मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts December 2013

नायकत्व की पगड़ी बाँधने में मीडिया हड़बड़ी न करे

राजनीति के व्याकरण और रंग-ढंग बदलने वाले नए नायक को दे सकते हैं तो दीजिये ये एक नाम.. राजनायक' कहिये!

नवेन्दु कुमार। एक…

Read more

हटाए गए लोकमत के कर्मियों के साथ आए कर्मचारी, आटो-रिक्शा चालक और हॉकर्स संगठन

18 संगठनों ने बैठक कर सभी 61 कर्मियों को वापस लेने की माँग की, बैठक में नागपुर श्रमिक पत्रकार संघ रहा अनुपस्थित

नागपुर…

Read more

पुलिसिया ज्यादती के विरोध में पत्रकारों का धरना व विरोध मार्च

पत्रकारों की सुरक्षा तय किए जाने की भी माँग

पटना। पत्रकारों पर लगातार हो रहे पुलिसिया ज्यादती के विरोध में आज पटना में वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन आफ बिहार के बैनर तले पत्रकारों ने एक दिवसीय धरना दिया और विरोध मार्च निकाला।…

Read more

सम्पादक, मैनेजर और जवाबदारी

व्यक्त विचार लेखक के निजी हैं, इनसे समाचार पत्र का कोई लेना-देना नहीं है !

मनोज कुमार / जब हम सब स्कूल में पढ़ते थे तो एक स्वाभाविक सी आदत होती थी कि हम अपनी गलती दूसर…

Read more

राजनामा डॉट कॉम बंद

राजनामा डॉट कॉम बंद हो गया है। मुकेश भारतीय ने अपने फेसबुक वाल पर यह जानकारी दी है।

उन्होंने लिखा है कि www.raznama.com  को बंद कर दिया गया है। कंटेंट अपडेटिंग न हो …

Read more

गालिब के शायरी की पूरी दुनिया कायल

शायर-ए-आजम मिर्जा गालिब की 217वीं जयन्ती मनी

चन्दौली। अदनान वेलफेयर सोसाइटी के तत्वाधान में धानापुर स्थित शहीद पार्क में शुक्रवार को शायर-ए-आजम मिर्जा गालिब की 217वीं जयन्ती समारोह पूर्वक मनायी गयी। जिसमें गालिब साहब के…

Read more

पत्रकारों पर प्रताडना के खिलाफ 29 को धरना

लोक नायक जयप्रकाश नारायण के प्रतिमा स्‍थल पर एक दिवसीय धरना का होगा आयोजन

पटना। बिहार में पत्रकारों पर हो रहे प्रताडना के खिलाफ दिनांक 29 दिसम्‍बर 2013 को 10 बजे दिन से पट…

Read more

पत्रकारिता कोश - 2014 का प्रकाशन फरवरी में

नामों के संकलन के लिए संपर्क विवरण, 25 जनवरी तक भेजें

मुंबई। लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज भारत की प्रथम मीडिया डायरेक्टरी "पत्रकारिता कोश" के 14वें अंक का प्रकाशन फरवरी, 2014 में होगा। लगभग 1000 पृष्ठों …

Read more

शब्द संशोधक भाषा के विकास की अहम कड़ीः राहुल देव

पत्रकारिता विश्वविद्यालय में हिंदी के प्रथम ओपन सोर्स स्पेल चैक सॉफ्टवेयर 'माला शब्द संशोधक'  (माखनलाल चतुर्वेदी हिंदी शब्द शोधक) का लोकार्पण…

Read more

जल्द लॉन्च होगा दिल्ली से वंचितों का अपना चैनल

नई दिल्ली । दलितों का हो अपना मीडिया को लेकर सवाल उठते रहते हैं। कोशिश भी हो  रही है। इसी कड़ी में नई दिल्ली से जल्द ही एक चैनल शुरू होने जा रहा है । इस दिशा में आगे आ कर पहल की है है पत्रकार …

Read more

क्या हमें फिर एक आत्महत्या का इंतज़ार है...

राहुल सिन्हा। खुर्शीद अनवर की आत्महत्या का एक प्रमुख कारण हम सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ चलाई गयी मुहिम को मानते हैं। अधिकतर का यही मानना है की सबको अपना निर्णय नही सुनाना था या खुर्शीद अनवर को दोषी नही करार देना था बल्कि सही या ग़लत के निर्णय के लिए क़ानूनी प्रक्रिया का सहारा ले…

Read more

पत्रकार एस एन श्याम की गिरफ्तारी की निंदा

वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ़ बिहार ने इसे लोकतंत्र की आवाज़ दबाने की साजिश बताया

पटना। वरीय पत्रकार  और वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ़ बिहार के अध्यक्ष एस एन श…

Read more

हिन्दी का प्रथम ओपन सोर्स स्पेल चेक सॉफ्टवेयर

पत्रकारिता विश्वविद्यालय में कल होगा लोकार्पण समारोह 

कम्प्यूटर पर हिन्दी लिखते समय वर्तनी की अशुद्धियों को दूर करेगा स्पेल चेक सॉफ्टवेयर…

Read more

चैनलों का इतिहासबोध

चैनलों की स्मृति प्राइम टाइम तक सीमित हो गई लगती है 

“यह प्रतीत होता है कि समाचारपत्र एक साइकिल दुर्घटना और एक सभ्यता के ध्वंस में फर्क करने में अक्षम होते हैं.” -   जार्ज बर्नार्ड शा  …

Read more

आपकी नज़र में आम आदमी कौन है?

सामाजिक संस्था  “We The People of India - हम भारत के लोग” ने पूछा आआपा से कुछ सवाल, समाज के वंचित शोषित तबके और आम जनता के प्रति कैसे सिद्द करेगे अपनी प्रतिबद्ता…

Read more

दो कौड़ी की फिल्में भी सौ करोड़ क्लब में ...!!

मीडिया आज बेहयाई से घटिया फिल्मों को भी तथाकथित सौ करोड़ क्लब में शामिल कराने का ठेका ले रहा है....

तारकेश कुमार ओझा /…

Read more

ग्रामीण पत्रकारिता दुरूह व चुनौतीपूर्ण कार्य:बहादुर यादव

एम. अफसर खां सागर/ चन्दौली। पत्रकारिता चुनौतीपूर्ण कार्य है परन्तु ग्रामीण पत्रकारिता एक अन्तहीन चुनौतीपूर्ण व दुरूह कार्य है। सीमित संसाधनों के साथ कर्मनिष्ठा के रथ पर सवार होकर ग्रामीण पत्रकारित आगे बढ़ती है। पत्रकारिता विलासिता नहीं बल्कि कदम-कदम पर जोखिम भ…

Read more

मीडिया में दलित मुद्दों के लिये स्पेस हो

अरुण खोटे । "मीडिया में दलित" के होने से फर्क तभी पड़ सकता है जब मीडिया में दलित मुद्दों के लिये स्पेस हो। क्योंकि मीडिया पूर्णरूप से निजी और ब्राह्मणवादी मानसिकता वाले पारम्परिक उद्योगपति वर्ग के हाथो में है। इसलिये मीडिया के सामने यह लेकर आने की जरुरत है कि आज दलित वर्ग भी बाजार म…

Read more

भारतीय जन संचार संस्‍थान ने शुरू किया उर्दू पत्रकारिता में कोर्स

पांच महीने का होगा यह डिप्‍लोमा कोर्स

नई दिल्‍ली/ उर्दू पत्रकारिता में एक बड़ा कदम उठते हुए, भारतीय जन संचार संस्‍थान, नई दिल्‍ली ने उर्दू पत्रकारिता में पांच महीने का एक डिप्‍लोमा पाठयक्रम शुरू किया है। इस कोर्स का उद…

Read more

राज्यपाल को भेंट की 'खामोश सहर’


लेखक-पत्रकार अमित बैजनाथ गर्ग की है यह किताब

जयपुर लेखक-पत्रकार अमित बैजनाथ गर्ग ने अपने पहले काव्य संग्रह 'खामोश सहर’ की प्रति राजभवन में राज्यपाल मारग्रेट आल्वा को भेंट की। इस दौरान राज्यपाल आल्वा ने अमित से प…

Read more

20 blog posts