मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts May 2019

हिन्दी पत्रकारिता: कहां से चले थे, कहां पहुंचे?

हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर विशेष  

मनोज कुमार/ अपने इतिहास का स्मरण करना भला-भला सा लगता है. और बात जब हिन्दी पत्रकारिता की हो तो वह रोमांच से भर देता है. वह दिन और वह परिस्थिति कैसी होगी जब पंडित जुगलकिशोर शुक्ल ने हिन्दी अख…

Read more

पत्रकारिता की प्राथमिकता को टटोलने का समय

हिंदी पत्रकारिता दिवस, 30 मई पर विशेष 

लोकेन्द्र सिंह/ 'हिंदुस्थानियों के हित के हेत' इस उद्देश्य के साथ 30 मई, 1826 को भारत में हिंदी पत्रकारिता की नींव रखी जाती है। पत्रकारिता के अधिष्ठाता देवर्षि नारद के जयंती प…

Read more

मोदी की जीत और अखबारों के शब्द

मीडिया आपको किन शब्दों में उलझाकर पटकना चाहता है जरा उसकी बानगी देखिए

राजकुमार सोनी/ जब मैं अखबार की दुनिया में था तब हर दूसरे- तीसरे दिन मालिक और मूर्धन्य संप…

Read more

अखबारी नूरा कुश्ती

रजनीश कुमार झा/ अखबारों में नम्बर वन के होड़ में छीछालेदर राजस्थान से शुरू हुआ जहां बाकायदा राजस्थान पत्रिका और दैनिक भास्कर संपादकीय पन्ना में आरोप प्रत्यारोप के साथ एक दूसरे पर जम कर कीचड़ उछाला। बाद में दिल्ली में टाईम्स ऑफ इंडिया और हिंदुस्तान टाईम्स ने भी इस कड़ी को बरकर…

Read more

एफटीआईआई के पांच पाठ्यक्रमों को एआईसीटीई की मंजूरी

पुणे/ भारतीय फिल्‍म और टेलीविजन संस्‍थान (एफटीआईआई) पुणे को ऐतिहासिक उपलब्धि  हासिल हुई है। एफटीआईआई के पांच पाठ्यक्रमों को अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने नवगठित व्‍यावहारिक कला और शिल्‍प श्रेणी में मंजूरी प्रदान की है। इस मंजूरी से भारत के प्रमुख फिल्‍म संस्‍थान, एफटीआईआई दे…

Read more

भारतीय पत्रकारिता में इंदौर शहर का योगदान

डॉ.अर्पण जैन 'अविचल'/ जब धरती के गहन, गंभीर और रत्नगर्भा होने के प्रमाण को सत्यापित किया जाएगा और उसमें जब भी मालवा या कहें इंदौर का जिक्र आएगा निश्चित तौर पर यह शहर अपने सौंदर्य और ज्ञान के तेज से बखूबी स्वयं को साबित करेगा। हिंदी या कहें अन्य भाषाओँ में इंदौर के पत्रक…

Read more

6 blog posts