मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

“मानव-धरती के साथ हो विकास” प्रतियोगिता में लड़कियों ने मारी बाजी

पत्रकारिता के विद्यार्थियों के बीच निबंध, लोगो और स्लोगन प्रतियोगिता

पटना/  कॉलेज ऑफ कामर्स आर्टस एंड साइंस के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग और कम्युनिटी राइट्स एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन (सीआरडीएफ) के संयुक्त तत्वाधान में "मानव-धरती के साथ हो विकास" विषय पर निबंध, लोगो और स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें ओवरआल चैपियन के तौर पर पहला, दूसरा और तीसरा स्थान क्रमश: डिप्लोमा की छात्राओं पूजा कुमारी, नेहा कुमारी और सर्टिफिकेट कोर्स की अक्षिका कृति को मिला।

पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथी के तौर पर नालंदा खुला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति और समाज शास्त्र विभाग के डॉ.कौशलेन्द्र कुमार सिंह ने ऐसे आयोजनों के लिए विभाग और सीआरडीएफ की सराहना करते हुए कहा कि इससे बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है।

मौके पर पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के समन्वयक डॉ. तारिक फातमी ने कहा कि सभी छात्रों ने कहीं न कहीं बेहतर प्रर्दशन किया और ऐसे आयोजन विभाग और कॉलेज के स्तर पर भविष्य में भी आयोजित होते रहेंगे।

प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डॉ.कौशलेन्द्र कुमार सिंह के साथ कॉलेज के वनस्पति विज्ञान के प्रोफेसर डॉ. मौनव्वर फजल, उर्दू विभागध्यक्ष डॉ. अकबर अली थे।

पुरस्कार वितरण समारोह में सीआरडीएफ की संयोजक डॉ. लीना, सदस्य नवाज शरीफ और साकिब ज़िया ने भी विचार व्यक्त किया।

Go Back

Comment