मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts : "feature General whatsapp खबर जानकारी पत्रिका पुस्तक समीक्षा पुस्तिका मीडिया पुस्तक समीक्षा मुद्दा विविध खबरें व्यंग्य संस्मरण सम्‍मान साहित्य सिनेमा"

आईआईएमसी के महानिदेशक बनाए गए संजय द्विवेदी

नई दिल्ली/ प्रोफेसर संजय द्विवेदी को बुधवार को भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया. कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश में यह जानकारी दी गई. आदेश में कहा गया कि कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने तीन साल की अवधि के लिए सीधी नियुक्ति के आधार पर आईआईएमसी के डीजी के तौर प…

Read more

पीटीआई को सरकारी धमकी

डॉ. वेदप्रताप वैदिक/ प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) देश की सबसे पुरानी और सबसे प्रामाणिक समाचार समिति है। मैं दस वर्ष तक इसकी हिंदी शाखा ‘पीटीआई—भाषा’ का संस्थापक संपादक रहा हूं। उस दौरान चार प्रधानमंत्री रहे लेकिन किसी नेता या अफसर की इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह फोन क…

Read more

कोविड से किताबों को खतरा

प्रमोद रंजन / कोविड : 19 ने  किताबों के बाजार को गहरा धक्का पहुंचाया है। इसका अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि  वैश्विक स्तर पर 2019 में किताबों का बाजार $ 92.8 बिलियन डालर का था | 2020 में इसके घटकर $ 75.9 बिलियन  डालर रह जाने की उम्मीद है।…

Read more

लालू यादव पर ई बुक का विमोचन कल

फिर से नए रूप में 

नब्बे के दशक में यह एक शोध पुस्तक की शृंखला में प्रकाशित हुई थी .जिसमें लालू यादव पर अंबरीश कुमार ने लिखा .तब लालू की धमक भी थी .इस पुस्तक का तब वीपी सिंह को विमोचन करना था पर अचानक उनकी तबियत बिगड़ने पर मुख्य अतिथि कांशीराम ने इसका और अन्य पुस्तकों का…

Read more

पत्रकारिता की पढ़ाई में एक ‘एच’ और शामिल किया जाए

पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ऑनलाइन व्याख्यानमाला ‘स्त्री शक्ति संवाद’ में मीडिया प्राध्यापक डॉ. वर्तिका…

Read more

टीवी मीडिया में विश्वसनीयता का संकट बढ़ता जा रहा है

पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ऑनलाइन व्याख्यानमाला ‘स्त्री शक्ति संवाद’ में वरिष्ठ टीवी न्यूज एंकर सुश्री नगमा सहर ने रखे विचार  …

Read more

मीडिया में लोक संस्कृति का भी हो प्रमुख स्थान

पद्मश्री से सम्मानित प्रख्यात लोक गायिका श्रीमती मालिनी अवस्थी ने ‘लोक संस्कृति और मीडिया’ पर रखे अपने विचार, 19 जून को ‘टीवी न्यूज का भविष्य’ विषय पर चर्चा करेंगी न्यूज एंकर एवं पत्रकार सुश्री नगमा सहर…

Read more

यही तो है टी वी चैनल्स की 'गिद्ध पत्रकारिता'

निर्मल रानी/ हालांकि गत 28 मई को सुप्रीम कोर्ट में लॉकडाउन के कारण देशभर में फंसे मज़दूरों की दुर्दशा पर सुनवाई के दौरान, सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था कि कुछ ‘क़यामत के पैग़ंबर’ हैं जो नकारात्मकता फैलाते रहते हैं. उन्होंने ये भी कहा था कि “सोफ़े में…

Read more

पत्रकारिता विश्वविद्यालय की ऑनलाइन व्याख्यानमाला ‘स्त्री शक्ति संवाद’ 18 जून से

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर प्रतिदिन शाम 4:00 बजे विभिन्न क्षेत्रों की प्रसिद्ध महिलाएं रखेंगी अपने विचार…

Read more

शिक्षण प्रणाली को लोकतान्त्रिक बना रहे हैं ऑनलाइन माध्यम : प्रो. संजय द्विवेदी

एमपी पोस्ट के फेसबुक लाइव  में माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा डिजिटल मीडिया में असीम संभावनाएं…

Read more

जम्मू-कश्मीर पर अपना दृष्टिकोण बदले मीडिया

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के ‘कुलपति संवाद’ ऑनलाइन व्याख्यानमाला के समापन सत्र में हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री ने ‘जम्मू-कश्मीर और मीडिया दृष्टि’ विषय पर रखे विचार…

Read more

‘मेड इन इंडिया’ के भ्रम में न पड़ें, ‘मेड बाइ भारत’ उत्पाद खरीदें

पत्रकारिता विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित ‘कुलपति संवाद’ व्याख्यानमाला में ‘आत्मनिर्भर भारत : प्रभावी रीति-नीति’ विषय पर प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा ने रखे विचार, 15 जून को ‘जम्मू-कश्मीर और मीडिया दृष्टि’ विषय पर हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कुलदीप चन्द अग्निहोत्री का व्याख्यान…

Read more

पत्रकार कवियों ने बहाई काव्य धारा

साहित्यिक संस्था "विन्यास साहित्य मंच" के तत्वावधान में ऑनलाइन काव्य-गोष्ठी-6 संपन्न, मीडियमोरचा पत्रिका की संपादक डॉ लीना …

Read more

कोरोना के बाद बदला जा सकता है भारत के ‘ब्रेन ड्रेन’ को ‘ब्रेन रेन’ में

एमसीयू की ‘कुलपति संवाद’ व्याख्यानमाला में ‘'सूचना प्रौद्योगिकी और आत्मनिर्भर भारत’ विषय पर प्रो. राज नेहरू ने रखे विचार, 14 जून को शाम 4:00 बजे ‘आत्मनिर्भर भारत : प्रभावी रीति नीति’ विषय पर प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा का व्याख्यान…

Read more

स्त्री मुद्दों को जनांदोलन बनाये मीडिया

‘कुलपति संवाद’ व्याख्यानमाला में ‘मीडिया में स्त्री मुद्दे’ विषय पर प्रो. आशा शुक्ला ने रखे विचार, 13 जून को ‘सूचना प्रौद्योगिकी और आत्मनिर्भर भारत’ विषय पर प्रो. राज नेहरू का व्याख्यान…

Read more

पत्रकारिता और साहित्य में आवश्यक है लोकमंगल

‘कुलपति संवाद’ व्याख्यानमाला में ‘साहित्य और पत्रकारिता’ विषय पर प्रो. सुरेन्द्र दुबे ने रखे विचार, 12 जून को शाम 4:00 बजे ‘मीडिया में स्त्री मुद्दे’ विषय पर डॉ. आशा शुक्ला का व्याख्यान…

Read more

सच जानने के हमारे अधिकार को किस एक्ट के तहत बाधित किया गया है?

.... ये वही मीडिया संस्थान थे, जिन्होंने डब्लूएचओ द्वारा दी गई मानवाधिकारों का ख्याल रखने की सलाह को प्रकाशित करने से परहेज किया था...…

Read more

गांधीजी ने किया अंतिम व्यक्ति तक संवाद

‘कुलपति संवाद’ व्याख्यानमाला में ‘संचारक के रूप में गांधीजी’ विषय पर प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल ने रखे विचार, 11 जून को शाम 4:00 बजे ‘साहित्य और पत्रकारिता’ विषय पर प्रो. सुरेन्द्र दुबे का व्याख्यान…

Read more

विनोद दुआ के खिलाफ प्राथमिकी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर प्रहार

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने पत्रकारों के खिलाफ मामूली आरोपों पर पुलिस द्वारा संज्ञान लिए जाने की ‘‘बढ़ती प्रवृत्ति’’ पर गंभीर चिंता जताई …

Read more

भारत में लॉकडाउन और पत्रकारिता

प्रमोद रंजन/  लॉकडाउन में नागरिकों के दमन की ख़बरें सबसे ज्यादा केन्या व अन्य अफ्रीकी देशों से आई थीं। उस समय ऐसा लगा था कि भारत का हाल बुरा अवश्य है लेकिन उन गरीब देशों की तुलना में हमारे लोकतंत्र की जड़ें गहरी हैं। हमें उम्मीद थी कि हमारी सिविल सोसाइटी, जो कम से कम हमारे शहरों…

Read more

20 blog posts