मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

राष्ट्रीय सुर्खियां--

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

लेखन को स्थायित्व और वैधता देती निजी वेबसाइट

डॉ. अर्पण जैन 'अविचल'/ इंटरनेट की इस दुनिया ने पाठकों की पहुँच और पठन की आदत दोनों ही बदल दी है, इसी के चलते प्रकाशन और लेखकों का नज़रिया भी बदलने लगा है। भारत में लगभग हर अच्छे-बुरे का आंकलन उसके सोशल मीडिया / इंटरनेट पर उपस्थिति के रिपोर्टकार्ड के चश्में से देखकर तय किया जा रहा हैं, संस्था, संस्थान, व्यक्ति, सरकार, कंपनी, साहित्यकर्मी से समाजकर्मी तक और नेता से अभिनेता तक को सोशल मीडिया में उसके वजन, प्रभाव और लोकप्रियता की कसौटी पर तौला जा रहा है। तो साहित्य और हि…

Read more

प्रेस की आज़ादी पर 300 अमरीकी अख़बारों के संपादकीय

क्या भारत के बड़े अख़बार छोटे अख़बारों के हक में ऐसे संपादकीय लिख सकते हैं?

रवीश कुमार/ अमरीकी प्रेस के इतिहास में एक शानदार घटना हुई है। 146 पुराने अख़बार बोस्टन ग्लोब के नेतृत्व में 300 अखबारों ने एक ही दिन अपने अखबार में प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर संपादकीय छापे हैं। आप बोस्टल ग्लोब की साइट पर जाकर प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर लिखे गए 300 संपादकीय का अध्य…

Read more

अब मीडिया सरकार के कामकाज पर नजर नहीं रखती, बल्कि सरकार मीडिया पर नजर रखती है

मॉनिटरिंग की कोई बात मॉनिटरिंग करने वाला बाहर न भेज दें, इस पर नज़र रखी जा रही है

पुण्य प्रसून वाजपेयी/ दिल्ली में सीबीआई हेडक्वार्टर के ठीक बगल में है सूचना भवन. सूचना भवन की 10वीं मंज़िल ही देश भर के न्यूज़ चैनलों पर सरकारी निगरानी का ग्राउंड ज़ीरो है. हर दिन 24 घंटे तमाम न्यूज़ चैनलों पर निगरानी रखने के लिए 200 लोगों की टीम लगी रह…

Read more

मयंक अग्रवाल बने डीडी न्यूज के नये डीजी

नई दिल्ली/ पीआईबी पटना के डायरेक्टर जनरल मयंक कुमार अग्रवाल को डीडी न्यूज का नया डायरेक्टर जनरल बनाया गया है। वे इरा जोशी का स्थान लेंगे। इरा जोशी अब ऑल इंडिया रेडियो के नई दिल्ली स्थित न्यूज सर्विस डिपार्टमेंट की डायरेक्टर जनरल होंगी ।…

Read more

एडिटर्स गिल्ड ने पत्रकारों को नौकरी से हटाने की निंदा की

नयी दिल्ली/ एडिटर्स गिल्ड ऑफ़ इंडिया ने पत्रकारों पर दवाब डालकर उन्हें नौकरी से हटाये जाने का आरोप लगाते हुए सरकार से मीडिया की आजादी सुनिश्चित करने के मांग की है।

गिल्ड ने बुधवार को जारी बयान में कहा है कि दो टी वी चैनलों के कुछ पत्रका…

Read more

राज्य की सामाजिक-सांस्कृतिक उपलब्धियां होंगी प्रकाशित

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के प्रकाशन विभाग द्वारा आयोजित लेखक सम्मेलन में इन्हें संकलित व प्रकाशित करने पर हुई चर्चा 

पटना/ प्रकाशन विभाग, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में आज लेखक सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह सम्मेलन कर्पूरी ठाकुर सदन स्…

Read more

आर एन आई की टीम ने प्रातः कमल का जायजा लिया

मुजफ्फरपुर / आज रजिस्ट्रार ऑफ़ न्यूज़पेपर्स फॉर इंडिया (आर एन आई ) की टीम ने पत्र सूचना कार्यालय (पी आई बी ) के नेतृत्व में प्रातः कमल अख़बार के कार्यालय पहुंच उसके प्रकाशन का जायजा लिया। खबर मिली है कि अखबार का दफ्तर बंद था और यहां टीम को  संपादक राहुल आनन्द भी नही मिला। उससे फोन पर बात भी नही हुई। हालाँकि राहुल आनन्द ने शाम 5 बजे टीम से मुलाकात करने की बात कही है ।…

Read more

मीडिया का बलात्कार

खबर को लिखने वाला पत्रकार खुद उस मानसिकता का शिकार नहीं?

प्रेमेन्द्र मिश्र/ ये है मिडिया का बलात्कार .. ये है गिरती पत्रकारिता ... एक महिला के बदन के लिए कितने गंदे शब्द इस्तेमाल किये गए हैं। यहाँ खबर लिखने में उस महिला के बदन के गदराए होने के जिक्र की क्या जरुरत थी? क्या सीधे तौर पर ये नहीं लिखा जा सकता था कि इस कांड की अभियुक्त लापता है ? क्या इस खबर को लिखने वाला पत्रका…

Read more

भयानक है यह चुप्पी !

मीडिया की नाक में नकेल डाले जाने का सिलसिला पिछले कुछ सालों से नियोजित रूप से चलता आ रहा है

क़मर वाहिद नक़वी। एबीपीन्यूज़ में पिछले 24 घंटों में जो कुछ हो गया, वह भयानक है. और उससे भी भयानक है वह चुप्पी जो फ़ेसबुक और ट्विटर पर छायी हुई है. भयानक है वह चुप्पी जो मीडिया संगठनों में छायी हुई है. …

Read more

पुण्य प्रसून वाजपेयी के मास्टर स्ट्रोक से डरी सरकार ?

मैनेजिंग एडिटर मिलिंद खांडेकर, पुण्य प्रसून वाजपेयी के बाद अभिसार शर्मा का भी इस्तीफा

पिछले कुछ दिनों से देश के प्रमुख समाचार चैनल ABP न्यूज में भारी उथल पुथल देखने को मिल रहा है। मोदी सरकार के आलोचक के रूप में चैनल में कार्यरत प्रमुख नामों को या तो इस्तीफा देने पर मजबूर किया जा रहा या उन्हें रिपोर्ट ना करने के लिए कहा जा रहा है। पहले एबीपी के चीफ मिलिं…

Read more

पीआईबी ने ब्रजेश ठाकुर को मीडियाकर्मियों की सूची से हटाया

मीडियामोरचा ब्यूरो / पटना/ पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने ब्रजेश ठाकुर को आज मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मियों की सूची से हटा दिया। पीआईबी ने ब्रजेश ठाकुर के कारनामों के मीडिया रिपोर्ट पर स्वत: संज्ञान लेते हुए उसे मीडियाकर्मियों की इस सूची से हटाया।…

Read more

ब्रजेश ठाकुर का ‘मीडिया कार्ड’ का खेल निराला

प्रेस कार्ड की और तस्वीरें भी देखिये नीचे ...

 

संजय कुमार/ पटना। मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म मामले में प्रातः कमल का नाम सामने आया है। इससे जुड़े मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के मीडिया मुगल के खेल का भी खुलासा हुआ है। ब्रजेश ठाकुर मीडिया में कई नामों से जाना जाता है, जो जालसाजी दर्शाता है। मीडिया में आयी खबर के अनुसार प्रातः कमल अखबार से जुड़े लोग ब्रजेश ठाकुर को मैनेजर बताते हैं तो वहीं इसी…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »