मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

श्रीदेवी की मौत की कवरेज ने टीआरपी में किया उलटफेर

श्रीदेवी की मौत की कवरेज को लेकर टीवी न्यूज चैनलों की इस बार इतनी आलोचना हो गई थी कि सबको लग रहा था - कहीं सोशल मीडिया की ये आलोचना उनकी टीआरपी ना गिरा दे। लेकिन आज जैसे ही BARC की साप्ताहिक टीआरपी आई, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दिग्गज हैरान रह गए। इतना बड़ा उलटफेर पिछले कई सालों में पहली बार देखा गया है। आम तौर पर एक से दो परसेंटेज अंक ऊपर नीचे रहने वाली टीआरपी ने दस अंकों से भी ज्यादा उछाल ली। एबीपी न्यूज ने 10.8 अंकों की उछाल इस हफ्ते ली है जबकि बाकी कुछ चैनल धड़ाम से आधे के करीब हो गए हैं।

श्रीदेवी की मौत पर एबीपी न्यूज ने जो प्रोग्रामिंग या कवरेज में मेहनत की, उसने उसे इस हफ्ते 6ठें चैनल से उठाकर सीधे दूसरी पोजिशन पर ला दिया है। मीडिया की पुरानी मान्यता  है कि अगर कोई ऐसी बड़ी खबर आती है, जिसमें पूरे देश की दिलचस्पी हो तो इसका फायदा ‘आजतक’ जैसे बड़े और पुराने चैनल को मिलता है, हालाँकि वो हुआ भी। एबीपी के 10.8 अंकों की बढ़त के बावजूद आजतक नंबर वन की पोजिशन पर बरकरार रहा। आजतक की टीआरपी भी काफी बढ़ी। यह इस हफ्ते 16.3 से बढ़कर 21.2 हो गई, जबकि 10.8 बढ़ाकर भी एबीपी 20.9 ही हो पाया और दूसरे पर ही पहुंचा। हालांकि तीसरी पोजिशन पर जी न्यूज कायम रहा, केवल 0.5 फीसदी की गिरावट आई। इंडिया टीवी 2.7 परसेंट गिरकर दूसरे से चौथे पर पहुंच गया। न्यूज नेशन 0.8 परसेंट गिरकर भी पांचवे पर रहा।

सबसे ज्यादा नुकसान वाले चैनल रहे न्यूज18 इंडिया और इंडिया न्यूज। न्यूज18 इंडिया चौथे नंबर पर पिछले हफ्ते था, पांच परसेंट अंकों से गिरकर एबीपी के स्थान या छठी पोजीशन पर लुढ़क गया तो इंडिया न्यूज 3.9 परसेंट गिरकर सातवें से आठवें स्थान पर आ गया। जबकि न्यूज24 1.8 परसेंट गिरकर भी आठवें से सातवें पर चढ़ गया।

इस सप्ताह की टीआरपी से साफ जाहिर है कि श्रीदेवी की नाटकीय कवरेज, बाथ टब और बाथरूम के सैट्स को लेकर जिन चैनलों की ज्यादा आलोचना हो रही थी और वो ही दोनों चैनल्स फायदे में रहे, वो थे 'आज तक' और 'एबीपी न्यूज'। 

Go Back

Comment