मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

सिनेमा के माध्यम से मज़बूत होंगे भारत- वियतनाम के संबंध

March 27, 2017

सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने वियतनाम के सूचना एवं संचार मंत्री त्रोंग मिन तुआन के नेतृत्व वाले एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की

नई दिल्ली/ सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि फिल्म, प्रसारण एवं सूचना प्रसार के क्षेत्र में सहयोग भारत और वियतनाम के बीच संबंधों को और अधिक मज़बूत करेगा। सोशल मीडिया में संस्थानिक क्षमता निर्माण सहयोग एवं पत्रकारिता एवं फिल्म के क्षेत्र में दोनों देशों के प्रतिष्ठित संस्थानों के बीच छात्र विनिमय कार्यक्रम दोनों देशों को और करीब लेकर लाएगा। भारत के सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने यह विचार वियतनाम सरकार के सूचना एवं संचार मंत्री श्री त्रोंग मिन तुआन के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल से औपचारिक मुलाकात के दौरान कहीं। चर्चा के दौरान श्री नायडु ने कहा कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय दोनों देशों के बीच सार्वजनिक प्रसारकों, सामग्री सृजन, स्क्रीनिंग एवं फिल्मों के वितरण के क्षेत्र में विनिमय कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करने एवं समर्थन करने के लिए हर संभव मदद उपलब्ध कराएगा।

श्री नायडु ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा फिल्म निर्माताओं को एकल खिड़की सुविधा के माध्यम से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए स्थापित किए गए फिल्म सुविधा कार्यालय (एफएफओ) के बारे में वियतनाम के प्रतिनिधिमंडल को अवगत कराया। एफएफओ फिल्म निर्माताओं के लिए एक सुविधा केन्द्र के रूप में कार्य करेगा और अपेक्षित अनुमित प्राप्त करने, शूटिंग के बारे में सूचना प्रसारित करने के साथ-साथ भारतीय फिल्म उद्योग से जुड़ी निर्माण पूर्व एवं निर्माण के बाद की तमाम सुविधाओं को प्राप्त करने में मदद करेगा।

वियतनाम ने मंत्री ने अपनी बात रखते हुए वियतनाम में मीडिया के परिदृश्य के बारे में संक्षेप में बताया और उम्मीद जताई कि सूचनाओं को एकत्रित करने और उनका प्रसार करने की दिशा में दोनों देशों के राष्ट्रीय लोक प्रसारकों के बीच सहयोग बढ़ेगा।

वर्ष 2014 में भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय और वियतनाम सरकार के संस्कृति, खेल एवं पर्यटन मंत्रालय के बीच वर्ष 2015-17 के लिए हस्ताक्षर किए गए संस्कृति विनियम कार्यक्रम (सीईपी) ने फिल्म के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग को बढ़ाने की दिशा में एक संस्थानिक ढांचा उपलब्ध कराया है। (PIB)

Go Back

Comment