Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

रेडियो प्रसारण का निजीकरण

जन मीडिया का अक्टूबर, 2021 अंक

डॉ लीना/ संचार, माध्यम और पत्रकारिता की पूर्व समीक्षित मासिक पत्रिका जन मीडिया ने अपने खास अंदाज और तेवर के साथ अक…

Read more

न्यू इंडिया के स्वप्नदृष्टा थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस : प्रो. संजय द्विवेदी

'आजाद हिंद फौज' के 78वें स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर कार्यक्रम में बोले आईआईएमसी के महानिदेशक …

Read more

पत्रकार भी मारा गया है

लखीमपुर / लखीमपुर में अंधाधुंध भाग रही गाड़ियों ने केवल किसानों को ही नहीं कुचला है, एक पत्रकार भी शहीद हुए हैं।

लखीमपुर घ…

Read more

View older posts »

सोशल मीडिया से --

विदेश में भी भारत के पत्रकार चाटुकारिता के सारे कीर्तिमान ध्वस्त कर रहे

गिरीश मालवीय। मीडिया की छवि देश में तो गोदी में बैठे मीडिया की बन ही गयी है पर अब तो विदेश में भी भारत के पत्रकार बेहयाई ओर चाटुकारिता के सारे कीर्तिमान ध्वस्त कर रहे हैं.जना ओम मोदी कल जबरदस्ती यूएन में तैनात स्नेहा दुबे नाम की अधिकारी जिन्होंने दो दिन पहले यूएन के सम्मेलन म…

Read more

View older posts »

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

राष्ट्रीय सुरक्षा में मीडिया की अहम भूमिका: कैप्टन बंसल

आईआईएमसी द्वारा सैन्य अधिकारियों के लिए आयोजित मीडिया संचार पाठ्यक्रम का समापन समारोह संपन्न

नई दिल्ली। ''विश्व के तमाम देश आतंकवाद की समस्या से जूझ रहे हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। मीडियाकर्मियों सहित हम सभी की यह जिम्मेदारी है कि भारत विरोधी ताकतें हमारे देश के खिलाफ मीडिया का दुरुपयो…

Read more

डिजिटल प्रसार भारती को दक्षिणी भारत में प्रोत्साहन

डीडी चंदना के यूट्यूब पर 10 लाख से अधिक सब्सक्राइबर्स

गुणवत्तापूर्ण सामग्री और डिजिटल-प्रथम दृष्टिकोण के आधार पर भारत के दक्षिणी क्षेत्र से प्रसार भारती के डिजिटल प्लेटफॉर्म ने कुछ ही वर्षों में लंबा सफर तय कर लिया  है। इस बीच, डीडी चंदना (कर्नाटक) यूट्यूब पर 10 लाख सब्सक्राइबर्स बनाकर मील का पत्थर हासिल करने वाला क्षेत्र का पहला चैनल बन गया है और डीडी सप्तगिरी (आंध्र प्रदेश) तथा डीडी यादगिरी (तेलंगाना) तेजी स…

Read more

ज़िम्मेदारी व समय की मांग है 'सिटिज़न जर्नलिज़्म'

डॉ. पवन सिंह मलिक/ सिटिज़न जर्नलिज़्म शब्द जिसे हम नागरिक पत्रकारिता भी कहते है आज आम आदमी की आवाज़ बन गया है। यह समाज के प्रति अपने कर्तव्य को समझते हुए, संबंधित विषय को कंटेंट के माध्यम से तकनीक का सहारा लेते हुए अपने लक्षित समूह तक पहुंचाने का एक ज़ज्बा है। वर्तमान में नागरिक पत्रकारिता कोई नया शब्द नहीं रह गया है बल्कि आज इस विधा से न जाने कितने ही लोग अपनी सशक्त भूमिका को निभाते हुए दिखाई देते है। आज नागरिक पत्रकारिता के माध्यम से किये गये प्रयासों से अनेकों सकारात्मक …

Read more

'डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन' को चला रहे हैं 4 'C' : प्रो. संजय द्विवेदी

आईआईएमसी के नवागत विद्यार्थियों से महानिदेशक ने किया संवाद

नई दिल्ली। ''समय के साथ मीडिया की भूमिका बदली है। आज पारंपरिक मीडिया स्वयं को डिजिटल मीडिया में परिवर्तित कर रहा है। इस 'डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन' को अगर कोई चला रहा है, तो वो चार 'C' हैं । इन चार 'C' का मतलब है, Content (कंटेट), Communication (कम्युनिकेशन), Commerce (कॉमर्स) और Context (कॉन्टेक्स्ट)। जब ये चारों 'C' मिलत…

Read more

जनसंवाद कला के जानकार थे गांधी : प्रो. भारद्वाज

गांधी जयंती की पूर्व संध्या पर आईआईएमसी में विशेष व्याख्यान का आयोजन

नई दिल्ली । ''महात्मा गांधी जनता से संवाद की कला के सबसे बड़े जानकार थे। उनके हर आंदोलन की बुनियाद में अपनी बात को कह देने और सही व्यक्ति तक उसको पहुंचा देने की क्षमता की सबसे प्रमुख भूमिका थी। संवादहीनता को खत्म करने के लिए हम सभी को गांधी के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।'' यह विचार गांधी भवन, दि…

Read more

जम्मू कश्मीर के पत्रकारों के उत्पीड़न के आरोपों की जांच कराएगी प्रेस परिषद

नई दिल्ली/ जम्मू कश्मीर के पत्रकारों के उत्पीड़न के आरोपों की भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) जांच कराएगी। प्रेस परिषद ने जम्मू कश्मीर में पत्रकारों के उत्पीड़न और डराने धमकाने के आरोपों को स्वतः संज्ञान में लेते हुए इसकी जांच के लिए एक तीन सदस्यीय तथ्यान्वेषी दल का गठन किया है। …

Read more

डिजिटल दुनिया में होगा हिंदी का राज : प्रो. कुमुद शर्मा

भारतीय जन संचार संस्थान में हिंदी पखवाड़े का समापन, 'डिजिटल दुनिया में हिंदी का भविष्य' विषय पर वेबिनार का आयोजन

नई दिल्ली । ''दुनिया के विभिन्न देशों में हिंदी के प्रति लोगों का झुकाव बढ़ रहा है। इसलिए जरूरी है कि हिंदी को समृद्ध और सशक्त बनाने की दिशा में प्रयास किए जाएं। इसके लिए हिंदी को अन्य भ…

Read more

भारतीय मीडिया इस अपमान का प्रतिकार भी नहीं कर सकता!

रवीश कुमार। ट्रंप के बाद अब बाइडन के सामने भी गोदी मीडिया को लेकर अपमानित होना पड़ा मोदी को. "मुझे लगता है कि वे प्रेस को यहां लाने जा रहे हैं। भारतीय प्रेस अमरीकी प्रेस की तुलना में कहीं ज़्यादा शालीन है। मैं सोचता हूं, आपकी अनुमति से भी, हमें सवालों के जवाब नहीं देने चाहिए क्योंकि वे बिन्दु पर सवाल नहीं करेंगे"…

Read more

संचारीभावों में छिपा है भावाभिव्यक्ति का पूरा रहस्य

मगाकेंविः भरतमुनि संचार शोध केंद्र में संचार सूत्रों की उपादेयता पर वेब संगोष्ठी, कुलपति ने मीडिया के छात्रों के कौशल विकास पर दिया जोर, विभाग की सराहना की

मोतिहारी/ महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के मीडिया अध्ययन विभाग से …

Read more

अभिव्यक्ति का शानदार मंच सिटिज़न जर्नलिज्म

अनिता गौतम/ सिटिज़न जर्नलिज़्म, यह सिर्फ शब्द भर नहीं बल्कि व्यक्ति समाज, देश और दुनिया की जरूरत है। इस अंग्रेजी शब्द का मूल अनुवाद संभवतः नागरिक पत्रकारिता हो परंतु अलग अलग आयाम में फिट बैठता यह शब्द आम अवाम की मजबूत आवाज बन चुका है। देश दुनिया की राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक, धार्मिक और भौगोलिक बदलाव को तकनीक के सहारे अति शीघ्र बहुत बड़े समूह तक पहुचाने का सशक्त माध्यम है यह सिटिज़न जर्नलिज्म।…

Read more

दीनदयाल उपाध्याय: भारतीय पत्रकारिता के पुरोधा

25 सितंबर, जयंती पर विशेष  

पवन सिंह मलिक/ किसी ने सच ही कहा है कि कुछ लोग सिर्फ समाज बदलने के लिए जन्म लेते हैं और समाज का भला करते हुए ही खुशी से मौत को गले लगा लेते हैं। उन्हीं में से एक नाम है दीनदयाल उपाध्याय का। जिन्होंने अपनी पूरी जिन्दगी समाज के लोगों को ही समर्पित कर दी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय को साहित्य से एक अलग ही लगाव था, शायद इसलिए दीनदयाल उपाध्याय अपनी तमाम ज़िन्दगी साहित्य से जुड़े रहे।  उनके हिंदी और अंग्रेजी के लेख व…

Read more

पूर्वोत्तर में खूब बढ़ रहा प्रसार भारती का डिजिटल नेटवर्क

नई दिल्ली/ भारतीय डिजिटल मीडिया उद्योग में प्रसार भारती के डिजिटल नेटवर्क ने सिर्फ राजस्व आधारित विकास नहीं किया है बल्कि समावेशी विकास पर ध्यान केंद्रित करके एक विशेष जगह बनाई है। डिजिटल दुनिया में भी लोक प्रसारक जनता की सेवा करते हुए, प्रसार भारती के पूर्वोत्तर के दूरस्थ क्षेत्रों में डिजिटल प्लेटफॉर्म ने यू-ट्यूब पर 220 मिलियन से अधिक बार देखे जाने और 1 मिलियन से अधिक सब्सक्राइबर्स को एक साथ जोड़कर महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं।…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »

आपकी उपस्थिती

4294281

बहस--

नामवर की मानसिकता और पिछड़ों के नामवर

कैलाश दहिया/ हिंदी साहित्य में आजकल एक चलन हो गया है, अगर कोई पुरस्कार लेना हो या नाम कमाना हो तो डॉ. धर्मवीर का विरोध करना शुरू कर दो। दलितों के साथ-साथ पिछड़ों में भी यह प्रथा पि…

Read more

View older posts »

पुरालेख--

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पत्रकारिता : एक नजर

वेब पत्रकारिता का चमकता भविष्य

अर्पण जैन "अविचल"/  सूचना और संचार क्रांति के दौर में आज प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के बीच वेब पत्रकारिता का चलन तेजी से बढ़ा है और अपनी पहचान बना ली है. अखबारों की तरह बेव पत्र और पत्रिकाओं का जाल, अंतरजाल पर पूरी तरह बिछ चुका है. छोटे-बड़े हर शहर से अमूमन बेव पत्रकारिता संचालित हो रही है. छोटे-बड़े सभी शहरों के प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया भी वेब पर हैं. इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में थोड़े ही समय मे…

Read more

View older posts »

राष्ट्रीय सुर्खियां--

Content