मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

गणेश शंकर विद्यार्थी की 124वीं जयंती पर प्रांतीय समिति का सम्मेलन

October 29, 2013

विचारों की लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति से हमें कोई नहीं रोक सकता : आलोक चतुर्वेदी

छतरपुर। अमर शहीद और कलम के धनी गणेश शंकर विद्यार्थी की 124वीं जयंती के अवसर पर गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब के तत्वाधान में स्थानीय फोरसीजन होटल छतरपुर के सभागार में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पत्रकारिता में विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय भूमिका निभाने वाले तथा उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को जिला कमेटी कि ओर  से  सम्मानित किया गया। उपस्थित कमलकारों तथा पत्रकारों को इस मौके पर संबोधित करते हुये सफल व्यवसायी तथा समाजसेवा के क्षेत्र में अग्रणी आलोक चतुर्वेदी ने कहा कि गणेश शंकर विद्यार्थी जी त्याग और समर्पण के अदभुत मूर्ति के साथ सच्चे कर्मयोगी थे। देश की आजादी के इतिहास में उनके क्रांतिकारी तथा लेखनी शक्ति सदैव स्मणीय रहेगी। सीमित संसाधन में क्रांति और परिवर्तन कैसे लाये जा सकते हैं यह हमें विद्यार्थी जी के जीवन से सीखना चाहिए। जन समस्याओं और ज्वलंत मुद्दों को गंभीरतापूर्वक अपनी कलम से उठाने के कारण उन्होंने छतरपुर के साहसी पत्रकारों की सराहना करते हुये आलोक चतुर्वेदी ने कहा कि आचार संहिता उल्लंघन तथा चुनाव में उसके दुरूपयोग को रोका जाना चाहिए लेकिन आजाद भारत में विचारों की लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति से हमें कोई नहीं रोक सकता है। मानव के रूप में जन्म लेने के बाद दूसरों के दु:ख में साथ देना हमारा नैतिक दायित्व है।
महिला संरक्षण की दिशा में सशक्त करने वाली स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गायत्री देवी परमार ने कहा कि जब मैं दो वर्ष की थी, तब विद्यार्थी जी की शहादत हुई थी। उनके बारे में पढऩे पर मैं उनसे बहुत प्रभावित हुई। यही बजह है कि पीडि़त और शोषित महिलाओं को न्याय दिलाने मैं डटी हुई हूं। कई मामलों में छतरपुर के जागरूक मीडिया का सहयोग मुझे मिलता रहा है जिससे मैं महिलाओं को न्याय दिलाने में सफल सिद्ध होती रही हूं। पत्रकारिता के धर्म और मूल्यों पर गहराई से प्रकाश डालते हुये कार्यक्रम को श्रवण गौरव, जितेन्द्र रिछारिया, हरी अग्रवाल, रामकिशोर अग्रवाल, शिक्षाविद रमाशंकर मिश्रा, हिन्दू उत्सव समिति के पवन मिश्रा, पूर्व नगर पालिका अधिकारी डीडी तिवारी तथा एडवोकेट संजय शर्मा ने मुख्य रूप से संबोधित किया।
संगोष्ठी की शुरूआत में माँ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर गणेश शंकर विद्यार्थी की प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये। गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब के प्रांतीय अध्यक्ष संतोष गंगेले ने उनके कृतित्व पर प्रकाश डाला। अंत में आभार प्रदर्शन कार्यक्रम के आयोजक पत्रकार विनोद अग्रवाल ने किया। सफल संचालन युवा टीवी एंकर अंकुर यादव ने किया। इस अवसर पर जिले के लोगों को  रोजगार के संसाधन उपलब्ध कराने तथा समाज सेवा के क्षेत्र में आलोक चतुर्वेदी, महिला हितों के लिये गायत्री देवी परमार, विकास की दिशा में नपा सलाहकार डीडी तिवारी, मानसिक विक्षिप्तों को गले लगाने वाले बकील संजय शर्मा, भारतीय संस्कृति के लिये पवन मिश्रा तथा शिक्षाविद रमाशंकर मिश्रा, अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने वाली दलित महिला रामबाई अहिरवार, मिशनरी पत्रकारिता के लिये श्रवण गौरव, इलेक्ट्रानिक मीडिया के क्षेत्र में शीलवंत पचौरी (सहारा समय), पेप्टेक ग्रुप के युवा पत्रकार अंकुर यादव तथा नौगांव के सतीश साहू का शाल व श्रीफल देकर सम्मान किया गया और सबको मतदान करने हेतु प्रेरित किया गया। इस मौके पर प्रिंट तथा इलेक्ट्रानिक मीडिया के अधिकतर पत्रकार मौजूद रहे। संतोष गंगेले प्रांतीय अध्यक्ष ने कहा कि   गणेश शंकर विधार्थी प्रेस  क्लब का गठन ही सामाजिक एबं समाज सुधारक, कलम के पुजारियों, मानवता के धनी व्यक्तियो को मंच पर उचित सम्मान देने के लिए ही गठन है।  

 

 

Go Back

thanks . sampaadak ji



Comment