मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

संस्कृति संगम के पाँचवें संस्करण का प्रकाशन होगा

पिछले चार संस्करणों के ज़रिए साहित्य, संगीत, सिनेमा, पत्रकारिता, रंगमंच आदि क्षेत्रों में सक्रिय रचनाकर्मियों को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका

मुम्बई की सांस्कृतिक निर्देशिका संस्कृति संगम में हिन्दी रचनाकारों,  पत्रकारों, रंगकर्मियों,  फ़िल्म लेखकों,  गायक कलाकारों, गीतकारों, शायरों, दैनिक समाचारपत्र और साहित्यिक पत्रिकाओं के साथ ही  अखिल भारतीय प्रमुख साहित्यकारों, मंच पर सक्रिय अखिल भारतीय कवियों एवं विदेशों में बसे प्रमुख हिन्दी रचनाकारों के नाम, पते, दूरभाष नं. एवं ईमेल शामिल हैं।

संस्कृति संगम ने पिछले चार संस्करणों के ज़रिए साहित्य, संगीत, सिनेमा, पत्रकारिता, रंगमंच आदि क्षेत्रों में सक्रिय रचनाकर्मियों को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसका सर्कुलेशन मुम्बई के रचनाकारों, कलाकारों में होने के साथ साथ अखिल भारतीय स्तर पर भी होता है। विदेशों में बसे हिन्दी रचनाकारों के बीच भी संस्कृति संगम काफी लोकप्रिय है। इस तरह साहित्य, संगीत, मंच आदि से जुड़ी प्रतिभाओं को संस्कृति संगम के ज़रिए अपने अपने क्षेत्र की विशिष्ट हस्तियों से जुड़ने का सम्पर्क सूत्र सहज उपलब्ध हो जाता है। विविधतापूर्ण सांस्कृतिक आयोजनों के लिए भी संस्कृति संगम बेहद उपयोगी है। मुम्बई की सांस्कृतिक सक्रियता को बढ़ावा देने में संस्कृति संगम का विशेष उल्लेखनीय योगदान है। 

संस्कृति संगम का पाँचवाँ संस्करण दिसम्बर 2013 में प्रकाशित करने की योजना है। इस संदर्भ में sanskritisangam4@gmail.com  पर या

देवमणि पांडेय

सम्पादक : संस्कृति संगम

ए-2, हैदराबाद एस्टेट, नेपियन सी रोड, मालाबार हिल, मुम्बई - 400036,  पर सम्पर्क किया जा सकता है।

Go Back

Comment