Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

फोटो सूचना की पुष्टि करता है : श्री एम. वेंकैया नायडू

और पुष्टि के साथ सूचना शस्त्र का काम करती है

सूचना और प्रसारण मंत्री ने चौथी द्विवार्षिक फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन किया 

नई दिल्ली/ सूचना और प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि पुष्टि के साथ सूचना शस्त्र का काम करती है और फोटो सूचना की पुष्टि करता है। वे आज यहां ललित कला अकादमी में आल इंडिया वर्किंग न्यूज कैमरामैन्स असोसिएशन की चौथी द्विवार्षिक फोटो प्रदर्शनी का उद्घाटन कर रहे थे।

श्री नायडू ने कहा कि एक तस्वीर हजारों शब्दों के बराबर होती है। अभिव्यक्ति के लिए लिखित और बोले गए शब्द दोनों अनिवार्य होते हैं, लेकिन कभी कभी तस्वीर किसी बात को अधिक जोरदार ढंग से पेश कर सकती है। खबर देने की कोशिश कर रहे समाचार पत्र और टेलीविजन केंद्र विश्व के घटनाक्रम को प्रस्तुत करने के लिए चित्रों का बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं।

मंत्री ने कहा कि अगर इस कहावत पर गौर करें कि ‘‘मैं तभी विश्वास करता हूं, जब अपनी आंखों से देख लेता हूं’’ तो यह विश्वास दिलाने में चित्र महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। अध्ययनों से पता चला है कि लोग अन्य ज्ञानेंद्रियों की बजाए आंखों पर सबसे अधिक भरोसा करते हैं। उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों और टेलीविजन समाचार केंद्रों का एक दायित्व सत्य को रिपोर्ट करना है। इस दृष्टि से चित्र लोगों के संदेह दूर करने का काम करते हैं।

श्री नायडू ने फोटो पत्रकारों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि फोटोग्राफी की कला हमारे रक्त में अंतरनिहित है और हमारी सभ्यता का हिस्सा है।

(PIB)

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना