मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

आज एंकर ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को मौत के घाट उतार दिया!

कुमोद कुमार/ डीएनए वाले सुधीर चौधरी, रिपब्लिक टीवी वाले अर्णव गोस्वामी से भी आज आगे कोई निकला तो "आज-तक" न्यूज़ चैनल की "हल्ला बोल" शो करने वाला गेस्ट एंकर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा। आज देश के बड़े मीडिया चैनल को टीआरपी के लिए मरते और बिकते देखा। जब एंकर कह रहा हो कि आज तो मैं एक तटस्थ एंकर हूँ। और वह यह भी कहता है कि “लेकिन समझ नहीं आता कि कांग्रेस हमारे प्रधानमंत्री से क्यों इतना नफरत करती है।“  जब एंकर को कांग्रेस प्रवक्ता कह रहा हो कि “आपके नेताओं ने"।

तो टीवी देखने वाले दर्शक आप ही बताये आप क्या सोचेंगे और कहेंगे?

मीडिया को चौथे स्तंभ कहने वाले संबित पात्रा ने कैसे आज पत्रकारिता को मौत के घाट उतार दिया! आज तक न्यूज़ चैनल की हल्ला बोल एंकर अंजना ओम कश्यप चैनल की टीआरपी के लिए सामने बैठकर मूकदर्शक बनी रही।। क्या आज का इलेक्ट्रॉनिक मीडिया टीआरपी के लिए इतना हद तक जायेगा? तो फिर पत्रकार और पत्रकारिता जगत में आने वाले युवाओं के अंदर कितनी निष्पक्षता की भावना बचेगी?

शनिवार को शाम 6 बजे "आज-तक" न्यूज़ चैनल पर हल्ला बोल के स्पशेल शो के कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि मैं आज एंकर बना हूँ, इसलिए मेरा प्रधानमंत्री मत कहिए, अखिलेश जी। कार्यक्रम का मुद्दा था "2019 में मोदी के सामने कौन" इस पैनल में डिबेट करने के लिए चार गेस्ट बुलाये गए थे। समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता घनश्याम तिवारी, जेडीयू के प्रवक्ता अजय आलोक, बीजेपी के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी और कांग्रेस की ओर से प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह।

इसी बीच कांग्रेस की ओर से अपना पक्ष रख रहे प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि आपके प्रधानमंत्री ने देश के युवाओं को बरगलाने की कोशिश की हैं तो फिर कैसे 2019 में फिर से प्रधानमंत्री बन सकते हैं?

इस डिबेट में देखा गया कि गेस्ट एंकर संबित पात्रा के कैसे केंद्र और राज्यों में बीजेपी की  मौजूदा सरकार के पक्ष में अपनी एंकरिंग के माध्यम से सरकार की बात रख रहे थे। एंकर की कुर्सी थामने से पहले की अंजना ओम कश्यप ने गेस्ट एंकर संबित पात्रा को पत्रकारिता की शपथ दिलाई कि आज आप "हल्ला बोल" के स्पेशल शो में आप एक गेस्ट एंकर के तरह सभी प्रवक्ताओं को एक-एक कर बोलने का मौका देंगे। एक पत्रकार के नाते इस डिबेट को पूरी तरह निष्पक्षता के साथ हैंडल करेंगे। लेकिन ऐसा देखने को बहुत कम मिला।

पूरे डिबेट में विपक्षी पार्टियों के प्रवक्ता पर गेस्ट एंकर संबित पात्रा पूरी तरह हावी नज़र आये और मौजूदा केंद्र के मोदी सरकार के किये वादे और कामों को गिनाया।

संबित पात्रा की एंकरिंग से फिर साबित हुआ कि आज इलेक्ट्रॉनिक मीडिया टीआरपी के लिए नेताओं को एक गेस्ट एंकर बनाने से लेकर श्री देवी की मौत पर बाथटब से लाइव रिपोर्टिंग करके टीआरपी स्तम्भों में तब्बील होता जा रहा हैं।

संबित पात्रा की इस अप्रत्याशित हरकत से पूरा देश सकते में है। लोग समझ नही पा रहे हैं कि जो दस से पंद्रह बरस में कभी नहीं हुआ वो आज संबित पात्रा से कैसे हो गया।

कुमोद कुमार युवा पत्रकार हैं 

Go Back

Comment