मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

पत्रकार के परिजनों को दिया जाए 50 लाख मुआवजा

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने की मांग

बहराइच/ श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने रतन सिंह की हत्या की कडे़ शब्दों में निंदा करते हुए मुख्यमंत्री से पत्रकारों की सुरक्षा एवं मृतक पत्रकार साथी के परिजनों को 50 लाख का मुआवजा देने की मांग की है।

उत्तर प्रदेश के बहराइच में गुरूवार को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की बैठक हुई। आयोजित बैठक की अध्यक्षता यूनियन के अध्यक्ष वीरेंद्र श्रीवास्तव वीरू ने किया। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार सतीश श्रीवास्तव ने बलिया में पत्रकार साथी रतन सिंह की हत्या को जघन्य अपराध बताते हुए मुख्यमंत्री से तत्काल कड़ी कार्रवाई की मांग की। यूनियन के पूर्व अध्यक्ष अब्दुल रहमान उर्फ बच्चे भारती ने कहा कि प्रदेश में पत्रकार सुरक्षित नहीं है। गत तीन माह में हुए तीन पत्रकारों की हत्या ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर करारा प्रहार किया है।

यूनियन के अध्यक्ष वीरेंद्र श्रीवास्तव वीरू ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था समाप्त होने के कगार पर है। प्रदेश में न पत्रकार सुरक्षित है और ना आम नागरिक। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि शीध्र ही प्रदेश में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू कर पत्रकारों की सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये जाएं। बैठक का संचालन करते हुए यूनियन के महामंत्री प्रदीप तिवारी ने बलिया की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कड़ी कार्रवाई की आवाज उठाई। बैठक को पूर्व अध्यक्ष कल्बे अब्बास, अनीस सिद्दीकी ने भी संबोधित किया। बैठक के दौरान पत्रकारों ने अपने साथी पत्रकार की मौत पर दुख जताते हुए दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। बैठक के बाद सभी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर मृतक पत्रकार के परिजन को 50 लाख का मुआवजा, परिवार में उनकी पत्नी को स्थाई सरकारी नौकरी, प्रदेश में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करते हुये पत्रकार साथी के हत्यारों को फांसी की दिलाये जाने की मांग की। 

Go Back

Comment