मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts : "General"

हत्यारों को कठघरे में कौन खड़ा करेगा?

पुण्य प्रसून बाजपेयी / तो गौरी लंकेश की हत्या हुई। लेकिन हत्या किसी ने नहीं की। यह ऐसा सिलसिला है, जिसमें या तो जिनकी हत्या हो गई उनसे सवाल पूछा जायेगा, उन्होंने जोखिम की जिन्दगी को ही चुना। या फिर हमें कत्ल की आदत होती जा रही है क्योंकि दाभोलकर, पंसारे, कलबुर्गी …

Read more

गौरी लंकेश का आख़िरी संपादकीय हिन्दी में

इस बार का संपादकीय फेक न्यूज़ पर था और उसका टाइटल था- फेक न्यूज़ के ज़माने में

रवीश कुमार/ गौरी लंकेश नाम है पत्रिका का। 16 पन्नों की यह पत्रिका हर हफ्ते निक…

Read more

पत्रकारों का बलिदान !

रिजवान चंचल / जोखिम उठाकर खबर देने वाले खबरनवीस पहले भी खबर बनते रहें हैं और आज भी खबर बन रहे हैं .किसी का पैर तोड़ दिया जा रहा है तो किसी के सिर में तलवार घोंप दी जा रही है, कहीं कैमरे तोड़ दिए जा रहें हैं तो कहीं ओबीवैन तक आग के हवाले कर दी जा रही हैं, गोली खाने वालों की फेहरिस…

Read more

पत्रकारिता में भी 'राष्ट्र सबसे पहले' जरूरी

लोकेन्द्र सिंह/ मौजूदा दौर में समाचार माध्यमों की वैचारिक धाराएं स्पष्ट दिखाई दे रही हैं। देश के इतिहास में यह पहली बार है, जब आम समाज यह बात कर रहा है कि फलां चैनल/अखबार कांग्रेस का है, वामपंथियों का है और फलां चैनल/अखबार भाजपा-आरएसएस की विचारधारा का है। समाचार माध्यमों को…

Read more

क़तरनों में छिपी अर्थव्यवस्था की गिरावट की ख़बरें

रवीश कुमार/ बिजनेस अख़बारों में एक चीज़ नोटिस कर रहा हूं। अर्थव्यवस्था में गिरावट की ख़बरें अब भीतर के पन्नों पर होती हैं। कोर सेक्टर में आई गिरावट की ख़बर पहने पन्ने पर छपा करती थी लेकिन इसे भीतर सामान्य ख़बर के तौर पर छापा गया था।…

Read more

क्या प्रभाष जोशी होने के लिए रामनाथ गोयनका चाहिए?

ये पुस्तक जीवनी कम पत्रकारीय समझ पैदा करते हुये अभी के हालात को समझने की चाहे अनचाहे एक ऐसी जमीन दे देती है, जिस पर अभी प्रतिबंध है…

Read more

तेजस्‍वी के इस्‍तीफे के लिए ‘बेहाल’ है मीडिया

वीरेन्द्र कुमार यादव/ पटना/ उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव के इस्‍तीफे को लेकर बिहार का मीडिया बेहाल है। इस्‍तीफे के कारण और परिणाम गिनाये जा रहे हैं। विधायकों की संख्‍या और उनकी जाति की गिनती हो रही है। सत्‍तारूढ़ जदयू ने सिर्फ सहयोगी पार्टी को आरोपों को ले…

Read more

साठ साल में पहली बार प्रेस क्लब से गिरफ्तारी !

अंबरीश कुमार/ लखनऊ/ वर्ष 1968 में लालबाग क्षेत्र में ' चाइना गेट ' नाम का जो भवन यूपी प्रेस क्लब को सरकार ने दस साल की लीज पर दिया उसमे पहली बार पुलिस ने प्रवेश कर एक पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी ,प्रोफ़ेसर रमेश दीक्षित समेत आठ लोगों को सोमवार को  गिरफ्तार किया . प्रेस क्…

Read more

नेशनल हेराल्ड से उम्मीद जगी

12 जून को बंगलुरु में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में इसके संस्मरणीय संस्करण का लोकार्पण किया गया…

Read more

परिवर्तन, प्रयोग और भ्रमण पत्रकार को आगे बढ़ाते हैं: विष्णु पंडया

श्री पंडया का गुजरात साहित्य परिषद द्वारा संचालित पत्रकारिता के विद्यार्थियों ने किया सम्मान

अहमदाबाद/  गुजरात साहित्य अकाद…

Read more

राहुल देव को पत्रकारिता का सर्वोच्च सम्मान

दिल्ली / देश के प्रतिष्ठित गणेश शंकर विद्यार्थी पत्रकारिता पुरस्कार से राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के हाथों आज दिल्ली में प्रसिद्ध पत्रकार राहुल देव को सम्मानित किया गया। …

Read more

“भूचाल तो सिर्फ मीडिया में है

खबर से ज्‍यादा बिकता है ‘खबरों का लालू ब्रांड’ 

वीरेंद्र यादव / ‘बिहार का मीडिया बेचैन है। चिंता सरकार गिरने,‍ गिराने और बचाने की है। पत्रकार कुछ नया देने को हलकान हैं। इस पार्टी से उस पार्टी, इस …

Read more

स्वतंत्र एवं जीवंत प्रेस लोकतंत्र के लिए अहम: मोदी

आज विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस

नयी दिल्ली/ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्र एवं जीवंत प्रेस को लोकतंत्र के लिए अहम बताया है। विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर अपने संदेश में उन्होंने कहा कि आज का दिन स्वतंत्र एवं जीवंत प्रेस …

Read more

ह्दयनारायण दीक्षितः राजपथ पर एक बौध्दिक योद्धा

संजय द्विवेदी/ वे हिंदी पत्रकारिता में राष्ट्रवाद का सबसे प्रखर स्वर हैं। देश के अनेक प्रमुख अखबारों में उनकी पहचान एक प्रख्यात स्तंभलेखक की है। राजनीतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक विषयों पर चल रही उनकी कलम के मुरीद आज हर जगह मिल जाएंगें। उप्र के उन्नाव जिले में जन्में श्री ह्दयन…

Read more

अलविदा पत्रकारिता, अब कोई प्रतिक्रिया नहीं!

क्या सचमुच बाजार में विचार और सपने प्रतिबंधित हैं ? उम्मीद है पलाश विश्वास जी अलविदा नहीं कहेंगे और उनकी प्रतिक्रियाएं हमसब तक पहुँचती रहेंगी- लीना; संपादक, मीडियामोरचा…

Read more

एंकर के जज्बे को हर कोई कर रहा सलाम

लाइव बुलेटिन में सुप्रीत कौर ने पढ़ी अपने ही पति की मौत की खबर

रायपुर के प्राइवेट चैनल आईबीसी 24 की एंकर सुप्रीत कौर के जज्बे को हर कोई सलाम कर रहा है. …

Read more

समाज की सही तस्वीर मीडिया में आनी चाहिए: उपेंद्र कुशवाहा

संजय कुमार ने अपनी पुस्तक "मीडिया: महिला, जाति और जुगाड़" श्री कुशवाहा को भेंट की

पटना। रालोसपा की ओर से आयोजित बसंतोस्व के दौरान केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री औ…

Read more

मीडिया में यादव पत्रकारों की संख्‍या बढ़ी

वीरेंद्र कुमार यादव/ पटना / मीडिया का सामाजिक चेहरा काफी तेजी से बदल रहा है। ब्राह्मण और कायस्‍थ आधिपत्‍य वाला मीडिया अब राजपूतोन्‍मुखी हो गया है। इसमें भूमिहारों ने भी अपनी पहचान की लंबी लड़ाई लड़ी है। हिन्‍दी और अंग्रेजी मीडिया में मुसलमानों का प्रतिनिधित्…

Read more

रवीश कुमार पर कुछ पत्रकारों के हमले से जलन की बू

राजेश कुमार / टीवी एंकर रवीश कुमार के भाई पर यौन शोषण का आरोप क्या लगा मानों कुछ गुमनाम पत्रकारों को अपने नाम को सुर्खियों में लाने का मौका मिल गया. रवीश कुमार पर इन पत्रकारों के हमले से मुझे जलन की बू आ रही है. वो इसलिए कि शायद रवीश के साथ जिन पत्रकारों ने अपना सफर तय किया था उन…

Read more

दुनिया में हर जगह है सोशल मीडिया की पहुंच: अखिलेन्द्र मिश्रा

इसका दुरुपयोग रोकने के लिए सरकार को बनाना चाहिए सख्त नियम

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता और निर्देशक अखिलेन्द्र मिश्रा से मीडियामोरचा के ब्यूरो प्रमुख साकिब ज़िया की खास बातचीत …

Read more

20 blog posts