मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

खबरों की भीड़ में ....!!

तारकेश कुमार ओझा //

खबरों की  भीड़ में , 

राजनेताओं का रोग है .

अभिनेताओं के टवीट्स हैं .

अभिनेत्रियों का फरेब है .

खिलाड़ियों का  उमंग है 

अमीरों की अमीरी हैं  . 

कोरिया - चीन है 

तो अमेरिका और पाकिस्तान भी है .

लेकिन इस भीड़ से गायब है वो आम आदमी 

जो  चौराहे पर  हतप्रभ खड़ा है . 

जो कोरोना से डरा हुआ तो  है लेकिन 

जिसे चिंता वैक्सीन की  नहीं 

यह जानने की  है ट्रेनें कब चलेंगी  , 

जो उसे उसकी मंजिल पर नहीं 

तो कम से कम वहां पहुंचा दे 

जहां उसे रोटी मिल सके . 

खबरों की भीड़ से 

बिल्कुल ही गायब है .

अस्पतालों की कतारों में  धक्के खाता 

वो आम आदमी 

जो सितारे भी बनाता है 

और सरकार भी ....

Go Back

Comment