मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून जरुरी: विजय कुमार चौधरी

आईएफडब्ल्यूजे का 128वां राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित  

मनीष कुमार/ पटना। देश के चौथे स्तंभ ने हर मुश्किल समय में दिशा प्रदान करते हुए अपना कार्य बखूबी निभाया है और पत्रकार देश के चौथे स्तंभ में सबसे मजबूत स्तंभ है। बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने आज यहाँ भारतीय नृत्यकला मंदिर में आयोजित आईएफडब्ल्यूजे के 128वें राष्ट्रीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में देशभर से आए पत्रकारों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। साथ ही कहा कि बिहार में पत्रकारों के ऊपर हो रहे हमले को लेकर बिहार सरकार गंभीर है। उन्होंने कहा कि अगर समय रहते पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं की गई तो उनकी लेखनी में सत्यता खत्म हो जाएगी। इसलिए पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनना जरुरी है। मीडिया को "फ्री एंड फेयर" होना चाहिए। फ्रीडम तो संविधान से मिला हुआ है। हां पर कभी-कभी सरकार के द्वारा उसे प्रभावित करने की कोशिश की जाती है। निष्पक्ष होने के लिए मडिया को सरकार से और बड़े बड़े घराने जिन्होंने मीडिया हाउस खरीद रखे हैं उन से प्रभावित होने की जरूरत नहीं है और निष्पक्ष तरीके से सूचनाओं को आम जन तक पहुंचाने की जरूरत है।

इसके पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन साथ में मौजूद जदयू के एमएलसी रणवीर नंदन, आईएफडब्ल्यूजे के राष्ट्रीय अध्यक्ष कामरेड के. विक्रम राव, कांग्रेस के प्रदेश सचिव मंटू शर्मा व वरिष्ट कथाकार ममता मल्होत्रा ने दीप प्रज्वलित कर किया।

अधिवेशन में आईएफडब्ल्यूजे के राष्ट्रीय अध्यक्ष के. विक्रम राव ने कहा कि बदलते परिवेश में पत्रकारों के चरित्र निर्माण के लिए अपना मूल्यांकन करने की बहुत आवश्यकता है।

कार्यक्रम में आईएफडब्ल्यूजे के बिहार के महासचिव सुधीर मधुकर ने सरकार को अपने संगठन के माध्यम से बताया कि पत्रकारों पर आए दिन हो रहे हमले से पत्रकार स्वतंत्रता पूर्वक कार्य नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने बिहार और भारत सरकार से कड़ा कानून बनाने का अनुरोध किया ताकि  पत्रकारों पर होने वाले हमलों को रोका जा सके। वही ग्रामीण तबके के पत्रकारों की स्थिति काफी दयनीय है जिस पर सरकार व मीडिया जगत में शामिल लोगों को उन पर ध्यान आकर्षित करने की जरूरत है।

इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स (IFWJ) के राष्ट्रीय सचिव मोहन कुमार ने कहा कि संगठन पत्रकारों को कन्याकुमारी से कश्मीर तक जोड़ने के लिए काम कर रहा है ।

कार्यक्रम में आईएफडब्ल्यूजे बिहार के पूर्व महासचिव स्वर्गीय डॉ. देवाशीष बोस के तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई और उनके उत्कृष्ट कार्यो को याद किया गया। इस अवसर पर बिहार संगठन के अध्यक्ष शशी भूषण प्रसाद, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आर पी यादव, उपाध्यक्ष प्रदीप उपाध्याय, उपाध्यक्ष मुकेश महान, सचिव प्रभाष चंद्र शर्मा, चैतन्य भारद्वाज, वीणा बेनीपुरी, चंद्रशेखर, विशाल सिन्हा, नवीन, रंजन सिन्हा, सुदीप सोनी,   सारिका मौजूद थी।

कार्यक्रम का शुभारंभ गायिका सरोज तिवारी ने सरस्वती वंदना से की थी। कार्यक्रम का संचालन शोभा चक्रवर्ती ने किया।

Go Back

Comment