मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

118 नए कम्युनिटी रेडियो स्टेशन स्थापित किए जायेंगे

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने कल घोषणा की कि 118 नए कम्युनिटी रेडियो स्टेशन स्थापित किए जाने की प्रक्रिया में हैं। जिन आवेदनकर्ताओं को कम्युनिटी रेडियो स्टेशन स्थापित करने के लिए आशय पत्र दिये गए हैं उस सूची में 16 वाम उग्रवाद प्रभावित जिले, 6 वाम उग्रवाद से सबसे अधिक प्रभावित जिले, 25 तटीय जिले 17 आकांक्षापूर्ण जिले, पूर्वोत्तर के 3 जिले तथा जम्मू और कश्मीर के 2 जिले शामिल हैं। एनजीओ, शैक्षणिक संस्थानों- निजी और सार्वजनिक दोनों, और कृषि विज्ञान केंद्रों से प्राप्त आवेदनों को मंजूरी दी गई है। उम्मीद है कि ये कम्युनिटी रेडियो स्टेशन अगले 6 महीने में काम करने लगेंगे।

कम्युनिटी रेडियो स्टेशन अंतिम मील तक सरकार की पहुंच बढ़ाने के लिए एक संचार चैनल है। देश के प्रत्येक जिले तक कम्युनिटी रेडियो नेटवर्क का विस्तार सुनिश्चित करने के लिए योजनाएं बनाई गई हैं। 

कम्युनिटी रेडियो स्टेशनों की संक्षिप्त पृष्ठभूमि -

कम्युनिटी रेडियो छोटे (कम शक्ति) एफएम रेडियो स्टेशन हैं, जिनका कवरेज दायरा क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति के अनुसार करीब 10-15 किलोमीटर है। कम्युनिटी रेडियो स्टेशन कृषि संबंधी जानकारी, जन कल्याण के लिए सरकार की योजनाओं, मौसम की भविष्यवाणी आदि के प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कम्युनिटी रेडियो स्टेशन अपने कार्यक्रमों में से कम से कम 50 प्रतिशत कार्यक्रम स्थानीय स्तर पर बनाता है, जहां तक संभव हो यह स्थानीय भाषाओं अथवा बोलियों में होते हैं। देश भर में 260 से अधिक कम्युनिटी रेडियो स्टेशन स्थानीय बोलियों सहित विभिन्न भाषाओं में प्रसारण कर रहे हैं, इसने समुदाय के वंचित लोगों को एक मंच प्रदान किया है, जहां लोगों की आवाज सुनी जा सके और उन्हें अपने विचार व्यक्त करने का अवसर मिले।    

Go Back

Comment