मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;828103351aa17fe10e5964aaae8861bd15d1d716175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;2668145eaf436febb33b738b5c1b14372208aed4175;250;1933d3eb5437585560d91b09b19eabef1abeba41175;250;1d49a022684e9e84e017b90e1cf2d586a1494856175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;d46367fb31101646266af84a6720d25862003e88175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d175;250;3f8bd1cf76134edb8bbd64fe531f169c10e5303f175;250;0bb624b0b1146fd3811a95d9917376463b22c057

राष्ट्रीय सुर्खियां--

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

पत्रकारों व परिजनों के लिए नेत्र जांच शिविर 24 को

November 22, 2017

बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन का आयोजन

पटना/ पत्रकारों व उनके परिजनों के लिए नेत्र जांच शिविर का आयोजन बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के कार्यालय में किया है। शिविर में अत्याधुनिक उपकरणों से आंख की जांच की जायेगी। दवा के साथ ही जरुरत पड़ने पर चश्मा भी दिया जाएगा। यूनियन के महासचिव प्रेम कुमार ने साथियों से निवेदन किया है कि इस मौके का लाभ उठाते हुए अपना व अपने परिजनों के आंखे की जांच करायें।…

Read more

फिल्मकारों को भारत आमंत्रित करना आईएफएफआई का प्रयास है : स्मृति इरानी

November 20, 2017

भारत का 48वां अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह का गोवा में उद्घाटन

गोवा / सूचना और प्रसारण तथा वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति जुबिन इरानी ने कहा है कि भारत उत्सव, समारोहों, सक्रिय युवाओं और कहानियों की भूमि है जहां 1600 बोलियों में कहानियां कही जाती हैं। सूचना और प्रसारण मंत्री गोवा में 48वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहीं थीं।…

Read more

पत्रकारिता पेशा नहीं मिशन है:डॉ. योगेन्द्र सिंह

November 20, 2017

ग्रामीण पत्रकार पूरी निष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करता है, ग्रापए का मण्डलीय सम्मेलन 2017

बबुरी-चंदौली (उ.प्र.)। पत्रकारिता को रोजगार का साधन नहीं बनाना चाहिए बल्कि उसे एक मिशन के रुप में स्वीकार करना चाहिये। ऐसे में खबरों की दृष्टि से वही एक अच्छा पत्रकार है जो खबर छापने में किसी के साथ कोई भेदभाव न करे।…

Read more

पत्रकार लें विशेष रूचि

November 19, 2017

बाल विवाह एवं दहेज प्रथा है एक अभिशाप, मिडिया के माध्यम से जागरुक करने की जरूरत, युवाओं तक संदेश पहुंचाने में सोशल मीडिया की भी अहम भूमिका

साकिब ज़िया / पटना। बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के विरुद्ध राज्यव्यापी अभियान के अन्तर्गत मीडियाकर्मियों के सा…

Read more

महिलाओं को मीडिया द्वारा न्याय दिलाने की मुहिम पर मंथन

November 18, 2017

डॉ. अरुण कुमार/ दिल्ली विश्वविद्यालय के लक्ष्मीबाई कॉलेज द्वारा विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सहयोग से दो दिवसीय (14 - 15 नवम्बर, 2017) राष्ट्रीय संगोष्ठी की का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का विषय था- मीडिया, महिला और न्याय। संगोष्ठी में देश भर से आये मीडिया विशेषज्ञ और कानूनविदों ने हिस्सा लिया। दो दिन तक चलने वाली इस संगोष्ठी का उद्घाटन राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम ने किया और मुख्य अतिथि के रुप में मध्य प्रदेश और दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व न्याया…

Read more

बंटता मीडिया, घटता कद

November 18, 2017

डा.शशि तिवारी/ स्वतंत्रता सभी को प्यारी होती है कोई भी परतंत्र रहना नहीं चाहता! एक लम्बे समय तक गुलाम रहे भारत को जब आजादी मिली तब उसने अपने देश एवं नागरिकों के लिए संविधान का निर्माण किया। इसी संविधान के अनुच्छेद 19 में प्रत्येक भारतीय नागरिक को वाक स्वतंत्रता प्रदान की गई। लेकिन हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि स्वतंत्रता हमेशा दोहरी होती है। अर्थात् अपनी बात कहने की स्वतंत्रता तो दूसरी ओर कुछ न कहने का प्रतिबंध अर्थात ऐसा कुछ भी नहीं कहा जा सकता, बोला जा सकता जो देश की एकत…

Read more

ईटीवी के राइजिंग बिहार में ‘कुलबुलाते’ रहे लालू

November 18, 2017

वीरेंद्र कुमार यादव/ गांवों में एक कहावत है- हसुआ के विआह में खुरपी के गीत। पटना के होटल मौर्या में ईटीवी के तत्वावधान में बिहार में विकास की संभावनाओं पर आयोजित ‘राइजिंग बिहार’ कार्यक्रम में विधान सभा में सबसे बड़ी पार्टी राजद का कोई प्रतिनिधि शामिल नहीं था, लेकिन पूरे कार्यक्रम में लालू यादव एंड फैमिली ही हावी रहा। विकास का मुद्दा गौण हो गया। बिहार की प्रतिभाओं द्वारा पूरी दुनिया में डंका बजाने का दावा करने वाली सरकार बिहार में युवाओं को रोजगार नहीं मिलने के स…

Read more

एक ओर विरोध तो, दूसरी ओर आयोजन भी

November 17, 2017

संजय कुमार/ राजस्थान पत्रिका ने राज्य सरकार द्वारा बनाए गए ‘काले कानून’ को प्रेस की आजादी को खतरा बताते हुए राष्ट्रीय प्रेस दिवस के दिन संपादकीय खाली छोड़कर जो कदम उठाया,उस पर अन्य राज्य या देश की मीडिया स्वर में स्वर मिलती नजर नहीं आयी। शायद इन्हें इंतजार है अपने ऊपर हमले की। जबकि अघोषित रूप से रोजाना मीडिया के काम पर हस्तक्षेप होता रहता है। परोक्ष या अपरोक्ष रूप से हमले के बीच पत्रकार को निशाना बनाया जाना आम घटना हो चली है।…

Read more

"छत्रपति सम्मान" वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश को

November 17, 2017

शहीद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति स्मृति समारोह 19 को

सिरसा/ हरियाणा के शहीद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की स्मृति में दिया जाने वाला ‘छत्रपति-सम्मान’ इस वर्ष देश के जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार और लेखक श्री उर्मिलेश को देने का फैसला हुआ है। हरियाणा के सिरसा में रामचंद्र छत्रपति शहादत दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित एक समारोह में 19 नवम्बर को यह सम्मान श्री उर्मिलेश को दिया जायेगा। उन्होंने इसके लिये अपनी सहमति भी दे द…

Read more

विश्वसनीयता का संकट पत्रकारिता की बड़ी चुनौती: मणिकांत ठाकुर

November 16, 2017

मुंगेर/  बिहार के प्रसिद्ध पत्रकार मणिकांत ठाकुर ने कहा कि मीडिया के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है कि उसकी विश्वशनीयता बनाये रखा जाय. विश्वसनीयता सिर्फ खबरों के संकलन में नहीं बल्कि उसे प्रस्तुत करने और विशलेषित करने की आवश्यकता है. वे आयुक्त कार्यालय के सभाकक्ष में  आयोजित राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर '' मीडिया के सामने चुनौतियां '' विषयक संगोष्ठी में बोल रहे थे. इस संगोष्ठी का उद‍्घाटन मुंगेर के प्रमंडलीय आयुक्त राजेश कुमार, जिलाधिकारी उदय कुमार सिंह, वरिष्ठ पत्रकार मणिकांत ठाकुर एवं अजय कु…

Read more

पीएम ने मीडियाकर्मियों को दी शुभकामनाएं

November 16, 2017

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने भी शुभकामनाएं दीं

नई दिल्ली/ राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने मीडिया कर्मियों को शुभकामनाएं दीं। पीएम ने बधाई देते हुए कहा स्वतंत्र प्रेस जीवंत लोकतंत्र की ‘‘आधारशिला’’ है और उनकी सरकार उसकी स्वतंत्रता…

Read more

‘काले कानून’ के विरोध में राजस्थान पत्रिका ने संपादकीय खाली छोड़ दिया

November 16, 2017

जयपुर/ राष्ट्रीय प्रेस दिवस (16 नवंबर) के मौके पर राजस्थान की वसंधुरा सरकार के ‘काले कानून’ पर अपना विरोध दर्ज कराते हुए राजस्थान पत्रिका अख़बार ने अपना संपादकीय खाली छोड़ दिया।

संपादकीय कॉलम को मोटे काले बॉर्डर स…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »