मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

हिन्दी का प्रथम ओपन सोर्स स्पेल चेक सॉफ्टवेयर

December 24, 2013

पत्रकारिता विश्वविद्यालय में कल होगा लोकार्पण समारोह 

कम्प्यूटर पर हिन्दी लिखते समय वर्तनी की अशुद्धियों को दूर करेगा स्पेल चेक सॉफ्टवेयर

भोपाल/माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में कल, 25 दिसम्बर 2013 को हिन्दी के प्रथम ओपन सोर्स स्पेल चेक सॉफ्टवेयर का लोकार्पण समारोह आयोजित किया जा रहा है। समारोह विश्वविद्यालय परिसर के सभागृह में प्रातः 11.00 बजे प्रारम्भ होगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार एवं सम्पादक श्री राहुल देव होंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के पूर्व सचिव श्री उदय वर्मा होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला करेंगे।

पत्रकारिता विश्वविद्यालय की एक महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत कम्प्यूटर में काम करते समय हिन्दी के शब्दों को लिखते समय होने वाली वर्तनी त्रुटियों को दूर करने के लिए स्पेल चेक सॉफ्टवेयर बनाने की योजना पर कार्य शुरू किया गया था। आज प्रखर वक्ता यशस्वी पत्रकार एवं शिक्षाविद् पं. मदन मोहन मालवीय की जयंती एवं हिन्दीसेवी कवि, पत्रकार, पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिवस के अवसर पर इस स्पेल चेक सॉफ्टवेयर लोकार्पण किया जा रहा है।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला ने बताया कि कम्प्यूटर में हिन्दी लिखते समय वर्तनी की अशुद्धियाँ अक्सर हुआ करती हैं। इस स्पेल चेक सॉफ्टवेयर के माध्यम से कम्प्यूटर में हिन्दी लिखते समय वर्तनी की अशुद्धियों से बचा जा सकता है। अभी हिन्दी में जो वर्तनी परीक्षक सॉफ्टवेयर उपलब्ध हैं, उनमें कुछ न कुछ कमियाँ हैं। इस स्पेल चेक सॉफ्टवेयर में उन कमियों को दूर करते हुए इसे मुक्तस्रोत सॉफ्टवेयर लायसेंस के तहत जारी किया गया है, अर्थात् इसका न केवल निःशुल्क उपयोग किया जा सकता है बल्कि इसमें आवश्यक सुधार, परिवर्तन आदि करते हुए इसके अन्य संस्करण भी तैयार किये जा सकते हैं। हिन्दी के क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों तथा मीडिया जगत के लिए यह एक उपयोगी सॉफ्टवेयर होगा। इसे विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.mcu.ac.inसे निःशुल्क डाउनलोड किया जा सकता है।

इस कार्यक्रम में नगर के गणमान्य नागरिक, शिक्षाकर्मी, मीडियाकर्मी, प्रबुद्धजन, हिन्दीसेवी तथा विश्वविद्यालय के शिक्षक, अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहेंगे।

डॉ. पवित्र श्रीवास्तव, निदेशक, जनसंपर्क प्रकोष्ठ द्वारा जारी 

Go Back

Comment