Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

पत्रकारों की पंचायत बुलाने की मांग

गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब ने किसानों के हितों के लिए भी सरकार को लिखा पत्र

छतरपुर। समाज में व्याप्त बुराइयों को दूर कर भारतीय संस्कृति एवं संस्कारों के संदेश को लेकर मध्य प्रदेश के अंदर संचालित सामाजिक संस्था गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब के माध्यम से प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया सोशल मीडिया एवं साहित्यकारों को एक मंच पर लाकर उनका सम्मान एवं अधिकार प्रदान कराने बाली संस्था जनता की आवाज भी उठाने का कार्य कर रही है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश सरकार को समय समय पर ज्ञापन एवं मांग पत्र भेजकर सरकार से समस्याओं का हल कराने की पहल कर रही है। जन समस्याओं को उठाने के लिए संस्था अपना कार्य कर रही है।

गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेस क्लब-संस्था के प्रदेश अध्यक्ष संतोष गंगेले ने मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान को ज्ञापन भेजकर चुनाव के पूर्व प्रदेश के पत्रकारों की पंचायत बुलाने की मांग की, साथ ही एक सुझाव भी दिया है कि मध्य प्रदेश के 50 जिला है। सभी जिला मुख्यालय पर पत्रकार भवन का निर्माण सरकारी पैसा से कराया जाये जिससे जिला जन सम्पर्क कार्यालय के साथ साथ प्रदेश में संचालित सभी पत्रकार संगठनों की मासिक बैठके, मंत्री जी की मीटिंग, जिला अधिकारियों की पत्रकार वार्तायें, पत्रकार सम्मेलन कराने के लिए एक ही स्थान रहेगा। इससे सभी पत्रकार साथी एक साथ बैठ कर अपनी समस्याओं का निराकरण करेगें तथा जिला के विकास की गतिविधियों को सही रूप से संचालित करने का उचित निर्धारित स्थान होगा।

प्रदेषाध्यक्ष संतोष गंगेले ने प्रदेश के पत्रकारों से अपील करते हुये कहा कि वह किसी भी संगठन में रहते हुये भी गणेश शंकर विद्यार्थी प्रेम क्लब के पदाधिकारी एवं सदस्य बनकर समाज केलिए अपना योगदान दे सकते हे । साथ ही उन्हाने  बताया कि सागर, ग्वालियर, जबलपुर,  उज्जेन,  के लिए अनेक आवेदन पत्र प्राप्त हो रहे है जिनकी नियुक्तियों के लिए कमेटी विचार कर रहे है।

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना