Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

तुगलक पत्रिका के संस्‍थापक सम्‍पादक चो रामास्‍वामी का निधन

चेन्‍नई/ राजनीतिक व्‍यंग्‍यकार और तुगलक पत्रिका के संस्‍थापक सम्‍पादक चो रामास्‍वामी का आज सवेरे चेन्‍नई के एक अस्‍पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 82 वर्ष के थे। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राज्‍यसभा सदस्‍य रामास्‍वामी पिछले कुछ दिनों से बीमार थे और अस्‍पताल में भर्ती थे। वे तमिलनाडु की पूर्व मुख्‍यमंत्री जे जयललिता के सलाहकार थे।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने चो रामास्‍वामी के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है। एक ट्वीट में श्री मोदी ने कहा कि बहुआयामी व्‍यक्तित्‍व के स्‍वामी, प्रखर बुद्धिजीवी,महान राष्‍ट्रवादी और निर्भीक पत्रकार चो रामास्‍वामी आदर और प्रशंसा के पात्र थे। वित्‍तमंत्री अरुण जेटली ने टवीट कर कहा है कि रामास्‍वामी एक असाधारण राजनीतिक विश्‍लेषक और राष्‍ट्रवादी लेखक थे।  

सूचना और प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू ने चो रामास्वामी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। अपने ट्वीट संदेश में श्री नायडू ने कहा कि श्री रामास्‍वामी एक महान देशभक्त, पत्रकार, कमेंटेटर और राष्ट्रवादी थे । श्री नायडू ने कहा कि वे उनके अच्‍छे मित्र थे।

सूचना और प्रसारण राज्‍यमंत्री  राज्‍यवर्धन राठौड़ ने चो रामास्‍वामी को निर्भीक सम्‍पादक, चरित्र निर्माता और प्रखर बुद्धि का बताया।

राज्‍यसभा सांसदों ने चो एस रामास्‍वामी को श्रद्धांजलि दी।  सभापति हामिद अंसारी ने शोक प्रस्‍ताव में कहा कि रामास्‍वामी के निधन से देश ने एक प्रख्‍यात पत्रकार,लेखक और योग्‍य सांसद खो दिया है।

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना