मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

वरिष्ठ पत्रकार तुरलापति कुटुम्बा राव का निधन

उपराष्ट्रपति, मुख्यमंत्री, पत्रकार संगठनों ने जताया शोक  

विजयवाडा/  वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और पद्मश्री तुरलापति कुटुम्बा राव का यहां रविवार देर रात एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 89 वर्ष के थे।

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु, राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन, मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी एवं विपक्ष के नेता चन्द्रबाबू नायडू ने श्री राव के निधन पर शोक वयक्त किया।
श्री राव के परिवार में उनका एक बेटा है। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि उन्हें कल रात 10 बजे दिल का दौरा पड़ा और अस्पताल में उपचार के दौरान कल देर रात के बाद श्री राव ने अंतिम सांस ली।

श्री राव को जन्म 10 अगस्त, 1933 को विजयवाडा में हुआ था। वह सात सात आंध्र ज्योति तेलुग दैनिक अखबार के संपादक रहे। उन्होंने 4000 से अधिक आत्मकथाए लिखी और 16 हजार से अधिक सार्वजनिक सम्मेलनों का संबोधित किया था, जिसे विश्व रिकॉर्ड के तौर पर तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था।

वरिष्ठ पत्रकार ने आंध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री तंगुतुरी प्रकाशम पंतुलु के सचिव के रूप में भी काम किया था और आंध्र प्रदेश गंथालय परिषद के चेयरमैन के तौर पर अपनी सेवा दी।
श्री राव को 2002 में पत्रकारिता के क्षेत्र में उनकी महान सेवा के लिए पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और आंध्र प्रदेश के वह पहले पत्रकार थे जिन्हें इस पुरस्कार से नवाजा गया। इसके अलावा उन्हें उन्हें प्रतिभा पुरस्कार और तेलुगु के अभिभावक की उपाधि सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने श्री राव के निधन पर शोक व्यक्त किया। श्री नायडु ने ट्विटर पर शोक संदेश लिखा, “मुझे स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता, लेखक, प्रसिद्ध पत्रकार और एक महान इंसान श्री तुरलापति कुटुम्बा राव के निधन की सूचना मिलने पर बहुत दुख हुआ है।” उन्होंने कहा कि पद्मश्री से सम्मानित श्री राव ने जीवन भर सभी क्षेत्रों में उच्च नैतिक मानकों और मूल्यों को बनाए रखा।

आंध प्रदेश के राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन ने श्री राव के निधन पर गहरा शोक एवं दुख जताया। उन्होंने आज यहां अपने संदेश में कहा श्री कुटुम्बा राव को उनके द्वारा रचिव 4000 आत्मकथाएं और 16 हजार से अधिक समारोह में संबोधित करने के लिए और तेलुगु पत्रकारिता में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। उनके इस योगदान ने विश्व रिकॉर्ड में अपनी पहचान बनायी है।

राज्यपाल ने शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त की।
मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने यहां अपने शोक संदेश में श्री तुरलापति कुटुम्बा राव के निधन पर दुख व्यक्त किया। जो एक महान वयोवृद्ध पत्रकार और लेखक थे। श्री रेड्डी ने शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने श्री राव के सभी प्रशंसकों के प्रति भी अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त की है।

राज्य में विपक्ष के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री एन चन्द्रबाबू नायडू ने भी श्री राव के निधन पर शोक व्यक्त किया और शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की।
इसके अलावा इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन (आईजेयू) एवं आंध्र प्रदेश वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन (एपीयूडब्ल्यूजे) ने भी वरिष्ठ पत्रकार के निधन पर शोक व्यक्त किया। आईजेयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अंबाती अंजनेयुलु, एपीयूडब्ल्यूजे के शहरी अध्यक्ष चाव रवि, सचिव कोंडा राजेश्वर राव, प्रेस क्लब के अध्यक्ष निम्मारमाजू चलपति और सचिव आर वसंत ने अपने शाेक संदेश में श्री राव के निधन पर दुख और शोक व्यक्त किया।

Go Back

Comment