मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts September 2015

मोर्चे पर मोर्चा ...!!

तारकेश कुमार ओझा  / बचपन में मैने ऐसी कई फिल्में देखी है जिसकी शुरूआत से ही यह पता लगने लगता था कि अब आगे क्या होने वाला है। मसलन दो भाईयों का बिछुड़ना और मिलना, किसी पर पहले अत्याचार तो बाद में बदला , दो जोड़ों का प्रेम और विलेनों की फौज... लेकिन अंत में जोड़ों की जीत।…

Read more

प्रेस की आज़ादी : जो सच बोलेंगे, मारे जाएंगे?

सीमा आज़ाद / कमेटी फॉर प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट’ के मुताबिक सन 2014 में पूरी दुनिया में कुल 221 पत्रकारों को जेल भेजा गया. 2013 में 211 और 2012 में 232 पत्रकारों को. इनमें से ज्यादातर सरकार की अलोकतांत्रिक नीतियों के खिलाफ और आंदोलनों के पक्ष में लिखने वाले पत्रकार हैं. यानी खतरा ऐसे प…

Read more

हिन्दी के आयोजनों को चश्मा उतार कर देखें

संदर्भ : दसवां विश्व हिन्दी सम्मेलन 

मनोज कुमार/ मध्यप्रदेश भारत का ह्दयप्रदेश है और हिन्दी के एक बड़ी पट्टी वाले प्रदेश के रूप में हमारी पहचान है। हिन्दी हमारे प्रदेश की पहचान है और लगातार निर्विकार भाव से हिन्दी में कार्य व्यवहार की गूं…

Read more

बरघाट में पत्रकार को धमकी

बालाघाट के संदीप कोठारी जैसा हश्र करने की कही बात!

सिवनी (साई)। बरघाट में एक निजी स्कूल संचालक के द्वारा एक पत्रकार को न केवल गंदी गंदी गालियां बकी, वरन उसका हश्र बालाघाट के संदीप कोठारी जैसा करने की ध…

Read more

पत्रकार अंजनी कुमार विशाल की स्मृति में श्रद्धांजलि संध्या कल

पटना। पं.अंजनी कुमार विशाल की पूण्य स्मृति में दिनांक 4 सितम्बर 2015 को कालिदास रंगालय, गांधी मैदान, पटना में श्रद्धांजलि संध्या का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर श्री विशाल जी द्वारा शब्द बद्ध किये गये गजलों का संग्रह ‘‘बंजारन मेरी गजल’’ के सुरमयी लोकार्पण के साथ उनके जीवन से जुडे़ चित्र प…

Read more

कारपोरेट मीडिया ने मेहनतकशों के हकहकूक के मुद्दों से किनारा कर लिया

संघ को तरजीह

एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास/ कारपोरेट मीडिया ने मेहनतकशों के हकहकूक के मुद्दों से किनारा कर लिया है।मजीठिया देने से परहेज करने वाले बड़े मीडिया घरानों की दिलचस्पी मेहनतकशों के हकहकूक में हो नहीं सकती क्योंक मीडिया …

Read more

हिंदी की फुल स्पीड...!!

तारकेश कुमार ओझा/ जब मैने होश संभाला तो देश में हिंदी – विरोध और समर्थन दोनों का मिला – जुला माहौल था। बड़ी संख्या में लोग हिंदी प्रेमी थे, जो लोगों से हिंदी अपनाने की अपील किया करते थे। वहीं दक्षिण भारत के राज्यों खास कर तामिलनाडु में इसके हिंसक विरोध की खबरें भी जब …

Read more

दैनिक जागरण के मुख्यमहाप्रबंधक, कार्मिक प्रबंधक और मार्केटिंग मैनेजर के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज

नोएडा/ मीडिया संस्थानों में गजब का खेल है। भले ही लोगों को कुछ दिखता हो,लेकिन इसकी हालत आम कारोवार की तरह है। मुनाफा की होड़ में हर तरह के हथकंडे अख्तियार किए जा रहे हैं। देश का नम्बर वन का दावा करनेवाला दैनिक जागरण अखबार में तरह —तरह का खेल हैं। मामला कार्यस्थल पर सम्मान का है।  फिलहाल इ…

Read more

रवीश कुमार सही में दलाल है

पत्रकारों को चुन कर एक नेता के विरोधी के रूप में पहचान की गई। दस बारह चुन लिये गए। बाकियों को समर्थक मान कर महान मान लिया गया। दस पत्रकारों को विरोधी बताने के लिए गाली देने वाली सेना लगी रही …

Read more

9 blog posts