मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts August 2018

इण्डिया टी वी से इसलिए है प्यार...

रामजी तिवारी/ मुझे इण्डिया टी वी से प्यार है । उनके कार्यक्रमों "कद्दू में हनुमान" और "तीन बार क्यों रोये सलमान" का मैं पुराना फैन रहा हूँ । "गाय का दूध पीते है एलियन" और "लाल किले का लाल भूत" जैसी कई मास्टरपीस प्रस्तुतियां मेरे जेहन में अब भी बसी हुयी हैं ।…

Read more

मीडिया का बलात्कार

खबर को लिखने वाला पत्रकार खुद उस मानसिकता का शिकार नहीं?

प्रेमेन्द्र मिश्र/ ये है मिडिया का बलात्कार .. ये है गिरती पत्रकारिता ... एक महिला के बदन के लिए कितने गंदे शब्द इस्ते…

Read more

भयानक है यह चुप्पी !

मीडिया की नाक में नकेल डाले जाने का सिलसिला पिछले कुछ सालों से नियोजित रूप से चलता आ रहा है

क़मर वाहिद नक़वी। एबीपीन्यूज़ में पि…

Read more

पुण्य प्रसून वाजपेयी के मास्टर स्ट्रोक से डरी सरकार ?

मैनेजिंग एडिटर मिलिंद खांडेकर, पुण्य प्रसून वाजपेयी के बाद अभिसार शर्मा का भी इस्तीफा

पिछले कुछ दिनों से देश के प्रमुख समाचार चैनल ABP न्यूज में भारी उथल प…

Read more

स्त्री चेतना को जगाती कविताएं

एम अफसर खान 'सागर'/ सुहैल मेरे दोस्त उषा राय की पहली कविता संग्रह है। कुल चौव्वालीस (44) कविताओं का यह संग्रह स्त्री जीवन के विभिन्न रूपों को दर्शाती है, जिसमें करुणा, आक्रोश, ममता, दया और यथार्थ शामिल है। इसके साथ इस संग्रह में सामाजिक, पारिवारिक विद्रूपताओं के सरोकार भी प…

Read more

5 blog posts