मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

एडवर्टोरियल पाठक को धोखा देना है

राजेश चंद्रा। ऐसे समय में जब उत्तर प्रदेश में अपराध चरम पर है, सरकार कोरोना और अपराधियों के सामने लाचार और अक्षम साबित हो चुकी है, तब इंडियन एक्सप्रेस ने आज यह फेक न्यूज़ छापा है और इसे एडवर्टोरियल नाम दिया है! 

एडवर्टोरियल क्या है? मुंहमांगी क़ीमत लेकर विज्ञापन को इस तरह ख़बर या सम्पादकीय शैली में प्रस्तुत करना, जिसका मक़सद पाठक को धोखा देना, उसे गुमराह करना है। यह न सिर्फ़ अनैतिक कार्य है बल्कि समाज और देश के लिये घातक भी है। शर्मनाक कृत्य।

राजेश चंद्रा के फेसबुक वाल से 

Go Back

Comment