मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts October 2012

सूचना और प्रसारण मंत्रालय एफ एम रेडियो की पहुंच और सामग्री बढ़ाने के लिये कई महत्वपूर्ण कदम उठायेगी

नई दिल्ली । सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कहा कि सरकार भारत को टेलीपोर्ट केंद्र बनाने के लिए आवश्यक कदम उठाने पर गंभीरता से विचार कर रही है जिससे देश में विश्व के टीवी प्रसारकों के लिए कार्यक्रमों की अपलिंकिंग और डाउन लिंकिंग सुविधा दी जा सके। एक सम्मेलन में कल सूचना और प्रसारण …

Read more

सीता के बहाने आधुनिक नारी का दर्द

पुस्तक समीक्षा/ एम. अफसर खां सागर/ अपनी अलग पहचान के साथ खड़े होने वाले रचनाकारों में एक नाम विजय कुमार मिश्र ‘बु़द्धिहीन’का भी है। ‘दर्द की है गीत सीता’ खण्ड काव्य में बु़द्धिहीन ने सीता के बहाने आधुनिक नारी विमर्ष पर सुक्ष्म दृष्टिपात किया है। राम…

Read more

दिवंगत कार्टूनिस्‍ट पी.के.एस. कुट्टी को श्रद्धांजलि

उनका जीवन और कार्य  भाषा या राज्‍य की सीमाओं से परे थे : राष्‍ट्रपति

नई दिल्ली/ दिवंगत कार्टूनिस्‍ट पी.के.एस. कुट्टी को श्रद्धांजलि देने के लिए आज राष्‍ट्रपति भवन में आयोजि…

Read more

गोपाल शर्मा की गालियां और जिंदगी का साठवां साल

उनकी पहली किताब ‘बंबई दर बंबई’  का भी विमोचन

निरंजन परिहार / गोपाल शर्मा के बारे में बरसों से खुद से सवाल कर रहे मुंबई के मीडिया जगत ने हिंदी के इस लाडले पत्रकार का 60वां जन्मदिन मनाया रविवार के दिन, 2…

Read more

सवाल प्रतिनिधित्व का है, आरक्षण का नहीं

कँवल भारती /  नामवर सिंह ने गत दिनों दस किताबों का विमोचन किया। उनमें एक किताब दलित लेखक अजय नावरिया की थी। दसों किताबें सवर्णों की होनी चाहिए थीं। उनमें एक दलित कैसे घुस गया? प्रकाशक की यह मजाल कि वह  सवर्णों  की जमात में दलित को खड़ा कर दे! बस नामवर सिंह का पारा चढ़ गया। वह जितन…

Read more

‘बोलो कुछ करना है या काला शरबत पीते पीते मरना है’

लखनऊ फिल्म समारोह  समाप्त
कौशल किशोर/ लखनऊ, 28 अक्टूबर। जन संस्कृति मंच व लखनऊ फिल्म सोसायटी की ओर से आयोजित पाचवें लखनऊ फिल्म फेस्टिवल के दूसरे व अंतिम दिन कल ऐसी फिल्मों का प्रदर्शन हुआ जो एक तरफ राज्य दमन को सामने लाती है तो वहीं इसके वि…

Read more

जुडें 'कथा' से

जयप्रकाश मानस । 'कथा' की स्थापना सनृ 1969 में हुई थी। नई कहानी आन्दोलन के अग्रणी कथाकार मार्कण्डेय इसके संस्थापक थे। वर्ष 2010 तक यह पत्रिका मार्कण्डेय के सम्पादन में लगातार निकलती रही। लेकिन जब मार्कण्डेय जी 2010 में इस दुनिया से विदा हो गए, उनकी दोनों बेटियाँ डा. …

Read more

पूरा मामला हुआ कानूनी

ज़ी न्यूज़ और नवीन जिंदल ने एक दूसरे पर मानहानि का ठोका मुकदमा

नई दिल्ली/ ज़ी न्यूज़ और नवीन जिंदल ब्लैकमेलिंग प्रकरण में आरोप – प्रत्यारोप के बाद अब दोनों ने एक दूसरे पर मुकदमा ठोक दिया ह…

Read more

नये समय में मीडिया

जन संचार के सरोकारों पर केंद्रित "मीडिया विमर्श"  का सितंबर अंक
जयप्रकाश मानस । मैं 'मीडिया विमर्श' के नवीनतम् अंक से गुज़र रहा था । मुझे लगा कि इस पर कुछ आपसे भी जरूर क…

Read more

महिलाओं पर यह कैसा हिटलरी फरमान ?

सीत मिश्रामहिलाएं जींस नहीं पहन सकतीं। पराये मर्दो से बात नहीं कर सकतीं। बिना घूंघट बाहर नहीं निकल सकतीं। बाजार नहीं जा सकतीं। प्रेम विवाह नहीं कर सकतीं। मोबाइल नहीं रख सकतीं। क्योंकि ये उन्हें बदचलनी की राह पर ले जाते हैं। लिहाजा, महिलाओं-लड़कियों को इनसे दूर रखना चाहिए। कभी …

Read more

महिला पत्रकारिता की दशा दिशा पर जानकारीपरक पुस्तक

पुस्तक समीक्षा/ लीना । भारतीय संस्कृति में, सभ्यता में, अध्यात्म और दर्शन में, स्त्री परंपरागत रूप से जाग्रत और सशक्त रही है। हिन्दी पत्रकारिता के क्षेत्र में स्त्रियों की सहभागिता स्वतंत्रता से पूर्व तो थी ही, स्वतंत्रता के बाद यह सहभागिता अधिक मुखर रही है। यह कहना…

Read more

पांचवा लखनऊ फिल्म फेस्टिवल शुरू

प्रतिरोध का सिनेमा जनता के सुख दुख और उसके संघर्ष का सिनेमा

लखनऊ/जनसंस्कति मंच के तत्वावधान मे संगीत नाटक अकादमी के बाल्मीकि रंगशाला में आज दोपहर पांचवा लखनऊ फिल्म फेस्टिवल शुरू हुआ। फेस्टिवल का …

Read more

रेडियो प्रस्तुतकर्ता रखें भाषा का ध्यान

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने चैनलों को जारी  किया परामर्श

नई दिल्ली । सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने एफ एम रेडियो चैनलों से कहा है कि वे अपने कार्यक्रमों की भाषा पर दें और उन्हें साफ सुथरे…

Read more

मीडिया के प्रति नेताओं का असहिष्णु रवैया ठीक नहीं : काटजू

नई दिल्ली।  भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) मरकांडेय काटजू ने शिमला में मीडियाकर्मियों का कैमरा तोड़ने की धमकी देने वाले हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष वीभद्र सिंह की आलोचना करते हुए बुधवार को कहा कि देश के कुछ नेताओं का रवैया मीडिया के प…

Read more

मीडिया की मार से लुप्त होती रामलीला

रामलीला खेलने की परंपरा थी तो, गांवों में नहीं था उग्रवाद की पौध का नामोंनिशान

कमल किशोर। आधुनिकता की मार और टीवी चैनल के जरिए फैलती अपसंस्कृति के बीच बिह…

Read more

लघु शोध सा है पत्रिका “वटवृक्ष” का अगस्त अंक

विश्व भर में फैले हिंदी के सैकड़ों चर्चित, सक्रिय ब्लॉगरों से परिचय  

हिंदी ब्लॉगिंग को लेकर कई धुरंधरों ने चिंता व्यक्त की थी - कि यह भाषा…

Read more

वेब मीडिया के बनिये और दलाल

725 रूपए जमा करो पत्रकार बनो / न्यूनतम योग्यता हाईस्कूल या इंटर पास, अच्छी पर्सनालिटी तो 8वी पास भी चलेगा

आवेश तिवारी…

Read more

भारतीय मीडिया में विदेशी एजेंट

यह तथ्य कमोवेश सबको ज्ञात हैं कि भारतीय मीडिया का एक बडा तबका अपनी आजीविका विदेशियों की ऐजेंटी से चलाता है। हर एक समाचार पत्र का पाठक या टेलीविजन का जागरूक दर्शक यह जानता है कि मीडिया में एक तबका है जो अमेरिका की भारत से ज्यादा चिंता करता है तथा उसके लिये …

Read more

Trial By Media

Ravi Ranjan Sinha / As scams  involving  members of families of powerful politicians surfaced  once again the cry went up that there  should be no trial by the media. What  spokespersons of the party facing such  allegations seemed to forget that  the media  was not conducting  any trial but was jus…

Read more

SUBHASH CHANDRA SEES ROBUST GROWTH OF PRINT MEDIA OVER NEXT 10-15 YEARS

An event organized by the Press Club of Mumbai to felicitate the media pioneer having competed 20 years of private satellite broadcasting in India.

चैनल तो बढ़ेंगे ही, प्रिन्ट मीडिया में भी निश्चित तौर पर आयेगा तगड़ा उछाल …

Read more

20 blog posts