Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

जर्मनी के पत्रकार पीटर मे का निधन

पत्रकारिता प्रशिक्षण के लिए यहां लगाया दर्जनों शिविर

रमेश सर्राफ/झुंझुनू। अंतरराष्ट्रीय पत्रकारिता संस्थान (आईआईजेबी) बर्लिन (जर्मनी) के प्रशिक्षक रहे प्रो. पीटर मे का 75 साल की उम्र में निधन हो गया। पीटर ने सन 1996 से प्रतिवर्ष झुंझुनू में पत्रकारिता प्रशिक्षण के 15 शिविर लगाकर करीबन 122 पत्रकारों को तकनीकी तौर में पत्रकारिता के गुर दिए थे। आठ भाषाओं के जानकार मे ने रूस, जर्मनी व यूरोप के कई देशों में रिपोर्टिंग की थी। पीटर में ने खाड़ी युद्व के दौरान युद्वस्थल से रिपोर्टिंग की थी।

उन्होने भारत के झुंझुनू, जयपुर, दिल्ली, मुम्बई,चंडीगढ़, लुधियाना, भोपाल व नेपाल के साथ ही विभिन्न देशों में पत्रकारिता प्रशिक्षण के करीबन 53 शिविर लगाए। उनका शेखावाटी के प्रति गहरा लगाव था। 1996 से लगातार साल में एक बार झुंझुनू जरूर आते थे। पीटर के सहयोग से झुंझुनू के दो पत्रकार लक्ष्मीकांत जांगिड़ व उमेश सहल ने जर्मनी के बर्लिन जाकर अंतरराष्ट्रीय पत्रकारिता संस्थान में दो माह का प्रशिक्षण हासिल किया था। इसके अलावा भारत के 15 अन्य पत्रकारों ने भी जर्मनी जाकर प्रशिक्षण प्राप्त किया था।

पीटर में के निधन पर झुंझुनूं प्रेस क्लब के अध्यक्ष महेंद्र मयंद, कार्यकारी अध्यक्ष लक्ष्मीकांत जांगिड़, महा सचिव रमेश सर्राफ, सचिव उमेश सहल, राजेंद्रसिंह निर्वाण, विपुल महमिया,हरदयाल सिंह चकबास, रतन जांगिड़ आदि ने पीटर को पत्रकारिता प्रशिक्षण का पुरोधा, महान चिंतक व शेखावाटी का दोस्त बताया। हरिदेव जोशी पत्रकारिता यूनिवर्सिटी,जयपुर के उपकुलपति व वरिष्ठ पत्रकार सन्नी सेबेस्टीयन, देवेन्द्र शास्त्री व अन्य वरिष्ठ पत्रकारों ने शोक प्रकट किया है।

 

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना