Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ सौंपेगा ज्ञापन

पत्रकारों के हित में जिला कलेक्टर को 21 सूत्रिय ज्ञापन सौंपेगा

नीमच। पत्रकारों की समस्याओं व उनके हक की लड़ाई लड़ रहा मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ समस्त पत्रकारों के हित के लिए आज 1 मई मजदूर दिवस को दोपहर 1 बजे मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को 21 सूत्रिय ज्ञापन सौंपेगा।

इस 21 सूत्रिय ज्ञापन में पत्रकारों की विभिन्न मांगे रखी गई है इन मांगों से प्रदेश के मुख्यमंत्री को अवगत कराया जाएंगा।

मुख्यमंत्री द्वारा पहले भी मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार द्वारा की गई मांगों में से कुछ मांगों को तो मान लिया गया है परंतु आज भी कुछ मांगे शेष रह गई है जिससे श्रमजीवी पत्रकारों को उनका हक नहीं मिल पा रहा है।

इन 21 सूत्रिय मांगों में निरंतर बढ रहे है प्रताडना के मामले, अधिमान्य पत्रकारों की सुविधा, कम ब्याज पर ऋण, श्रमजीवी पत्रकार कल्याण आयोग, जनसम्पर्क नीति, प्रेस शब्द का दुरूप्रयोग रोकाने, आधुनिक मीडिया सेटंर स्थापित हो, बेगारी प्रथा पर रोक लगाने, पत्रकार पंचायत बुलाई जाए, जिले में त्रैमासिक बैठके, तहसील स्तर के श्रमजीवी पत्रकारों को जिला सूची में शामिल करने एवं मानदेय वेतन मिले, पत्रकारों से सामान्य किराया वसूला जाए, पत्रकारिता अध्ययन को बढावा मिलने, चंद्रिका राय हत्याकांड, त्रिपाठी के विरूद्ध प्रकरण वापस लिये जाने, अखबार के दफ्तरों में कार्यरत पत्रकारों को अधिमान्यता दी जाने, जिला स्तर पर प्रकोष्ठ गठित होने, विश्राम भवनों पर रूकने की सुविधा प्रदान की जाने, टोल नाको पर श्रमजीवी पत्रकार संघ के कार्ड को मान्यता दी जाने, अधिमान्य पत्रकारो को लेपटॉप दिये जाए, तहसील एवं जिला स्तर पर आवास समितियॉ बनाई जाने जैसी आदि मांगे रखी गई है।

मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के संभागीय उपाध्यक्ष डॉ.घनश्याम बटवाल व जिलाध्यक्ष पं.ललित शर्मा ने समस्त पत्रकार संगठनों व जिले के समस्त पत्रकार साथियों से अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होने का आव्हान किया है।

 

 

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना