Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

राज्यपाल का विशेष व्याख्यान माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर कल

हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर ‘शिक्षा, पत्रकारिता और जीवनमूल्य’ विषय पर संबोधित करेंगे राज्यपाल, पत्रकारिता सप्ताह 30 मई से 6 जून, 2020 तक के अंतर्गत सात दिन-सात व्याख्यान

भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ओर से हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में 30 मई से 6 जून तक ‘हिंदी पत्रकारिता सप्ताह’ का आयोजन किया जा रहा है। इसका शुभारम्भ 30 मई, शनिवार को अपराह्न 3:00 बजे माननीय राज्यपाल श्री लालजी टंडन करेंगे। विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर 3:00 बजे से माननीय राज्यपाल के विशेष व्याख्यान का लाइव प्रसारण किया जाएगा। राज्यपाल महोदय ‘शिक्षा, पत्रकारिता और जीवनमूल्य’ विषय पर अपना संबोधन देंगे।

कुलसचिव प्रो. अविनाश वाजपेयी ने बताया कि पत्रकारिता सप्ताह के अंतर्गत माननीय राज्यपाल महोदय के संबोधन के बाद अगले दिन से सात दिन तक सात महत्वपूर्ण व्याख्यान कराए जाएंगे। सभी व्याख्यान विश्वविद्यालय के फेसबुक पेज पर प्रतिदिन 4:00 बजे से लाइव होंगे। 31 मई को ‘वेब मीडिया में उद्यमिता’ विषय पर वरिष्ठ पत्रकार श्री जयदीप कार्णिक (दिल्ली), 1 जून को ‘भरतमुनि के नाट्यशास्त्र में संचार के सूत्र’ विषय पर काठमाण्डू विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. निर्मल मणि अधिकारी (नेपाल), 2 जून को ‘सृजनात्मक लेखन’ पर प्रख्यात उपन्यासकार सुश्री प्रियंका ओम (तंजानिया), 3 जून को ‘वैश्विक आतंकवाद और मीडिया’ विषय पर प्रख्यात क्राइम रिपोर्टर एवं लेखक श्री विवेक अग्रवाल (मुंबई), 4 जून को ‘बदलती दुनिया में रेडियो’ विषय पर बीबीसी मीडिया एक्शन की पत्रकार सुश्री शेफाली चतुर्वेदी, 5 जून को ‘आत्मनिर्भर भारत’ विषय पर इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, मोहाली के प्रो. सिद्धार्थ शेखर सिंह और 6 जून को ‘कोविड-19 की चुनौतियां और मीडिया’ विषय पर रिलायंस कम्युनिकेशंस के प्रेसिडेंट एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री उमेश उपाध्याय के व्याख्यान होंगे।

विश्वविद्यालय फेसबुक पेज का लिंक – https://www.facebook.com/mcnujc91

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना