मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

समाचार माध्‍यम ‘फर्जी समाचारों’ के प्रति अधिक सावधानी बरतें : उपराष्ट्रपति

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर उन्होंने प्रदान किए 'उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार’

नई दिल्ली / राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर  उपराष्ट्रपति  श्री एम. वेंकैया नायडू ने कल  नई दिल्ली में 'उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार-2019’’के विजेताओं को पुरस्‍कार प्रदान किये। भारतीय प्रेस परिषद द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों के पत्रकारों को पत्रकारिता में उनके उत्कृष्ट और अनुकरणीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर उपराष्ट्रपति ने मीडिया के महत्व और भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि जब से 1780 में जेम्स ऑगस्टस हिक्की द्वारा भारत का पहला समाचार पत्र – ‘द बंगाल गजट’ शुरू किया गया था,  तभी से प्रेस लोगों को सशक्त बनाने में उत्कृष्ट भूमिका निभा रहा है।

उपराष्ट्रपति ने कहा, " पत्रकारों को गेटकीपर की भूमिका निभाए बिना पाठकों और दर्शकों को निष्पक्ष और उद्देश्यपूर्ण, सटीक और संतुलित जानकारी प्रस्तुत करना पत्रकारिता का मूलभूत सिद्धांत है।"

श्री नायडू ने फर्जी समाचारों की बुराइयों के बारे में भी बताया और मीडिया से हमेशा निष्पक्षता और सटीकता बनाए रखने का आग्रह करते हुए कहा कि इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया स्मार्ट फोन पर अलर्ट और फ्लैश के साथ समाचार प्रदान करने में पत्रकारों को अधिक सावधानी बरतनी होगी।

उपराष्ट्रपति ने मीडिया से भी विकास पर आधारित समाचार और कृषि जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों को अधिक कवर करने की अपील की। ​​श्री नायडू ने देश में जिम्मेदार पत्रकारिता को बढ़ावा देने में अपनी भूमिका के लिए भारतीय प्रेस परिषद के प्रयासों की सराहना की।

उपराष्ट्रपति ने नॉर्म्स ऑफ़ जर्नलिस्टिक कंडक्ट एडिशन -2019, प्रेस काउंसिल ऑफ़ इंडिया की निर्देशिका और पुरस्कार समारोह में एक स्मारिका का विमोचन किया।

सूचना और प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने मीडिया बिरादरी के प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की, “आज पेड न्यूज से ज्यादा फर्जी खबरों का संकट है। फर्जी समाचार की टीआरपी ज्यादा होती है, जो समाज और देश के लिए अच्छा नहीं है। श्री जावडेकर ने कहा कि मीडिया को अंतिम उपयोगकर्ताओं तक सही खबर पहुंचाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को समझना चाहिए।

प्रतिष्ठित पुरस्‍कारों से सम्‍मानित व्‍यक्ति निम्‍नलिखित हैं :-

प्रख्यात पत्रकार और राजस्थान पत्रिका प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष श्री गुलाब कोठारी को पत्रकारिता के प्रति उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए “राजा राम मोहन रॉय पुरस्कार” की प्रतिष्ठित श्रेणी के तहत चुना गया है और उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जा रहा है।

दैनिक भास्कर, मंडी, हिमाचल प्रदेश के संवाददाता श्री संजय सैनी और इंडिया टुडे, नोएडा, उत्तर प्रदेश के ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर (पब्लिशिंग) श्रीराजचेंगप्पा को संयुक्त रूप से अपने-अपने क्षेत्र के लिए "ग्रामीण पत्रकारिता" की श्रेणी में क्रमश: अपने लेखों "भारत जापान की यारी ,  मंडी जिला में किसानों के खेतो में लिख रही है विकास की नई कहानी" और "द न्यू भारत; होप एंड ग्रेंड एम्‍बीशन कोर्स थ्रो द ग्रेट इंडियन हिंटरलैंड  इवन एमिड द एनवेलपिंग ग्‍लूम ऑफ रूरल डिस्‍ट्रेस" के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

दैनिक जागरण के वरिष्‍ठ संवाददाता श्री शिव स्वरुप अवस्थी और मातृभूमि, कालीकट के सब-एडिटर श्री अनु अब्राहिम  को संयुक्त रूप से "विकास रिपोर्टिंग" की श्रेणी में चुना गया है, जो क्रमशः 15 जुलाई, 2018 से 22 अगस्‍त, 2018 तक से "बदहाली पाठा की" और 2 जून, 2018 से 6 जून, 2018 तक प्रकाशित "आरोग्य केरलम सीखना (केरल में निप्पा का प्रकोप के बारे में)" लेखों के तहत पुरस्‍कृत किया गया है। ।

"फोटो जर्नलिज्म सिंगल न्यूज पिक्चर" के तहत,  द मातृभूमि, नई दिल्ली के वरिष्ठ फोटोग्राफर श्री पी.जी.उन्‍न‍िकृष्णन और मातृभूमि, नेशनल डेली, मलयालम के न्यूज़ फोटोग्राफर श्री अखिल ईएस को संयुक्‍त रूप से पुरस्‍कार से सम्मानित किया गया है।

 "फोटो जर्नलिज्म-फोटो फ़ीचर" की श्रेणी में, इंडिया एम्पायर मैगज़ीन और पार्लियामेंटरी मैगज़ीन, दिल्ली की कंसल्टिंग एडिटर (फ़ोटोग्राफ़ी) सुश्री सिप्रा दास  को चुना गया है, जो लेख "शिल्स जर्नी विद एड्स" के तहत प्रकाशित फोटोग्राफिक चित्रण के लिए है।

"खेल रिपोर्टिंग" में हिंदुस्तान टाइम्स, चंडीगढ़ के श्री सौरभ दुग्गल  को कैप्शन "रग्बी, गरीब बंगाल गांव की आदिवासी लड़कियों को पंख देती है" के तहत प्रकाशित लेख के लिए चुना गया है।

देशबंधु, भोपाल की विशेष संवाददाता सुश्री रूबी सरकार और द इंडियन एक्सप्रेस, पुणे की वरिष्‍ठ संपादक सुश्री अनुराधा मस्कारेनहेस को संयुक्त रूप से 'जेंडर रिपोर्टिंग' के नवगठित पुरस्कार श्रेणी में उनके संबंधित लेखों के लिए पुरस्‍कृत किया गया है।

द इंडियन एक्‍सप्रेस में कार्यरत श्री कृष्ण कौशिक और श्री संदीप सिंह को ‘वित्‍तीय रिर्पोटिंग’  श्रेणी के लिए संयुक्‍त रूप से पुरस्‍कृत किया गया है।

पूरी सूची देखने के लिए नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करें - http://presscouncil.nic.in/WriteReadData/Pdf/PressReleaseAnnoucningNAEJWinners.pdf

Go Back

Comment