मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

'हिन्दी चेतना' का जुलाई-सितम्ब​र 2014 अंक अब उपलब्‍ध

July 4, 2014

कैनेडा से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका 'हिन्‍दी चेतना' काजुलाई-सितम्‍बर 2014 अंक अब उपलब्‍ध है। इसमें हैं डॉ. मारिया नेज्‍येशी कासाक्षात्कार, रीता कश्‍यप, रजनी गुप्‍त, आस्‍था नवल, नीरा त्‍यागीकी कहानियाँ, कहानी भीतर कहानी- सुशील सिद्धार्थ, विश्व के आँचल से- साधना अग्रवाल, पहलौठीकिरण में शैली गिल की पहली कहानी, शशि पाधाका संस्‍मरण, सौरभपाण्‍डेयकी ग़ज़लें, शशि पुरवार, रश्मि प्रभा, सरस दरबारी, रचनाश्रीवास्‍तव , ज्‍योत्‍स्‍ना प्रदीप, सविता अग्रवाल 'सवि' की कविताओं के अतिरिक्त सतीश राज पुष्‍करणा , उर्मिला अग्रवाल, हरकीरत हीर के हाइकु, कमलानाथ का व्यंग्य, बालकृष्‍ण गुप्‍ता गुरू, मनोज सेवलकर , मधुदीप तथा डॉ पूरन सिंह की लघुकथाएँ।

भाषांतर अमृत मेहता, ओरियानी के नीचे रेनु यादव, साथ में पुस्तक समीक्षा- देवी नागरानी (डॉ. कमलकिशोर गोयनका की प्रेमचंद पर पुस्‍तक) , रघुवीर (सन्‍तोष श्रीवास्‍तव का यात्रा संस्‍मरण) नलिनीकान्त (सुधा गुप्‍ता के हाइकु संग्रह ), पंकज सुबीर ( गीताश्री का कहानी संग्रह), दृष्टिकोण- सिराजोदीन, नव अंकुर- अदिति मजूमदार , साहित्यिक समाचार, चित्रकाव्यशाला, विलोम चित्र काव्यशाला, अविस्‍मरणीय, आख़िरी पन्ना और भी बहुत कुछ।

यह अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है, पढ़ने के लिये नीचे दिये गये लिंक पर जाएँ। ऑन लाइन पढ़ने के लिए क्लिक करें - 

http://issuu.com/hindichetna/docs/colour_hindi_chetna_july_september_

http://www.slideshare.net/hindichetna/colour-hindi-chetna-july-september-2014

 

Go Back

Comment