मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मीडिया सरकारी योजनाओं को निष्पक्षता से जनता तक पहुँचाने की करे पहल

पत्र सूचना कार्यालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार, पटना द्वारा बेगूसराय में क्षेत्रीय मीडियाकर्मियों हेतु एकदिवसीय कार्यशाला  “वार्तालाप” आयोजित

बेगूसराय/ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार की प्रमुख मीडिया इकाई, पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), पटना द्वारा बेगूसराय में 24 जनवरी, 2020 को क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला –“वार्तालाप”का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन जिलाधिकारी, अरविंद कुमार वर्मा, पीआईबी, पटना के निदेशक दिनेश कुमार, सहायक निदेशक संजय कुमार और जिले के वरिष्ठ पत्रकार अग्नि शेखर  द्वारा संयुक्त रूप से दीप-प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस कार्यशाला में बेगूसराय जिला मुख्यालय के वरिष्ठ पत्रकारों के साथ-साथ प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व अन्य मीडिया से जुड़े मीडियाकर्मियों ने भाग लिया।

उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि बेगूसराय के जिलाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम तो है ही साथ ही मीडिया को पारदर्शी और निष्पक्ष होकर जनता तक इसे पहुंचाने की पहल करनी चाहिए।  उन्होंने कहा कि सरकार और जनता की उम्मीद है कि मीडिया जो लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है वह निष्पक्ष काम करे। देश के स्वरुप और मजबूत बने इसके लिए जरुरी है जनहित और जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता को मिले।

जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्र के निर्माण में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। सरकार चाहती है कि योजनाओं की जानकारी और लाभ लोगों तक पहुँचे लेकिन पूरी और सही जानकारी नहीं पहुँच पाती, इसके लिए मीडिया के साथ साथ प्रसाशन को भी मिल कर आगे आना होगा।

पीआईबी, पटना के निदेशक  दिनेश कुमार ने कार्यशाला के उदेश्यों की चर्चा करते हुए कहा कि सूचना को समाचार में तब्दील करने की कला ही सच्ची पत्रकारिता है। उन्होंने कार्यशाला में मौजूद पत्रकारों से कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन एवं उसकी सफलता में पत्रकारों की अहम भूमिका होती है।  उन्होंने यह भी कहा कि मानसिक पर्यावरण बनाने में मीडिया की भूमिका है।

पीआईबी पटना के सहायक निदेशक संजय कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है जो न्यायपालिका, विधायिका और कार्यपालिका की गतिविधियों पर नजर रखती है और उनकी बातों को खबर बनाकर जनता तक पहुंचाती है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की नीव जनता है, ऐसे में जनता की उम्मीद मीडिय से बढ़ जाता है। मीडिया को जनता से जुड़ी योजनाओं को उन तक पहुंचाने के लिए हर संभव कोशिश करनी चाहिए।

अतिथि वक्ता के तौर पर वरिष्ठ पत्रकार अग्नि शेखर ने कहा कि बदलते परिस्थिति में यह और भी महत्वपूर्ण हो गया है कि जो योजनाएं चल रही हैं, उसे ज्यादा से ज्यादा आम लोगों को रु-ब-रु कराया जाए। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना ने संरक्षण का काम किया है। गैस चूल्हा आने से महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार हुआ है। श्री शेखर ने कहा कि केंद्र की यह योजना विदेशों में भी लागू हो रही है और यह सफलता की कहानी है। उन्होंने कई केंद्रीय योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि जनता तक योजना की जानकारी पहुंचा कर पत्रकार करोड़ों लोगों के जीवन को संवारता है।

वार्तालाप में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की विस्तार से चर्चा करते हुए जिला कृषि पदाधिकारी शैलेंद्र कुमार ने कहा कि यह योजना किसानों के लिए काफी महत्वपूर्ण है। लाखों किसान इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। वहीं आयुष्मान भारत योजना की चर्चा करते हुए डीपीएम, रेड क्रॉश, बेगूसराय ने कहा कि बेगूसराय जिले में यह योजना गरीबों के लिए रामबाण साबित हो रहा है। उन्होंने बताया कि सरकारी और निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत कार्डधारक लाभार्थियों को इलाज कराना सहज हो गया है। इस योजना से स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव हुआ है।

जिला जनसपंर्क अधिकारी (प्रभारी) भुवन कुमार ने वार्तालाप को संबोधित करते हुए कहा कि मीडिया की कोशिश होनी चाहिए कि वह अपनी जिम्मेदारी के तहत योजनाओं को सामने लाए। उन्होंने कहा कि मीडिया का फीडबैक केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण होता है। योजनाएं जमीनी हकीकत साकार लेती है या नहीं इसकी जानकारी मीडिया से ही मिलती है।

कार्यशाला को वरिष्ठ पत्रकार विनोद कर्ण राजीव कुमार, प्रवीण कुमार, जीवेश तरूण, पंकज, विनय कुमार सहित कई पत्रकारों ने वार्तालाप को संबोधित किया। पत्रकारों ने पीआईबी द्वारा चलाए जा रहे पत्रकार कल्याणकारी योजना को सकारात्मक पहल बताते हुए कहा कि राज्य स्तर पर भी इस तरह की पहल होने चाहिए। उन्होंने अपनी सुरक्षा और संरक्षा के सवाल भी उठाए।

उद्घाटन सत्र के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधिकारी पवन कुमार द्वारा पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया गया, जिसके माध्यम से प्रतिभागी मीडियाकर्मियों को पीआईबी के मुख्य कार्यों, प्रणालियों, संगठनात्मक संचरना, विशेष सेवाओं, पीआईबी की वेबसाईट इत्यादि के बारे में जानकारी दी गई।

समापन सत्र के दौरान उपस्थित प्रतिभागियों ने कार्यशाला के आयोजन, महत्व एवं उपयोगिता के संबंध में अपने विचार लिखित फीडबैक के रूप में पीआईबी, पटना को सौंपे। कार्यशाला का संचालन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधिकारी पवन कुमार ने किया। मौके पर पीआईबी के इफ्तकार आलम, ज्ञान प्रकाश, रविशंकर प्रसाद सहित जिला प्रशासण के कई अधिकारी मौजूद थें।

बिहार में क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला- वार्तालाप का यह 12 वां आयोजन है। इससे पूर्व यह नवादा, गया, मुजफ्फरपुर, आरा, कैमूर, औरंगाबाद, नालंदा, जहानाबाद, अररिया और सारण जिलों में आयोजित किया गया।

Go Back

Comment