Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts January 2016

भारत का पहला विज्ञान फिल्म महोत्सव पणजी में

14 से 17 जनवरी तक चलेगा महोत्सव 

पणजी। गोवा में भारत के पहले विज्ञान फिल्म महोत्सव (एससीआई- एफएफआई) का आयोजन 14 जनवरी से होगा। अधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक तीन दिन तक चलने वाले इस महोत्सव का आयोजन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की एक संस्थ…

Read more

भारतीय मीडिया में नहीं मुकम्मल भारत की तस्वीर

संजय कुमार/ भारतीय मीडिया में मुकम्मल भारत की तस्वीर नहीं दिखती है। हिन्दी हो या अंगे्रजी या फिर उर्दू या कोई भाषा, देश-समाज की तस्वीर उसमें धुंधली दिखती है। ऐसे में भारतीय मीडिया की बात करें तो यह आरोपों के घेरे में है। हिन्दी, उर्दू और अंगे्रजी भारतीय मीडिया का चरित्र साफ नहीं है…

Read more

क्या शहादत के सम्मान का यही तरीका है ?

कई न्यूज़ चैनलों पर पाकिस्तान से वक्ताओं को बुलाकर उनसे जो नूरा कुश्ती हो रही है उसका क्या मक़सद है?

रवीश कुमार।

Read more

शोध पत्रिका "समागम" के 15 साल पूरे

भोपाल। यहां से प्रकाशित शोध पत्रिका "समागम" ने अपने प्रकाशन के शानदार 15 साल पूरे  कर लिए है। साल 2000 फरवरी से शोध पत्रिका "समागम" का प्रकाशन आरम्भ हुआ था। तब से लेकर अब तक यह पत्रिका नियमित रूप से प्रकाशित हो रही है।  …

Read more

दूरदर्शन पटना में बैडमिंटन टूर्नामेंट कल से

आकाशवाणी और दूरदर्शन के सभी विभागों के अधिकारी और कर्मचारी ले रहे हैं भाग 

पटना दूरदर्शन पटना के रिक्रिएशन क्लब, में कल दिनांक-05 जनवरी-2016 से बैडमिंटन टूर्नामेंट …

Read more

बुद्धिश्रमिक : हीन भावना से ग्रस्त एक बेबस प्राणी

हे बुद्धि श्रमिकों- अपने को समाचार सम्पादक, उपसम्पादक, सहायक सम्पादक या फिर समूह सम्पादक कहलवाने से तुम्हें क्या मिलता है.......?…

Read more

चीन चीन चिल्ला के कौआ उड़ाओ

संकट की रिपोर्टिंग तो हो जाती है मगर विकल्प के किसी मॉडल को लेकर बहस भी नहीं है

रवीश कुमार। चीन में एक करोड़ तीस लाख फ्लैट ख़ाली हैं । बिल्डर और सरकार इन…

Read more

बेनेगल की अध्यक्षता में फिल्म सेंसर बोर्ड में सुधार के लिए बनी समिति

नयी दिल्ली। केंद्र सरकार ने सेंसर बोर्ड में और अधिक सुधार करने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए हिंदी सिनेमा के मशहूर फिल्म निर्माता श्याम बेनेगल के नेतृत्व में एक समिति गठित किया है। इस समिति में फिल्म निर्माता राकेश ओम प्रकाश मेहरा, प्रसिद्ध ऐड गुरु पीयूष पांडेय और फिल्म समीक्ष…

Read more

कर्तव्यों व जिम्मेदारियों पर भारी पड़ती टीआरपी की होड़

तनवीर जाफरी/ मीडिया को समाज का दर्पण माना जाता है। हमारे भारतीय लोकतंत्र मे तो इसे गैर संवैधानिक तरीके से ही सही परंतु इसकी विश्वसनीयता तथा जिम्मेदारी के आधार पर इसे लोकतंत्र…

Read more

नव पूँजीवाद के दौर में भारतीय मीडिया का राजनीतिक चरित्र

अभिषेक दास/ भारतीय मीडिया के लिए यह संक्रमण का समय हैे। नव-पूँजीवाद की वर्तमान दौड़ में मीडिया की विश्वसनीयता पर लगातार सवाल उठाये जा रहे हैं। खबरों के चयन से लेकर उसकी प्रस्तुति तक पर राजनीतिक पक्षधरता का आरोप लगाया जा रहा है। इलेक्ट्राॅनिक मीडिया हो या प्रिंट मीडिया; कोई भी इस तरह…

Read more

जनवरी 2016 में ‘समागम’ का यह अंक विशेष

शोध पत्रिका ‘समागम’ ने वर्ष 2000 में जो यात्रा आरंभ की थी, वह सफलतापूर्वक जारी है. जनवरी 2016 में ‘समागम’ का यह अंक विशेष संदर्भ के साथ प्रकाशित किया गया है. 30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि है और इसी तारीख पर दादा माखनलाल चतुर्वेदी की भी. संभवत: एक तारीख …

Read more

लालू-नीतीश को ट्रैप करते, खुद उनके जाल में आ फंसा मीडिया

अपराध पर छिड़ी बयानबाजी को मीडिया ने लपका. जंगल राज का शोर आसमान पर गूंजा. फिर मीडिया के एक हिस्से ने लालू-नीतीश को ट्रैप में लेने की कोशिश की पर खुद मीडिया ही उनके ट्रैप में आ फंसा.जानिये कैसे.…

Read more

लोकतंत्र के बेसिक के ख़िलाफ़ है फ्री बेसिक

रवीश कुमार। आजकल आप अपने अख़बार में फेसबुक का विज्ञापन देख रहे होंगे । एक ही बात को कहने के लिए फेसबुक हर दूसरे तीसरे दि…

Read more

13 blog posts

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना