मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts April 2016

"पीर मुहम्मद मूनिस पत्रकारिता पुरस्कार" से रवीश कुमार होंगे सम्मानित

साकिब ज़िया / पटना :हिकमत फाउण्डेशन की ओर से "पीर मुहम्मद मूनिस पत्रकारिता पुरस्कार-2016"की घोषणा कर दी गई है। पुरस्कार के लिए फाउण्डेशन की ओर से गठित निर्णायक मंडल ने एनडीटीवी के सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर रवीश कुमार का चयन किया है।…

Read more

आरक्षण पर राजनीतिक और सामाजिक विमर्श को सही दिशा देने में मीडिया चूक रहा

आरक्षण : सुधार की तरफ बढ़ें या बिगाड़ की तरफ

लोकेन्द्र सिंह/ आरक्षण पर दो बयान आए हैं, जिनके गहरे निहितार्थ हैं। यह बयान हैं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और सांसद चिराग पासवान के। चूँकि देश में पिछले कुछ स…

Read more

लोगों की फेसबुक पोस्ट ने बनाया लिखने का मूड

डॉ. भूपेन्द्र सिंह गर्गवंशी/ कई दिनों से लिखने का मूड बना रहा था परन्तु ऐसा सम्भव होता दिख नहीं रहा था। सोचा चलो अब लिखने से तौबा ही कर लिया जाए लेकिन फिर सोचने लगा कि जब तक जीना है लेखन तो करना ही पड़ेगा- ऐसा करके ही अपना अस्तित्व कायम रख पाऊँगा। फिर प्र…

Read more

प्रेस क्लब पत्रकार कल्याण आयोग का गठन हो

गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब ने मध्य  प्रदेश के पत्रकारों की समस्याओं को लेकर सरकार को भेजा ज्ञापन

छतरपुर। गणेश शंक…

Read more

लोकमत प्रबंधन को अदालत ने फिर दी पटखनी

लोकमत समाचारपत्र समूह ने नवंबर 2013 को बिना किसी कारण के 7 पत्रकारों सहित 61 कर्मचारियों को टर्मिनेट कर दिया था

नागपुर…

Read more

आईएसबीएन पोर्टल लांच

केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्रीमती स्‍मृति जुबिन ईरानी ने किया लांच, आईएसबीएन अब एक क्लिक दूर!

नई दिल्ली…

Read more

पत्रकार प्रसून लतांत लाला जगत ज्योति प्रसाद स्मृति सम्मान से सम्मानित

सज्जन कुमार गर्ग / मुंगेर। जानेमाने  पत्रकार  और जनसत्ता के महानगर संस्करण के संपादक प्रसून लतांत को मुंगेर के सूचना भवन में आयोजित समारोह में लाला जगत ज्योति प्रसादस्मृति सम्मान से सम्मानित किया गया। यह सम्मान लाला जगत ज्योति प्रसाद की 18 पुण्य तिथि पर दिय…

Read more

‘सेल्यूलॉयड मैन’ पीके नायर की देन नेशनल फिल्म आर्काइव ऑफ इंडिया

जन्मदिन 6 अप्रैल पर उनको याद करते हुए

मनोज कुमार/ 50 साल पहले लगभग-लगभग 32-35 साल का एक युवा बनाना तो फिल्में चाहता था लेकिन उसकी रूचि सिनेमा के इतिहास को संजोने की हुई. एक बड़े सपने को लेकर छोटी सी कोशिश करने वाले परमेश …

Read more

मीडिया का ज्यादातर हिस्सा खास पूर्वाग्रह से ग्रस्त


अरविंद शे। पहले रोहित वेमुला की सांस्थानिक हत्या और फिर कॉलेज में ही डेल्टा मेघवाल के बलात्कार और हत्या, इन दोनों मामलों में सो कॉल्ड मेनस्ट्रीम मीडिया का जो रुख रहा है, वह बिल्कुल हैरान नहीं करता। बल्कि वह ठीक ही कर रहा है। हाल के दिनों में इस सो कॉल्ड मेनस्ट्रीम मीडिया की विश्…

Read more

कल्लू मामा जिंदाबाद

समीक्षक - आरिफा एविस / सोशल मीडिया पर एक चरित्र “कल्लू मामा” रोज आता है बिंदास किसी की परवाह किये बिना लिखता है तब मैंने इस कल्लू मामा को समझने की कोशिश की .... हालाँकि मैंने आज तक इनको न देखा है न सुना बस फेसबुक पर ही पढ़ा है.....तब मैंने व्यंग्यकार सुभास चंदर का …

Read more

बिना डिग्री डिप्लोमा के नहीं निकाल पाएंगे अखबार

इस समय आरएनआई में पंजीकृत 90 प्रतिशत मुद्रकों के पास पत्रकारिता की योग्यता नहीं, फर्जी पत्रकारों की मश्कें कसने की तैयारी में भी सरकार…

Read more

तब सम्पादक की जरूरत ही क्यों है

लगभग सभी पत्र-पत्रिकाओं में ‘‘टेग लाइन‘‘ होती है- ‘‘यह लेखक के निजी विचार हैं

मनोज कुमार/ इस समय की पत्रकारिता को सम्पादक की कतई जरूरत नहीं है। यह सवाल …

Read more

12 blog posts