मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

दूरदर्शन को मिले 9 डीएसएनजी वैन

कर्नल राज्यवर्धन राठौर (सेवानिवृत्त) ने डीएसएनजी वाहनों को रवाना किया

नई दिल्ली/ केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और खेल एवं युवा मामलों के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्यवर्धन राठौर (सेवानिवृत्त) ने कल यहां दूरदर्शन के 9 डीएसएनजी वाहनों को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर सूचना एवं प्रसारण सचिव श्री अमित खरे, दूरदर्शन की महानिदेशक श्रीमती सुप्रिया साहू और मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

इस अवसर पर कर्नल राज्यवर्धन राठौर (सेवानिवृत्त) ने कहा कि उनकी सरकार का जोर एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर है और इस दिशा में पूर्वोत्तर क्षेत्र में कई विकास कार्य चलाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र में अधिक डीएसएनजी वाहनों के काम पर लगाए जाने से पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास से जुड़ी कहानियों को लोगों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।

दूरदर्शन से सीधा प्रसारण की क्षमता बढ़ाने के लिए इसमें 9 नए सी-बैंड डीएसएनजी वाहन शामिल किए गए जो एचडी सिग्नल जोड़ने में सक्षम हैं। इन वाहनों की वैश्विक निविदा के जरिए खरीद पर 22.83 करोड़ रुपये (2.54 करोड़ रुपये प्रति वाहन) की लागत आई।

इन डीएसएनजी ईकाइयों की मदद से दूरदर्शन की पूर्वोत्तर से सीधा प्रसारण करने की क्षमती बढ़ जाएगी क्योंकि 4 डीएसएनजी गंगटोक, कोहिमा, इम्फाल और अगरतला में तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा नई डीएसएनजी ईकाइयां इलाहाबाद, विशाखापट्टनम, चंडीगढ़, जगदलपुर और पुणे में लगाई जाएंगी।

दूरदर्शन के पास अभी 34 डीएसएनजी ईकाइयां हैं जो देशभर में तैनात की गई हैं। इनमें से 16 ईकाइयां सी-बैंड पर काम करती हैं और 18 ईकाइयां कू-बैंड पर काम करती हैं। हालांकि इन 34 डीएसएनजी ईकाइयों में 2 ही एचडी सिग्नल को अपलिंक कर पाती हैं।

Go Back

Comment