मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts : "General"

ये सब नहीं बताया अख़बारों ने

February 2, 2018

रवीश कुमार/ भारत के किसानों ने आज हिन्दी के अख़बार खोले होंगे तो धोखा मिला होगा। जिन अखबारों के लिए वे मेहनत की कमाई का डेढ़ सौ रुपया हर महीने देते हैं, उनमें से कम ही ने बताने का साहस किया होगा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनसे झूठ बोला गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि रबी की फसल के द…

Read more

अफवाहों को सच जैसा दिखाते सोशल मीडिया

January 4, 2018

डॉ अबरार मुल्तानी/ ‘‘सच और झूठ में ज़्यादा फर्क नहीं है, बारबार बोला गया झूठ सच लगने लगता है’’ – एडोल्फ हिटलर. .. हिटलर का यह व…

Read more

एक वरदान है पुस्तक मेला

January 4, 2018

6 जनवरी से 14 जनवरी तक विश्व पुस्तक मेला

डॉ.सौरभ मालवीय/ देश की राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान में 6 जनवरी से 14 जनवरी तक विश्व पुस्तक मेला आयोजित किया जा रहा है। मेले का उद्घाटन मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश ज…

Read more

साहित्य प्रकाशन बनाम सोशल मीडिया का प्रभाव

January 1, 2018

डॉ.अर्पण जैन "अविचल’/ एक दौर था, जब साहित्य प्रकाशन के लिए रचनाकार प्रकाशकों के दर पर अपने सृजन के साथ जाते थे या फिर प्रकाशक प्रतिभाओं को ढूँढने के लिए हिन्दुस्तान की सड़के नापते थे, परंतु विगत एक दशक से भाषा की उन्नति और प्रतिभा की खोज का सरलीकरण सोशल मीडिया के माध्…

Read more

खबर पहले ब्रेक करने का इतना अधिक दबाव क्यों?

December 23, 2017

कर दिया लालू यादव को बरी

नीतीश चंद्रा/ आज सबक लेने का दिन है रिपोर्टर्स और संपादकों के लिए। रांची में चारा घोटाला मामले में लालू यादव के बरी हो जाने की गलत खबर जिस तरह से कई चैनलों पर चली वो हर कीमत पर खबर पहले ब्रेक करने की उसी होड़ का …

Read more

गूगल डूडल ने याद किया देश की प्रथम महिला फोटो पत्रकार को

December 9, 2017

होमई व्यारावाला का जन्म दिन आज

साकिब जिया/ भारत की प्रथम महिला फोटो पत्रकार होमई व्यारावाला का आज 104वां जन्मदिन है। देश की इस प्रथम महिला फोटो पत्रकार ने न सिर्फ 15 अगस्त 1947 में लाल किले पर ध्वजारोहण समारोह और लॉर्ड माउंटबेंटन…

Read more

राज्य प्रशासन में सोशल मीडिया का प्रयोग कहीं आगे, कहीं फिसड्डी

December 1, 2017

पारदर्शी प्रशासन के लिए सोशल मीडिया के उपयोग पर जोर दे सरकार

भुवन कुमार/पटना/  पिछले कुछ वर्षों में सोशल मीडिया न केवल भारत बल्कि वैश्विक स्तर पर गेम चेंजर की तरह काम किया ह…

Read more

पटना में पुस्तकों का महाकुंभ दो दिसंबर से

November 30, 2017

संजय कुमार/ साकिब जिया/ पटना। इस बार पटना पुस्तक मेला में सरकारी भागीदारी रहेगी। कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार सरकार एवं सेंटर फार रीडरशिप डेवलप मेंट (सीआरडी) द्वारा आयोजित ज्ञान एवं संस्कृति का महाकुंभ 24वाँ पटना पुस्तक मेला आगामी 02 से 11 दिसम्ब…

Read more

खबरो में कुछ बच नहीं रहा.. एक ही नायक.. एक ही खलनायक..

November 29, 2017

बिगड़ी तबियत.. चाय की चुस्की.... तो चाय की प्याली का तूफान कैसे थमे?

पुण्य प्रसून वाजपेयी/ हैलो....जी कहिये...सर तबियत बिगड़ी हुई है तो आज दफ्तर जाना हुआ नहीं...तो आ …

Read more

जानेमाने चित्रकार ,पत्रकार और लेखक चंचल को जेल भेज दिया

November 9, 2017

मामला बयालीस साल पुराना है

अंबरीश कुमार / देश के जानेमाने चित्रकार ,पत्रकार और लेखक चंचल को आज अंततः जौनपुर की अदालत ने जेल भेज दिया .मामला बयालीस साल पुराना है जब वे बनारस हिंदू विश्विद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष थे .अब साठ पार के …

Read more

पत्रकार के साथ दुर्व्‍यवहार के मामले ने तुल पकड़ा

October 27, 2017

पटना (बीवाईएन)। वरिष्‍ठ पत्रकार और खुसरूपुर निवासी संजय वर्मा के साथ स्‍थानीय थाना प्रभारी और सीओ द्वारा किया गया दुर्व्‍यवहार तुल पकड़ने लगा है। संजय वर्मा सत्ता के गलियारे में मजबूत पहुंच रखते हैं।  …

Read more

लोकसभा अध्यक्ष ने तीसरे प्रेस आयोग के गठन की संभावनाएं तलाशने का दिया आश्वासन

October 12, 2017

दिल्ली पत्रकार संघ की स्मारिका आत्मावलोकन का लोकार्पण

नयी दिल्ली/ मीडिया जगत में आए बदलावों एवं उनसे उत्पन्न चुनौतियों का समाधान खोजे जाने पर बल देते हुए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने …

Read more

ग्रामीण समुदाय की आवाज बना अल्फाज़-ए-मेवात सामुदायिक रेडियो

October 2, 2017

सोनिया चोपड़ा/ सामुदायिक रेडियो की अवधारणा आकाशवाणी की रेडियो सेवा को ध्यान में रखकर की गई थी. आकाशवाणी सरकारी तंत्र की सहायता से सूचनाओं का अदान-प्रदान करने के साथ-साथ गीत-संगीत, साक्षात्कार तथा परिचर्चाओं के जरिए जनता से रूबरू होता था और यही एकमात्र सूचना, संगीत और मनोरंजन …

Read more

बंद होने जा रहा है नेशनल दस्तक!

September 26, 2017

फिलहाल वहां काम ठप्प है और तमाम कर्मचारी नौकरी छोड़ चुके हैं

वेब चैनल नेशनल दस्तक बिकने जा रहा है या फिर बंद होने जा रहा है। इससे जुड़े रहने वाले कर्मचारियों के हवाले से खबर आई है कि रियल इस्टेट स…

Read more

भाषण, सेक्स और चैनल

September 24, 2017

हालात तो खुला खेल फर्रुखाबादी से आगे के हैं...

पुण्य प्रसून बाजपेयी/ दिन शुक्रवार। वक्त दोपहर के चार साढ़े चार का वक्त । प्रधानमंत्री बनारस में मंच पर विराजमान। स्वागत हो रहा है । शाल-दुशाला …

Read more

हत्यारों को कठघरे में कौन खड़ा करेगा?

September 8, 2017

पुण्य प्रसून बाजपेयी / तो गौरी लंकेश की हत्या हुई। लेकिन हत्या किसी ने नहीं की। यह ऐसा सिलसिला है, जिसमें या तो जिनकी हत्या हो गई उनसे सवाल पूछा जायेगा, उन्होंने जोखिम की जिन्दगी को ही चुना। या फिर हमें कत्ल की आदत होती जा रही है क्योंकि दाभोलकर, पंसारे, कलबुर्गी …

Read more

गौरी लंकेश का आख़िरी संपादकीय हिन्दी में

September 6, 2017

इस बार का संपादकीय फेक न्यूज़ पर था और उसका टाइटल था- फेक न्यूज़ के ज़माने में

रवीश कुमार/ गौरी लंकेश नाम है पत्रिका का। 16 पन्नों की यह पत्रिका हर हफ्ते निक…

Read more

पत्रकारों का बलिदान !

August 30, 2017

रिजवान चंचल / जोखिम उठाकर खबर देने वाले खबरनवीस पहले भी खबर बनते रहें हैं और आज भी खबर बन रहे हैं .किसी का पैर तोड़ दिया जा रहा है तो किसी के सिर में तलवार घोंप दी जा रही है, कहीं कैमरे तोड़ दिए जा रहें हैं तो कहीं ओबीवैन तक आग के हवाले कर दी जा रही हैं, गोली खाने वालों की फेहरिस…

Read more

पत्रकारिता में भी 'राष्ट्र सबसे पहले' जरूरी

August 5, 2017

लोकेन्द्र सिंह/ मौजूदा दौर में समाचार माध्यमों की वैचारिक धाराएं स्पष्ट दिखाई दे रही हैं। देश के इतिहास में यह पहली बार है, जब आम समाज यह बात कर रहा है कि फलां चैनल/अखबार कांग्रेस का है, वामपंथियों का है और फलां चैनल/अखबार भाजपा-आरएसएस की विचारधारा का है। समाचार माध्यमों को…

Read more

क़तरनों में छिपी अर्थव्यवस्था की गिरावट की ख़बरें

August 3, 2017

रवीश कुमार/ बिजनेस अख़बारों में एक चीज़ नोटिस कर रहा हूं। अर्थव्यवस्था में गिरावट की ख़बरें अब भीतर के पन्नों पर होती हैं। कोर सेक्टर में आई गिरावट की ख़बर पहने पन्ने पर छपा करती थी लेकिन इसे भीतर सामान्य ख़बर के तौर पर छापा गया था।…

Read more

20 blog posts