मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

पटना पुस्तक मेला हुआ समाप्त

पत्रकारिता के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए 'सुरेन्द्र प्रताप सिंह स्मृति पुरस्कार' सहित विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन के लिए कई हुए सम्मानित 

साकिब ज़िया/ पटना/ किताबों के महाकुंभ का सोमवार को समापन हो गया। कला, संस्कृति एवं युवा विभाग और सीआरडी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित दस दिवसीय पटना पुस्तक मेला के अंतिम दिन मुख्य मंच पर विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए लोगों को पुरस्कृत भी किया गया। पत्रकारिता के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए दैनिक जागरण की चारुस्मिता को इस साल के 'सुरेन्द्र प्रताप सिंह स्मृति पुरस्कार' से अलंकृत किया गया। 

वहीं प्रदेश के जाने-माने कॉर्डियोलोजिस्ट डॉ. अजीत प्रधान को संस्कृति को बेहतर बनाने की दिशा में उनके अभिनव और विशिष्ट योगदान के लिए इस वर्ष का 'बिहार भारती सम्मान' से नवाजा गया। इस वर्ष का 'विद्यापति पुरस्कार'  नवजवान कवियत्री अनुभूति को दिया गया। लेखन के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान और बिहार की पहचान को सशक्त करने के लिए उन्हें यह सम्मान प्रदान किया गया। वहीं 'यक्षिणी पुरस्कार' से मुरारी झा को सम्मानित किया गया। पेंटिंग के क्षेत्र में खास योगदान देने और प्रदेश का नाम रौशन करने की सफल कोशिश के कारण यह पुरस्कार दिया गया। जबकि वर्ष 2017 के लिए 'भिखारी ठाकुर पुरस्कार' कुमार रविकांत को दिया गया। रंगमंच में विशिष्ट योगदान देकर प्रदेश का नाम रौशन करने के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

पुरस्कार वितरण पटना प्रमंडल के आयुक्त आनंद किशोर और डॉ.पूर्णिमा शेखर सिंह ने संयुक्त रूप से किया। मौके पर आनंद किशोर ने कहा कि इस पुस्तक मेला का एक इतिहास रहा है इसकी पहचान पूरे देश में है। उन्होंने कहा कि बिहार में पठन-पाठन की परंपरा काफी पुरानी है यही कारण है कि यहां के लोगों को किताबों से काफी लगाव है। वहीं डॉ.पूर्णिमा ने कहा कि इस पुस्तक मेला का कोई विकल्प नहीं है उन्होंने राज्य सरकार की ओर से दिए गए संरक्षण की सराहना करते हुए इस वर्ष की थीम 'लड़की को सामर्थ्य दो, दुनिया बदलेगी' की बहुत तारीफ की। उन्होंने बेहतर समाज के निर्माण के लिए नारी सशक्तिकरण पर विशेष बल दिया। 

कार्यक्रम के अंत में डेनियल रॉड्रिग्ज और उनके सहयोगियों की ओर से 'ओ री चिड़िया और मुझे क्या बेचेगा रुपैया'  गीत प्रस्तुत किया गया जिसका लोगों ने खूब आनंद उठाया। 

इस अवसर पर विनोद अनुपम ने मंच का संचालन किया। कार्यक्रम में पुस्तक मेला के संस्थापक नरेंद्र कुमार झा, सीआरडी के अध्यक्ष रत्नेशवर,सचिव अमरेन्द्र झा सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे। 

साकिब ज़िया मीडियामोरचा के ब्यूरो प्रमुख हैं।

Go Back

Comment