हो रहे तकनीकी विस्तार तथा उसमें विशिष्टिकरण की बढ़ती मांग को देखते हुए स्तरीय कुशल (प्रोफेशनल) वृत्तिज्ञ तैयार करने के उद्देश्य से ही विश्वविद्यालय में बी.टेक. जैसे पाठ्क्रम प्रारंभ किये गये हैं।

उक्त उद्गार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.बी.के. कुठियाला ने न्यू मीडिया विभाग में बी.टेक. पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को विभागीय सत्रारंभ के दौरान सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। प्रो. कुठियाला ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में वृत्तिज्ञ को अपने सामाजिक दायित्वों के निर्वहन की प्रतिबद्धता को भी नहीं भूलना चाहिए एवं उसके लिए अपेक्षित गुणों के बारे में भी उन्होंने विद्यार्थियों को विस्तार से समझाया। कुलपति जी ने कहा कि मुद्रण उद्योग अपनी संस्कृति व सभ्यता को प्रसारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है एवं दूसरे माध्यम भले ही कितनी ऊॅंचाई हासिल कर रहे हों, लेकिन प्रिन्टिग के बिना उन सबकी कल्पना नहीं की जा सकती।

इस अवसर पर प्रिन्टिग टेक्नालॉजी के जाने-माने विशेषज्ञ श्री चन्द्रशेखर मिश्र ने विद्यार्थियों को प्रिन्टिंग क्षेत्र के बारे में बताते हुए कहा कि वर्तमान युग में डिजीटल मीडिया का व्यापक विस्तार हो रहा है और प्रिन्टिंग एवं पैकेजिंग का कार्य भी इससे ही जुड़ा हुआ है। पैकेजिंग की डिजीटलकृत प्रक्रिया पर विशेष जोर होने की वजह से इस क्षेत्र में रोजगार के अवसरों की व्यापक संभावनाओं के नए क्षितिज खुल रहे हैं। श्री मिश्र ने कहा प्रिन्टिग उद्योग एक सर्विस इंडस्ट्री है जिसमें रोजगार के नित नए अवसर पैदा होते रहे हैं। परन्तु प्रतियोगिता के इस दौर में अपने कार्य में दक्षता हासिल कर ही हम बाजार में आ रही चुनौतियों का सफलता से सामना कर सकते हैं।     

मिश्र ने प्रिन्टिग और पैकेजिंग प्रक्रिया के व्यावहारिक एव सैद्धान्तिक आयामों की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि मौजूदा एवं नई तकनीक दोनों का ध्यान रखकर प्रोडक्शन की सम्पूर्ण प्रक्रिया के ज्ञान एवं कौशल का उपयोग विद्यार्थियों को बहुआयामी और उन्नत प्रोफेशनल बनने में मदद करेगा। अपने ज्ञान को अद्यतन करने के लिए इस विधा में लगातार सीखते रहने की आवश्यकता है। विश्वविद्यालय के अन्तर्गत संचालित बी.टेक. प्रिन्टिंग एण्ड पैकेजिंग को सराहनीय पहल बताते हुए उन्होंने इसे अनूठा कदम बताया। अन्त में विद्यार्थियों के प्रश्नों के उत्तर देते हुए उन्होंने प्रिन्टिग इंडस्ट्री से सम्बन्धित विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया।

इस अवसर पर न्यू मीडिया टेक्नालॉजी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. पी. शशिकला ने विषय का प्रतिपादन करते हुए बताया कि बी.टेक. प्रिन्टिग एवं पैकेजिंग पाठ्यक्रम में रिक्त स्थानों के लिए विश्वविद्यालय द्वारा प्रवेश दिए जा रहे हैं जिसकी अंतिम तिथि 25 अगस्त, निर्धारित की गई है। जो विद्यार्थी इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं वे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के न्यू मीडिया विभाग में सम्पर्क कर सकते हैं।

 

 

Go Back

Comment