Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मीडिया की सकारात्मक भूमिका से आपदा की घड़ी में सहयोग

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर " कोविड महामारी के दौर में मीडिया की भूमिका एवं मीडिया पर इसका प्रभाव" विषय पर परिचर्चा

बिहारशरीफ (संजय कुमार)। बिहारशरीफ में आज समाहरणालय परिसर स्थित हरदेव भवन सभागार में राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में "कोविड संक्रमण काल में मीडिया की भूमिका एवं इसका मीडिया पर प्रभाव" विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि उप विकास आयुक्त श्री राकेश कुमार ने अपने संबोधन में लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में मीडिया की भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा की घड़ी में मीडिया की सकारात्मक भूमिका के कारण आपदा के जोखिम को कम करने में हमेशा सहयोग मिलता  है। कोविड जैसी महामारी के समय में भी मीडिया  कर्मियों ने स्वयं को जोखिम में रखते हुए भी समाज के प्रति अपने दायित्व का बखूबी निर्वहन किया है।

कोविड दौर के प्रबंधन में मीडिया द्वारा जहां एक तरफ बचाव एवं सुरक्षा से संबंधित उपायों के बारे में आम जनों को सही जानकारी देकर जागरूक करने का कार्य किया गया, वहीं दूसरी तरफ प्रबंधन से संबंधित कमियों को स्थानीय प्रशासन के संज्ञान में लाकर  इनको  दूर कराने का प्रयास भी किया गया है। दोनों ही कार्य समाज के हित में करते हुए मीडिया ने समाज एवं प्रशासन के बीच एक सकारात्मक सेतु का कार्य बखूबी किया है। इसके लिए सभी मीडिया बंधु धन्यवाद के पात्र हैं।

इस अवसर पर विभिन्न मीडिया बंधुओं ने भी कोविड संक्रमण दौर में अपने अनुभवों को साझा  किया।

जोखिम के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए संक्रमण के कारण शहीद होने वाले कर्मवीर मीडिया बंधुओं  के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए 2 मिनट का मौन रखा गया।

आज राष्ट्रीय  प्रेस दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा कुछ चुनिंदा पत्रकारों को ही कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था। जिससे जिले के अन्य पत्रकारों में में रोष व्याप्त है।

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना