Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

सरकारी मीडिया द्वारा केंद्रीय योजनाओं को जन- जन तक पहुंचाने का काम सराहनीय: तारकिशोर प्रसाद

बिहार के उप मुख्यमंत्री से सूचना और प्रसारण मंत्रालय, पटना के अधिकारियों ने की शिष्टाचार मुलाकात…

Read more

सोशल मीडिया से --

मीडिया ने सच बताने का दायित्व बिल्कुल किनारे कर दिया है

गिरीश मालवीय। कल दैनिक भास्कर के बहुत से संस्करणों के फ्रंट पेज पर एक लेख छापा गया जिसका शीर्षक था  'अब आधार जैसा यूनिक हेल्थ कार्ड मिलेगा जिसमें आपका पूरा मेडिकल रिकार्ड होगा'........दरअसल इस लेख में जो भी जानकारी दी गयी वो लगभग साल भर पुरानी थी.…

Read more

View older posts »

छात्र कठिन परिस्थितियों में भी अपने लक्ष्य के प्रति प्रतिबद्ध हों: सी. पी. ठाकुर

कालेज आफ कामर्स के 72 वें स्थापना दिवस पर व्याख्यान का आयोजन

पटना/ पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ सी …

Read more

पूर्व राज्यसभा सांसद एवं पत्रकार चंदन मित्रा का निधन

नयी दिल्ली/ राज्यसभा के पूर्व सांसद, वरिष्ठ पत्रकार और द पायोनियर के प्रधान संपादक चंदन मित्रा नहीं रहे. चंदन मित्रा का गुरुवार सुबह निधन हो गया। श्री मित्रा 65 वर्ष के थे।…

Read more

View older posts »

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

दूरदर्शन: समाचार, संस्कार व संतुलन की पाठशाला

15 सितंबर दूरदर्शन दिवस पर विशेष

डॉ. पवन सिंह मलिक/ दूरदर्शन, इस एक शब्द के साथ न जाने कितने दिलों की धड़कन आज भी धड़कती है। आज भी दूरदर्शन के नाम से न जाने कितनी पुरानी खट्टी-मिट्ठी यादों का पिटारा हमारी आँखों के सामने आ जाता है। दूरदर्शन के आने के बाद न जाने कितनी पीढ़ियों ने इसके क्रमिक विकास को जहाँ देखा है वही अपने व्यक्तिगत जीवन में इसके द्वारा प्रसारित अनेकों कार्यक्रमों व उसके संदेशों का अनुभव भी किया है। दूरद…

Read more

'मीडियम' बदला है, 'मीडिया' नहीं : प्रो. शुक्ल

भारतीय जन संचार संस्थान में हिंदी पखवाड़े का शुभारंभ, 'भारतीय भाषाओं की पत्रकारिता का भविष्य' विषय पर वेबिनार का आयोजन

नई दिल्ली। ''कोरोना काल के दौरान भाषाई पत्रकारिता में एक नई सभ्यता का जन्म हुआ है। इस दौर में डिजिटल मीडिया क्षेत्रीय अखबारों का सबसे बड़ा सहयोगी बनकर सामने आया है। डि…

Read more

डबल्यूजेएसए को सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने किया निबंधित

वेब जर्नलिस्ट्स स्टैंडर्ड अथॉरिटी, डबल्यूजेएआई का एक हिस्सा 

पटना। वेब पत्रकार स्टैन्डर्ड अथॉरिटी (Web Journalist Standard Authority, डबल्यूजेएसए) को सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा मध्यवर्ती दिशा निर्देशों और डिजिटल मीडिया नैतिकता कोड 2021 के तहत पंजीकृत किया गया है। मंत्रालय ने इसकी सूचना…

Read more

पत्रकार कल्याण योजना की समीक्षा के लिए समिति गठित

सूचना और प्रसारण मंत्रालय की यह समिति योजना से संबंधित दिशा-निर्देशों की समीक्षा कर दो महीने में अपनी रिपोर्ट देगी

दिल्ली/ सूचना और प्रसारण मंत्रालय की पत्रकार कल्याण योजना के मौजूदा दिशा-निर्देशों की समीक्षा और उनमें उपयुक्त बदलावों की सिफारिशें करने के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने प्रसिद्ध …

Read more

सकारात्मक मीडिया से बनेगा नया भारत : प्रो. संजय द्विवेदी

जामिया मिल्लिया इस्लामिया द्वारा आयोजित 'हिंदी पखवाड़ा समारोह' में बोले आईआईएमसी के महानिदेशक

नई दिल्ली । ''मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और लोकतांत्रिक व्यवस्था में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। आजादी से पहले मीडिया समाज में चेतना जगाने का काम करता था। आज नए भारत के निर्माण में सकारात्मक मीडिया की आवश्यकता है।'' यह व…

Read more

पत्रकारिता शिक्षा में रिसर्च के लिए मोटीवेट करने की जरूरत: प्रो. सोनवलकर

‘मीडिया शिक्षा और पत्रकारिता में नई संभावनाएं और उभरते अवसर’ विषय पर वेबीनार आयोजित

महू (इंदौर)/ ‘पत्रकारिता शिक्षा में रिसर्च के लिए मोटीवेट करने की जरूरत है. पत्रकारिता समाज की समस्याओं को उठाने वाला सशक्त माध्यम है. पत्रकारिता की शुरूआत पाठ्यक्रम में भले ही 3-4सौ साल पुरानी लिखा गया है लेकिन अनादिकाल से पत्रकारिता का अस्तित्व है. अशोकका…

Read more

ओटीटी कंटेट की गुणवत्ता बनाए रखना डिजिटल मीडिया आचार संहिता का लक्ष्य : विक्रम सहाय

आईआईएमसी के विशेष व्याख्यान में बोले सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव

नई दिल्ली। ''डिजिटल मीडिया आचार संहिता 2021 के केंद्र में आम नागरिक हैं। आचार संहिता का उद्देश्य अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कायम रखते हुए ओटीटी (ओवर-द-टॉप) प्लेटफॉर्म पर प्रसारित होने वाली सामग्री की गुणवत्ता को बनाए रखना है।'' यह विचार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय …

Read more

याद किए जाएंगे उर्दू पत्रकार मौलवी बाकर अली

बिहार उर्दू मीडिया फोरम 16 सितंबर को उनकी शहादत दिवस मनायेगा

पटना/ इतिहास गवाह है कि पत्रकारिता ने दुनिया की बड़ी बड़ी क्रांत्रियों को जन्म दिया. कई शासकों का तख्ता पलट किया. जब देश में स्वतंत्रता आंदोलन चल रहा था उस वक्त भारतीय भाषाओं में उर्दू ही एकमात्र ऐसी थी जो देश के कोने-कोने में समझी और बोली जाती थी.…

Read more

रोबो जर्नलिज्म आज के मीडिया की हकीकत : शशि शेखर

भारतीय जन संचार संस्थान में स्थापना दिवस व्याख्यान का आयोजन

नई दिल्ली। ''रोबोट और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आज के मीडिया की हकीकत है। तकनीक ने अब मीडिया को पूरी तरह बदल दिया है। तकनीकी क्षमता आज पत्रकारों की महत्वपूर्ण योग्यता है।'' यह विचार हिन्दुस्तान समाचार पत्र के प्रधान संपादक श्री शशि शेखर ने मंगलवार को भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के 57वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयो…

Read more

आईआईएमसी में प्रवेश के लिए आवेदन की तिथि बढ़ी

अब 15 तक कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन, 29 अगस्त को होगी प्रवेश परीक्षा

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के शैक्षणिक सत्र 2021-22 में आठ पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त, 2021 तक बढ़ा दी गई है। इससे पूर्व अंतिम तिथि 9 अगस्त, 2021 थी। प्रवेश परीक्षा 29 अगस्त को आयोजित की जाएगी। परीक्षा परिणाम 10 सितंबर को घोषित किया …

Read more

आईआईएमसी देश का सर्वश्रेष्ठ मीडिया शिक्षण संस्थान!

‘द वीक-हंसा रिसर्च’ का सर्वे, इंडिया टुडे के 'बेस्ट कॉलेज सर्वे' और ‘आउटलुक-आइकेयर रैकिंग 2021’ में भी मिला था पहला स्थान

नई दिल्ली। देश की प्रतिष्ठित पत्रिका ‘द वीक’ और ‘हंसा रिसर्च’ के सर्वे में भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी), नई दिल्ली को पत्रकारिता एवं जनसंचार के क्षेत्र में देश…

Read more

न्यू इंडिया के लिए जरूरी है 'डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन' : प्रो. संजय द्विवेदी

आईआईएमसी के विद्यार्थियों द्वारा प्रकाशित पत्रिका 'द बैटन' का विमोचन

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान के विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के विद्यार्थियों द्वारा प्रकाशित पत्रिका 'द बैटन' का विमोचन शनिवार को संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने किया। कार्यक्रम में आईआईएमसी के अपर महानिदेशक के. सतीश नंबूदिरीपाड, डीन (अकादमिक) प्रो. गोविंद सिंह, डीन (छात्र कल…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »

आपकी उपस्थिती

4237019

बहस--

नामवर की मानसिकता और पिछड़ों के नामवर

कैलाश दहिया/ हिंदी साहित्य में आजकल एक चलन हो गया है, अगर कोई पुरस्कार लेना हो या नाम कमाना हो तो डॉ. धर्मवीर का विरोध करना शुरू कर दो। दलितों के साथ-साथ पिछड़ों में भी यह प्रथा पि…

Read more

View older posts »

पुरालेख--

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पत्रकारिता : एक नजर

वेब पत्रकारिता का चमकता भविष्य

अर्पण जैन "अविचल"/  सूचना और संचार क्रांति के दौर में आज प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के बीच वेब पत्रकारिता का चलन तेजी से बढ़ा है और अपनी पहचान बना ली है. अखबारों की तरह बेव पत्र और पत्रिकाओं का जाल, अंतरजाल पर पूरी तरह बिछ चुका है. छोटे-बड़े हर शहर से अमूमन बेव पत्रकारिता संचालित हो रही है. छोटे-बड़े सभी शहरों के प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया भी वेब पर हैं. इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में थोड़े ही समय मे…

Read more

View older posts »

राष्ट्रीय सुर्खियां--

Content