Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts April 2021

नहीं रहे भारतीय सूचना सेवा के वरिष्ठ अधिकारी पुष्पवंत

पत्रकार सुकांत नागार्जुन और टीवी पत्रकार रोहित सरदाना भी नहीं रहे  

दिल्ली/ पटना/  'रजिस्ट्रार ऑफ न्यूजपेपर्स फॉर इंडिया' (आरएनआई)  नई दिल्ली में पदस्थापित उप निदेशक…

Read more

मीडिया शर्म की बातों पर गर्व करना सीखा रहा

गिरीश मालवीय / यह खेल फिर से शुरू हो गया.... 38 साल के स्कूल टीचर देवेंद्र, अपने दोस्त रंजन अग्रवाल के लिए एक ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर झारखंड के बोकारो से लगभग 24 घंटों तक 1400 किलोमीटर गाड़ी चलाकर नोएडा दोस्त की मदद को पहुंचे। ...…

Read more

'ग़ुलाम मीडिया ' जनता की बदहाली का सबसे बड़ा ज़िम्मेदार

निर्मल रानी/  हमारा देश इस समय संकट के किस भयानक दौर से  गुज़र रहा है इसे दोहराने की ज़रुरत नहीं। संक्षेप में यही कि जब देश प्यास से मर रहा है उस समय सरकारें कुंवे खोदने में लगी हैं। और इन कुंओं को खोदते खोदते कितनी और जानें काल के मुंह में समा जाएंगी इसका कोई अंदाज़ा नहीं है। सत्ता…

Read more

नहीं रहे भारतीय सूचना सेवा के वरिष्ठ अधिकारी मणिकांत ठाकुर

पटना । भारतीय सूचना सेवा के वरिष्ठ अधिकारी मणिकांत ठाकुर का कोरोना से नई दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में आज सुबह निधन हो गया। श्री ठाकुर बिहार के सहरसा जिले के रहने वाले थे। वे अपने पीछे पत्नी, दो पुत्री और एक पुत्र को छोड़ गये ।…

Read more

कोरोना का भय बेच रहा है मीडिया

मरने वालों की दर सिर्फ 0.53 प्रतिशत

वीरेंद्र यादव/ पटना/ कोरोना बीमारी से ज्‍यादा बाजार बन गया है। अखबार में कोरोना, टीवी में कोरोना, मोबाइल में कोरोना। ऑफिस में कोरोना, चाय दुकान पर कोरोना, गाड़ी में कोरोना। जिदंगी…

Read more

दि प्रिंट हिन्दी की संपादक रेणु अगल नहीं रहीं

सड़क दुर्घटना में गंभीर चोटें आयीं थीं

नयी दिल्ली/ राजधानी में एक सड़क दुर्घटना में घायल जानी-मानी पत्रकार और दि प्रिंट हिन्दी की संपादक रेणु अगल का कल देर रात उपचार के दौरान अस्पताल में निधन हो गया। सुश्री अगल इस …

Read more

उर्दू दैनिक के संपादक शफी का निधन

श्रीनगर/ जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में जेहादी अकबर दैनिक उर्दू के संपादक मुहम्मद शफी नक्शबंदी का यहां बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 60 वर्ष के थे। श्री नक्शबंदी के निधन पर कश्मीर समाज के एक बड़े हिस्से में शोक की लहर दौड़ गयी।…

Read more

साहब ने वरिष्ठ पत्रकार की चिंता कम कर दी!

रितिक चौधरी/ कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने कहा, 'साहब माहौल खराब हो गया है। चारों तरफ कोरोना ही कोरोना है, ऐसे में आपको डिफेंड करना मुश्किल हो गया है। समझ नहीं आ रहा कि इस कोरोना को पॉजिटिव कैसे दिखाएं। चीन भी शांत पड़ा है। पाकिस्तान की तरफ से भी कोई बड़ी घटनाएं नहीं हो रही हैं और बंगाल …

Read more

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार श्री रामप्रकाश गुप्ता

पटना/ आकाशवाणी समाचार, पटना के भागलपुर अंशकालिक संवाददाता और जागरण, भागलपुर के वरिष्ठ पत्रकार राम प्रकाश गुप्ता का आज कोविड के कारण निधन हो गया । …

Read more

वरिष्ठ पत्रकार रेयाज़ अज़ीमाबादी का निधन

पटना/  वरिष्ठ पत्रकार रेयाज़ अजीमाबादी का निधन हो गया। उनकी उम्र 70 वर्ष से ज्यादा थी। इन दिनों वे उर्दू दैनिक ‘पिंदार’ के संपादकीय विभाग से जुड़े थे। रेयाज अजीमाबादी मशहूर पत्रकार आर.के. करंजिया के संपादन में प्राकाशित होने वाले साप्ताहिक अखबार ‘ब्लिटज’ की रिपोर्टिंग से मशहूर हुए थे । ‘ब्लि…

Read more

भारतीय मीडिया ने झूठ बोलने को आसान बनाया

जन मीडिया का अप्रैल अंक

डॉ लीना / जन मीडिया का अप्रैल (109 वां) अंक अपने आप में बहुत ही महत्वपूर्ण है। महत्वपूर्ण इसलिए कि अप्रैल का जो महीना होता है वह अपने आप में महत्वपूर्ण होता है।  सामाजिक क्रांति का बीज बोने वाले प्रबुद्ध राष्ट्र निर्माता एव…

Read more

म्यांमार के तीन पत्रकारों ने मणिपुर में शरण ली

इम्फाल/ ऑल मणिपुर वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन (एएमडब्ल्यूजेयू) के अध्यक्ष विजॉय ने गुरुवार को कहा कि म्यांमार के तीन मिज़िमा पत्रकारों ने अपना देश छोड़कर मणिपुर के मोरेह में शरण ली है। एएमडब्ल्यूजेयू ने कहा कि एक पत्रकार संस्था के रूप में वह म्यांमार में मीडिया और मीडिया के लोगों के बारे मे…

Read more

प्रो. अरूण कुमार का निधन अपूरणीय क्षति: सत्यदेव नारायण शर्मा

पटना/ मगध विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (मूटा) के पूर्व महासचिव और शिक्षक नेता हिंदी के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. सत्यदेव नारायण शर्मा ने बिहार में अंगीभूत महाविद्यालय के जनक और शिक्षक आंदोलन के मूर्धन्य कर्णधार पूर्व विधान पार्षद प्रो. अरूण कुमार के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। …

Read more

पत्रकारिता पहले एक पेशा थी,अब व्यापार बन गई है

बाबासाहेब डॉ भीमराव आम्बेडकर को जयंती पर नमन

“भारत में पत्रकारिता पहले एक पेशा (प्रफ़ेशन) थी। अब वह एक व्यापार बन गई है। अख़बार चलाने वालों को नैतिकता से उतना ही मतलब रहता है, जितना कि किसी साबुन बनाने वाले को। पत्रकारिता स…

Read more

उमाकांत लखेड़ा प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के नए अध्यक्ष

नई दिल्ली/ उमाकांत लखेड़ा प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में हुए चुनावों के परिणाम रविवार शाम को जारी हो गए। हिंदुस्तान के राष्ट्रीय ब्यरो प्रमुख रहे उमाकांत लखेड़ा प्रतिद्वंदी द एशियन एज के ब्यूरो हेड संजय बसक को हरा अध्यक्ष निर्वाचित हुए।…

Read more

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार राजीव मित्तल

लखनऊ/ वरिष्ठ पत्रकार राजीव मित्तल नहीं रहे। रात डेढ़ बजे उनका निधन लखनऊ में हो गया।  अंतिम यात्रा आज सुबह उनके लखनऊ स्थित निज निवास (17, गुरुद्वारा रोड, लखनऊ) से हुई। राजीव मित्तल जी पत्रकारिता में 35 वर्ष से अधिक समय तक सक्रिय रहे। …

Read more

वेब पत्रकार स्वनियमन अपनाकर, पत्रकारिता के उच्च आदर्श स्थापित करें: डबल्यूजेएआई

डबल्यूजेएआई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बिहार व पश्चिम बंगाल प्रदेश इकाई की हुई घोषणा, बिहार इकाई के अध्यक्ष बने प्रवीण बागी और पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष बने  चंद्रचूड़ गोस्वामी…

Read more

समाजवाद की आड़ में जारकर्म समर्थक का चेहरा

कैलाश दहिया/ आर.डी. आनंद ने दिनांक 25 मार्च, 2021को अपनी फेसबुक वॉल पर 'आम्बेडकरवादी और आजीवक' शीर्षक से अपना लेख लगाया है। सर्वप्रथम तो, इन के लेख का शीर्षक ही गलत है। आजीवक एक कंप्लीट धर्म है, जो अपने पर्सनल कानूनों के साथ दलितों की समस्याओं को हल करता आया है। इस के विपरीत अंबे…

Read more

पत्रकारिता समाप्त हो रही है और पत्रकार बढ़ते जा रहे हैं!

श्रवण गर्ग /कोलकाता से निकलने वाले अंग्रेज़ी के चर्चित अख़बार ‘द टेलिग्राफ’ के सोमवार (29 मार्च,2021) के अंक में पहले पन्ने पर एक ख़ास ख़बर प्रकाशित हुई है. ख़बर गुवाहाटी की है और उसका सम्बन्ध 27 मार्च को असम में सम्पन्न हुए विधान सभा चुनावों के पहले चरण के मतदान से है. असम में मत…

Read more

19 blog posts

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना