Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

सरकार के विकास कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण : एस के मालवीय

'वार्तालाप' कार्यशाला का किया गया आयोजन

जमुई/ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), पटना द्वारा 6 दिसंबर को जमुई समाहरणालय के सभागार कक्ष में स्थानीय मीडियाकर्मियों के बीच वार्तालाप-क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन पीआईबी, पटना के अपर महानिदेशक एसके मालवीय, निदेशक आशीष लकरा, सहायक निदेशक संजय कुमार, जमुई जिले के वरिष्ठ पत्रकार विनय कुमार एवं देवेंद्र सिंह…

Read more

सोशल मीडिया लोकप्रिय पर भरोसेमंद नहीं : प्रो. संजय द्विवेदी

'जनमोर्चा' के 65वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोले आईआईएमसी के महानिदेशक

अयोध्या। हिंदी दैनिक 'जनमोर्चा' के 65वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारतीय जन संचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि बदलते समय में जहां सोशल मीडिया का प्रभाव बढ़ा है, वहीं प्रिंट मीडिया आज भी सबसे महत्वपूर्ण और विश्वसनी…

Read more

अंजनी कुमार झा को साहित्य अकादमी का अखिल भारतीय कृति पुरस्कार'

महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के मीडिया अध्ययन विभाग के विभागाध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं डॉ. झा  

मोतिहारी। साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद द्वारा डॉ. अंजनी कुमार झा को अखिल भारतीय कृति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। साहित्य अकादमी द्वारा  कैलेंडर वर्ष 2020 के लिए 13 अखिल भारतीय…

Read more

पत्रकारिता का क्षरण नहीं, नये दरवाजे खुले हैं: प्रवीण दुबे

महाराष्ट्र के मीडिया छात्रों के साथ संग्रहालय में ‘समागम संवाद’

भोपाल। हर पुरानी पीढ़ी को लगता है कि पत्रकारिता का क्षरण हो रहा है, जबकि यह सच नहीं है. वास्तव में पत्रकारिता की नयी पीढ़ी और समृद्ध है तथा उसके लिए अवसर के नये दरवाजे खुल गए हैं. यह बात वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रवीण दुबे ने दुष्यंत संग्रहालय में ‘समागम संवाद’ के विशेष सत्र में …

Read more

पत्रकारिता के लिए जरूरी है सृजनात्मकता : प्रो. राव

आईआईएमसी के सत्रारंभ समारोह का समापन

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) द्वारा आयोजित सत्रारंभ समारोह के समापन अवसर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव ने कहा कि पत्रकारिता के लिए सृजनात्मकता की आवश्यकता है। ज्ञान के आधार पर हम किसी भी क्षेत्र में शीर्षतम स्तर पर पहुंच सकते हैं, लेकिन इसके लिए सृजनात्मक, निष्पक्ष और साहसी होना जरूरी है। इस अवसर पर पद्मश्री से सम्मा…

Read more

हर्षिता भारती की पुस्तक ‘ए सन सो ब्राइट’ का लोकार्पण

15 वर्षीया हर्षिता की यह दूसरी पुस्तक है

पटना/ ‘अप्रिका बी’ के पेन नाम से लिखने वाली पटना की नवोदित लेखिका कक्षा 10 की छात्रा हर्षिता भारती द्वारा अंग्रेजी में लिखित पुस्तक "ए सन सो ब्राइट" का लोकार्पण पटना में प्रेस इनफॉरमेशन ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, पटना  के सहायक निदेशक संजय कुमार के द्वारा पटना में किया  गया। मौके पर वरिष्ठ पत्रकार सुधीर मधुकर, सविता भारती और ई. राजकुमार मौजूद रहे।…

Read more

डबल्यूजेएआई की सीवान जिला इकाई का गठन

सीवान/ सीवान में सर्वसम्मति से वेब जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ़ इण्डिया (डबल्यूजेएआई) की जिला इकाई का गठन किया गया। जिसमें  निम्नलिखित पदाधिकारी बनाये गए-

उक्त घोषणा करते हुए डबल्यूजेएआई के प्रदेश अध्यक्ष प्रव…

Read more

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से गढ़ें पत्रकारिता का स्वर्णिम काल : हरिवंश

आईआईएमसी के शैक्षणिक सत्र 2022-23 का आरंभ

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के शैक्षणिक सत्र 2022-23 का सोमवार को शुभारंभ करते हुए राज्यसभा के उपसभापति श्री हरिवंश ने कहा कि आजादी के पहले भारतीय पत्रकारिता का स्वर्णिम काल रहा है। उस समय के पत्रकार 'इन्वेस्टिगेटर' के साथ-साथ 'इन्वेस्टर' भी थे। सीमित संसाधनों के साथ उन्होंने पत्रकारिता के स्वर्णिम काल का निर्माण किया। आज के टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस…

Read more

और भी हैं खबरें--

View older posts »

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;e3113b18b05a1fcb91e81e1ded090b93f24b6abe175;250;cb150097774dfc51c84ab58ee179d7f15df4c524175;250;a6c926dbf8b18aa0e044d0470600e721879f830e175;250;13a1eb9e9492d0c85ecaa22a533a017b03a811f7175;250;2d0bd5e702ba5fbd6cf93c3bb31af4496b739c98175;250;5524ae0861b21601695565e291fc9a46a5aa01a6175;250;3f5d4c2c26b49398cdc34f19140db988cef92c8b175;250;53d28ccf11a5f2258dec2770c24682261b39a58a175;250;d01a50798db92480eb660ab52fc97aeff55267d1175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना