मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

10वें अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन के अवसर पर‘समागम’ का विशेष अंक जारी होगा

अतिथि सम्पादक होंगे सुपरिचित साहित्यकार डॉ. उर्मिला शिरीष

विशेष अंक के लिये आलेख, शोध पत्र, विचार एवं सुझाव 10 अगस्त 2015 तक आमंत्रित हैं

भोपाल। 10वें अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी सम्मेलन की मेजबानी का गौरव झीलों की नगरी भोपाल को मिला है। इस विशेष अवसर पर शोध पत्रिका ‘समागम’  सुपरिचित साहित्यकार डॉ. उर्मिला शिरीष के सम्पादन में विशेष अंक का प्रकाशन करेगी। 

विदेश मंत्रालय का यह आयोजन सितम्बर 2015 में होना तय है। भोपाल का यह आयोजन विश्व मंच पर हिन्दी को मान्यता दिलाने में मील का पत्थर साबित हो, यह हिन्दी प्रेमियों की कोशिश होगी। शोध पत्रिका ‘समागम’ का हिन्दी पर केन्द्रित विशेष अंक के लिये आलेख, शोध पत्र, विचार एवं सुझाव 10 अगस्त 2015 तक आमंत्रित हैं। यह जानकारी शोध पत्रिका के सम्पादक वरिष्ठ पत्रकार मनोज कुमार ने एक विज्ञप्ति में दी।

उल्लेखनीय है कि विगत 15 वर्षों से निरंतर प्रकाशित शोध पत्रिका ‘समागम’ का हर अंक विशेषांक होता है. शोध पत्रिका का मई 2015 का अंक हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर विशेष अंक के रूप में प्रकाशित किया गया है. पत्रकारों के लिये वेतन आयोग एवं सिफारिशों को लागू करने की विसंगतियों पर विशेष सामग्री का संयोजन किया गया है। जून-2015 का अंक नेट न्यूट्रेलिटी पर होगा.

Go Back

संपादक मनोज कुमार जी से उनके मेल ID- k.manojnews@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है।

samgam ka email id ...



Comment