मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;147a4a2bd3a90cd9d6e6672a1d83d89da7951d59175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

राष्ट्रीय सुर्खियां--

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

टेलीविजन की मश्कें कसता इंटरनेट

एक सर्वे के अनुसार देश के आधे से ज्यादा दर्शक अब टीवी देखने से परहेज ही करते हैं

लिमटी खरे/ परिवर्तन प्रकृति का अटल सत्य है। कोई भी चीज स्थित नहीं है। हर चीज में परिवर्तन आता रहता है। चाहे मनुष्य के जन्म से लेकर उसकी अंतिम सांस तक के घटनाक्रम को देखें या जमीन में बीज डालने या पौधा रोपण के उपरांत साल दर साल उसमें आने वाले बदलाव को। हर मामले में परिवर्तन …

Read more

अभिमन्यु को सुरेन्द्र प्रताप सिंह पत्रकारिता पुरस्कार

पटना/ पटना पुस्तक मेला में बीबीसी दिल्ली के पत्रकार अभिमन्यु कुमार साहा को सुरेन्द्र प्रताप सिंह पत्रकारिता पुरस्कार दिया गया। सीआरडी पटना पुस्तक मेला की ओर से प्रत्येक वर्ष कई क्षेत्रों में पुरस्कार दिये जाते हैं।  मेला के अंतिम दिन कल पुरस्कार वितरण किया गया।  श्री साहा BBC News हिन्दी में ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट के तौर पर कार्य कर रहे हैं।…

Read more

सहिष्णुता मीडिया का गुण-धर्म

मनोज कुमार/ समाज में जब कभी सहिष्णुता की चर्चा चलेगी तो सहिष्णुता के मुद्दे पर मीडिया का मकबूल चेहरा ही नुमाया होगा. मीडिया का जन्म सहिष्णुता की गोद में हुआ और वह सहिष्णुता की घुट्टी पीकर पला-बढ़ा. शायद यही कारण है कि जब समाज के चार स्तंभों का जिक्र होता है तो मीडिया को एक स्तंभ माना गया है. समाज को इस बात का इल्म था कि यह एक ऐसा माध्यम है जो कभी असहिष्णु हो नहीं सकता. मीडिया की सहिष्णुता का परिचय आप को हर पल मिलेगा. एक व्यवस्था का मारा हो या व्यवस्था जिसके हाथों में हो, वह सबस…

Read more

समाचार माध्‍यम ‘फर्जी समाचारों’ के प्रति अधिक सावधानी बरतें : उपराष्ट्रपति

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर उन्होंने प्रदान किए 'उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार’

नई दिल्ली / राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर  उपराष्ट्रपति  श्री एम. वेंकैया नायडू ने कल  नई दिल्ली में 'उत्‍कृष्‍ट पत्रकारिता हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार-2019’’के विजेताओं को पुरस्‍कार प्रदान किये। भारतीय प्रेस परि…

Read more

जनोन्मुख और सर्वग्राह्य पत्रकारिता आज की जरूरत

मोतिहारी/ महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय, मोतिहारी  के मीडिया अध्ययन विभाग द्वारा 'पत्रकारिता में  विश्वसनीयता का संकट' विषय पर  संगोष्ठी का आयोजन किया गया । संगोष्ठी की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा एवं स्वागत वक्तव्य प्रति कुलपति प्रोफेसर अनिल कुमार राय ने दिया।  विशेषज्ञ वक्ता के रूप में वरिष्ठ पत्रकार ज्ञान वर्धन मिश्र एवं लव कुश कुमार मिश्र ने कार्यक्रम को संबोधित किया। विषय प्रवर्तन विभाग के अध्यक्ष प्रो. अरुण कुमार भगत ने किया। संगोष्ठी का…

Read more

प्रकृति और संस्कृति एक दूसरे के पर्याय : डॉ रामवचन राय

पत्रकार डॉ ध्रुव कुमार की पुस्तक " बौद्ध धर्म और पर्यावरण " पर चर्चा में जुटे लेखक , साहित्यकार व बुद्धिजीवी

पटना। साकिब जिया/ बिहार विधान परिषद सदस्य एवं प्रसिद्ध समालोचन डॉ रामवचन राय ने कहा है कि प्रकृति और संस्कृति एक दूसरे के पर्याय हैं , प्रकृति सुरक्षित रहेगी तभी प्राणियों की जिंदगी सुरक…

Read more

बाबा साहब आम्बेडकर की पत्रकारिता

‘दलित दस्तक’ नवम्बर की कवर स्टोरी है- बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आम्बेडकर की पत्रकारिता यानी ‘मूकनायक’

संजय कुमार / 31 जनवरी 2020 को बहुजन समाज अपने मसीहा बाबा साहब डॉक्टर भीमराव आम्बेडकर द्वारा प्रकाशित ‘मूकनायक’ समाचार पत्र की 100वीं वर्षगांठ मनाने जा रहा है. जनवरी 1920 में बाबा साहब ने ‘मूकनायक’ समाचार पत्र से अ…

Read more

पटना पुस्तक मेला 2019 में अंबेडकर और गांधी चर्चा में

हालांकि अंबेडकर की पुस्तकों को लेकर पाठकों के आकर्षण की मीडिया चर्चा नहीं करता

संजय कुमार / पटना पुस्तक मेला 2019 में गांधी और अंबेडकर चर्चे में हैं। वंचितों और अंबेडकर, सामाजिक क्रांति के पुरोधा ज्योति बा फूले, पेरियार आदि की किताबें खोज खोज कर पाठक खरीद रहे हैं। पाठक सबसे ज्यादा बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर पर किताब खोज रहे हैं। पटना पुस्तक मेला 20…

Read more

पटना पुस्तक मेला 8 नवंबर से

पटना के गांधी मैदान में आयोजन,  इस बार थीम  है -पेड़, पानी, जिंदगी

साक़िब ज़िया/पटना/ सेंटर फॉर रीडरशिप डेवलपमेंट, (सीआरडी) की ओर से पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में पटना पुस्तक मेला का आयोजन किया जा रहा है। आठ नवंबर से पटना पुस्तक मेले की शुरुआत होने जा रही है। 18 नवंबर तक चलनेवाले इस पुस्तक मेला में कुल 110 प्रकाशक आ रहे हैं। ये बातें मेला परिसर में बुधवार को आयो…

Read more

आईआईएस अधिकारी मीडिया समुदाय से पेशेवर नेटवर्क तैयार करें: राष्‍ट्रपति

भारतीय सूचना सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों से मुलाकात में राष्‍ट्रपति ने कहा, ताकि सूचना के प्रसार के साथ, गलत सूचना पर काबू पा सकें

नई दिल्ली/ भारतीय सूचना सेवा (2018 बैच) के प्रशिक्षु अधिकारियों के एक समूह ने 31 अक्‍टूबर, 2019 को राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से राष्…

Read more

वहां पहुंचेंगे, जहां हम कभी नहीं गए

पत्रकार अम्बरीश कुमार की नई पुस्तक “डाक बंगला”

सतीश जायसवाल/ यात्रा अनुभवों ने हमारे रचना साहित्य को अपनी अदेखी-अजानी दुनिया के अमूर्तन को साक्षात उपस्थितियों से भरा-पूरा किया है। वहां पहुंचाया, जहां हम कभी नहीं गए। उन लोगों के साथ मेल-मिलाप भी कराया जिनसे हम कभी नहीं मिले। और शायद ही कभी मिलना हो पाए ! यदि अभी ऐसा कुछ घटित हो ही जाए तो यह हमारा कितना सुखद विस्मय होगा कि पहले कभी जहां पहुंचे भी…

Read more

भारतीय बाजार से लुप्त हो जाएंगे अखबार ?

डिजिटल माध्यमों से मिल रही हैं प्रिंट मीडिया को गंभीर चुनौतियां

प्रो. संजय द्विवेदी/ दुनिया के तमाम प्रगतिशील देशों से सूचनाएं मिल रही हैं कि प्रिंट मीडिया पर संकट के बादल हैं। यहां तक कहा जा रहा है कि बहुत जल्द अखबार लुप्त हो जाएंगे। वर्ष 2008 में जे. गोमेज की किताब ‘प्रिंट इज डेड’ इसी अवधारणा पर बल देती है। इस किताब के बारे में लाइब्रेरी रिव्यू में एंटोनी…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »