मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

नहीं रहे पत्रकार देबाशीष बोस

मधेपुरा/ वरिष्ठ पत्रकार देबाशीष बोस का आज रविवार को निधन हो गया। बिहार के मधेपुरा के रहने वाले 54 वर्षीय डॉ बोस कई वर्षों से कैंसर रोग से जूझ रहे थे।  कई दशक से पत्रकारिता जगत के सशक्त हस्ताक्षर रहे डॉ बोस आकाशवाणी संवाददाता, आई एफ डब्ल्यू जे (पत्रकार संघ) के राष्ट्रीय महासचिव, अधिवक्ता और कोशी टाइम्स के प्रधान सम्पादक थे. तीन दशक से पत्रकारिता जगत से जुड़े  देवाशीष ने कई पत्र-पत्रिका और टीवी चैनल में अपनी सेवा दी है।

उनके निधन से पत्रकारिता जगत और समाज को अपूरणीय क्षति हुई है। डा.देवाशीष बोस के निधन की खबर मिलते ही सहरसा, सुपौल, मधेपुरा ही नही बिहार के पत्रकारिता जगत से जुड़े व इससे इतर लोगों ने शोक जताया.

डीडी बिहार के समाचार संपादक संजय कुमार ने अपने फेसबुक वाल पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है कि गंभीर और जुझारू पत्रकार से 10 साल से मेरा जुड़ाव रहा। मेरे लिए वे एक संवाददाता नहीं बल्कि मित्र और भाई थे। इलाज के दौरान कई बार अपनी पीड़ा बताते लेकिन टूटे नहीं। कैंसर से लड़ते रहे। उनके निधन की खबर से भरोसा नहीं हो रहा है। मौत से उनकी लड़ाई में वे हार गए। नमन और सलाम।

उनके निधन की खबर मिलते ही उनके आवास पर अंतिम दर्शन के लिये पत्रकार, पदाधिकारी, राजनेताओं और आमलोगो की भीड़ लगने लगी।

मीडियामोरचा परिवार की और से उन्हें श्रद्धांजलि

Go Back

Comment