मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

विलुप्त होती गौरैया को संरक्षित करने का दिया सन्देश

December 31, 2017

लेखक पत्रकार संजय कुमार की फोटो प्रदर्शनी “अभी मैं जिंदा हूँ.....गौरैया’ ने एक बार फिर लोगों को किया जागरूक

पटना। बिहार सरकार वन एवं पर्यावरण विभाग और कम्युनिटी राइट्स एण्ड डेवलपमेंट फाउंडेशन (सी.आर.डी.एफ.) के सहयोग से प्रेस इन्फोर्मेशन ब्यूरो, पटना के सहायक निदेशक और लेखक-पत्रकार संजय कुमार द्वारा खींची गौरैया की फोटो प्रदर्शनी ‘अभी मैं जिंदा हूँ.....गौरैया’ का आयोजन आज इको पार्क,पटना  के पास किया गया।

‘गौरैया’ फोटो  प्रदर्शनी लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बना रहा। फोटो प्रर्दशनी  का उद्घाटन करते हुए पटना के ट्रैफिक एस.पी. प्राणतोष कुमार दास ने कहा कि राजकीय पक्षी ‘गौरैया’  विलुप्ती के कागार पर है, जरुरत है इसे संरक्षित करने की। उन्होंने कहा कि गौरैया कम दिखती है ऐसे में संजय कुमार की फोटो प्रदर्शनी गौरैया संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने में अहम भूमिका निभाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की, कि लोग अपने दिनचर्या से थोड़ा वक्त पर्यावरण के लिए भी निकाले।

इस अवसर पर संजय कुमार ने कहा कि पिछले कई साल से लगातार ‘गौरैया’ संरक्षण को लेकर काम कर रहे है इस फोटो प्रदर्शनी का उद्देश्य है लोगों को इसके प्रति जागरूक करना। उन्होंने कहा घर-आँगन आने वाली ‘गौरैया’ रूठ कर चली गई है। इसे दोबारा बुलाने की पहल हमें ही करनी होगी। अपने घरों में दाना-पानी रखना होगा साथ ही पेड़ भी लगाने होंगे। श्री कुमार ने बताया कि इस फोटो  प्रदर्शनी के आयोजन में वन एवं पर्यावरण विभाग, बिहार सरकार के मुख्य वन प्राणी प्रतिपालक श्री भारत ज्योति का सहयोग रहा।

मौके पर कम्युनिटी राइट्स एण्ड डेवलपमेंट फाउंडेशन के साकिब जिया और पत्रकार निखिल आनंद ने कहा कि ऐसे आयोजनों की जरुरत है ताकि गौरैया’ संरक्षण की दिशा को बल मिले। वहीं, प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के निदेशक दिनेश कुमार और लेखक डॉ ध्रुव कुमार ने कहा कि गोरैया संरक्षण की मुहिम में सब को जुड़ना चाहिए। लोगों की मुहिम से विलुप्त होती नन्ही सी जान गौरैया को बचाया जा सकेगा।

“अभी मैं जिंदा हूँ.....गौरैया’ फोटो  प्रदर्शनी को लोगों ने काफी सराहा। इसे रोचक तरीके से संवारा गया था । 'गौरैया’ फोटो  प्रदर्शनी की सभी तस्वीर और विवरण संजय कुमार ने लिखा था। मौके पर कम्युनिटी राइट्स एण्ड डेवलपमेंट फाउंडेशन के साकिब, डॉ.लीना, नवाज शरीफ, नेहा निहारिका, मनीष कुमार सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

Go Back

यदि आप कहना चाहें तो अपने दिल से धन्यवाद, मेरा दिल शायद असली भावनाओं से दूर हो जाएगा



Comment