मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

"पाँचवाँ स्तंभ" पाठक मंच का उद्घाटन

पटना । नई दिल्ली से प्रकाशित पत्रिका "पाँचवाँ स्तंभ" के पाठक मंच का कल उद्घाटन बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री श्री वृषिण पटेल जी ने किया। उन्होंने मंच का उद्घाटन करते हुए अपना उद्गार व्यक्त किया, ‘किसी भी पत्रिका के द्वारा अपने पाठकों का मंच बनाने और उनकी नियमित मासिक मिलन और पत्रिका की समीक्षा का यह अनोखा ही कार्यक्रम प्रारंभ हुआ है। मंच के द्वारा पाठकगण भी पत्रिका में छपी सामग्रियों पर अपना विचार व्यक्त किया करेंगे। मुझे ऐसी उम्मीद है कि इस पत्रिका की अग्रणी इस भूमिका का दूसरे पत्र-पत्रिकाओं द्वारा भी अनुशरण किया जाएगा।’   

उन्होंने गणतंत्र के विकास में पत्र-पत्रिकाओं की साकारात्मक भूमिका की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा- ‘‘आज यह आवश्यक हो गया है कि मीडिया, लोकतंत्र के अन्य चारों स्तंभों के साकारात्मक पक्ष को जनता तक पहुँचाए। उन्होंने पत्रकारों और संपादकों को संवेदनशील बनने पर भी जोर दिया।’’

बिहार विधान परिषद के सभापति  अवधेश  नारायण सिंह ने "पाँचवाँ स्तंभ" पत्रिका के बिहार विषेष अंका का लोकार्पण करने के उपरांत कहा ‘‘इस अंक में बिहार के विभिन्न क्षेत्रों में बिहार के भूमि पुत्रों द्वारा हासिल उपलब्धियों के साथ भविष्य का भी सपना दिखाया है। इस अंक के सभी लेखक-लेखिकाएं बधाई के पात्र हैं। संपादक के प्रति भी हम आभार प्रकट करते हैं कि उन्होंने बिहारवासियों के लिए संग्रहणीय पत्रिका प्रकाशित किया।’’ उन्होंने पाठक मंच को सारी सहायता देने का आश्वासन  दिया।

आगन्तुकों और अतिथियों का सम्मान और स्वागत करते हुए पत्रिका की संपादक और साहित्यकार मृदुला सिन्हा ने साथी संस्था द्वारा इसी वर्ष से देश  भर के राज्यों की राजधानियों में पाठकमंच स्थापना की घोषणा की सूचना देते हुए कहा, ‘‘मेरे लिए भी यह प्रसन्नता की बात है कि मेरे गृह राज्य बिहार की राजधानी में ही इसका उद्घाटन हो रहा है। उन्होंने चारों अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि उनके द्वारा दूरभाष पर बात करने पर सभी ने स्वीकृति दे दी।’’ उन्होंने विश्वास प्रकट किया कि पटना में पाठकमंच की गतिविधियों से पत्रिका को निखारने में मदद मिलेगी। उनका मत है कि पाठकों को भी पत्र-पत्रिकाओं से पत्रिका को निखारने में मदद मिलेगी। उनका मत है कि पाठकों को भी पत्र-पत्रिकाओं को उनकी साकारात्मक भूमिका के लिए दिशा -निर्देश  करना चाहिए। पाठक बहुत बड़ा अंग है।

हिन्दी के विद्वान डा रामवचन राय, अध्यक्ष, बिहार राज्य सार्वजनिक पुस्तकालय एवं सूचना केन्द्र प्राधिकरण,  अनिल सुलभ, अध्यक्ष, बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन, पटना और  रेणू देवी, पूर्व मंत्री, बिहार सरकार, ने भी "पाँचवाँ स्तंभ" पत्रिका की उपयोगिता पर बल दिया।

सबों ने पाठक मंच के उद्घाटन अवसर पर पत्रिका परिवार को शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम का सफल संचालन डा ध्रुव कुमार ने किया। उन्होंने उपस्थित साहित्यकार, पत्रकार और समाजसेवियों और राजनीतिज्ञों से "पाँचवाँ स्तंभ" के सदस्य बनने और प्रति माह उसी स्थान पर घोषित पाठकमंच में सक्रिय भूमिका निभाने की अपील की। धन्यवाद ज्ञापण पाठक मंच के संयोजक प्रो0  गिरिश गौरव जी ने किया। कार्यक्रम में राजधानी पटना के वरिष्ठ साहित्यकार, पत्रकार और समाजसेवी उपस्थित थे।


 

 

Go Back

Comment